Connect with us

दुनिया

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने ड्रैगन को घेरा, कहा -चीन से आया है कोरोना

Published

on

वाशिंगटन। जैसे-जैसे चुनाव नज़दीक आ रहा है. अमेरिका में सत्ता गरम होती जा रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प एक बार फिर चीन को घेरने की बात को दोहराया है. उन्होंने की कोरोना वायरस चीन से आया है. अगर मै फिर से सत्ता में आता हूँ तो चीन के साथ अमेरिकी रिश्तों पर विराम लगाएंगे। साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि बीजिंग के साथ कोरोना वायरस के बाद पहले जैसे संबंध मायने नहीं रखते हैं।

तीन नवंबर को होगी पद का राष्ट्रपति चुनाव 

तीन नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए ट्रंप न्यूपोर्ट वर्जीनिया में एक चुनावी रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान ट्रंप ने कहा, अमेरिकी अर्थव्यवस्था बहुत अच्छा कर रही थी, फिर हम पर चीन से आए इस वायरस का हमला हो गया। उन्होंने कहा, उन्हें ऐसा कभी नहीं होने देना चाहिए था। हम इसे नहीं भूलेंगे। हमने देश को लगभग बंद किया, हमने लाखों लोगों की जान बचाई। अब हमने रिकॉर्ड के साथ देश को खोल दिया है। अमेरिका वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश है। 2,00,000 से अधिक अमेरिकियों की वायरस से चलते मौत हुई है और देश की अर्थव्यवस्था को बुरी तरह प्रभावित हुई है, जिससे लाखों नौकरियों का नुकसान हुआ है।

सत्ता मिली तो अमेरिका को बना दूंगा दुनिया की विनिर्माण महाशक्ति 

ट्रंप ने कहा कि अगर मुझे अगले चार साल और मिलते हैं, तो मैं अमेरिका को दुनिया की विनिर्माण महाशक्ति बना दूंगा। हम सभी के लिए चीन पर अपनी निर्भरता को समाप्त कर देंगे। ट्रंप के चीन के साथ व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर करने के तुरंत बाद ही कोरोना का प्रकोप शुरू हुआ। इस समझौते पर हस्ताक्षर के लिए अमेरिका और चीन के बीच लगभग एक साल तक बातचीत चली। अमेरिका और चीन ने साल की शुरुआत में व्यापार सौदे के फेस-1 पर हस्ताक्षर किए। इस हस्ताक्षर के बाद दो साल से चला आ रहा टैरिफ युद्ध खत्म हो गया। इसके चलते दुनियाभर की अर्थव्यवस्था खासा प्रभावित हुई थी।

Trending