Connect with us

दुनिया

इमरजेंसी लगाने की तैयारी में है अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प, किसी भी क्षण कर सकते हैं ऐलान

Published

on

वाशिंगटन। अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने को लेकर अमेरिका में काफी उठक-पठक मचा हुआ है। इसी को लेकर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प एक कड़ा फैसला ले सकते हैं। गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार निर्माण के लिए किसी भी क्षण राष्ट्रीय आपात स्थिति की घोषणा कर सकते हैं। ट्रम्प ने कहा है कि उनके पास राष्ट्रीय आपात स्थिति की घोषणा करने के पर्याप्त अधिकार हैं। राष्ट्रपति के इस कथन पर अमेरिकी मीडिया में दिन भर ‘राष्ट्रपति के अधिकारों’ को लेकर चर्चा चल ही रही थी। उधर, गुरुवार की दोपहर व्हाइट हाउस में कुछ और ही खिचड़ी पाक रही थी।

राष्ट्रपति अपने निर्णय पर अडिग

व्हाइट हाउस में दीवार निर्माण के विभिन्न विकल्पों में पुएर्टो रिको, फ़्लोरिडा, टेक्सास और कैलिफ़ोर्निया में आपात स्थिति सहायता राशि कोष से दीवार बनाए जाने पर विचार हो रहा था। दूसरे विकल्प में पेंटागन की उस राशि का इस्तेमाल किए जाने पर विचार हो रहा था, जो कांग्रेस से तो अनुमति प्राप्त थी, पर अभी तक खर्च नहीं हुई थी। उधर, उपराष्ट्रपति माइक पेंस कैपिटल हिल में पत्रकारों से घिरे हुए थे। उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति अपने निर्णय पर अडिग हैं। वह किसी भी क्षण आपात स्थिति की घोषणा कर सकते हैं।

विकल्पों पर विचार करना शुरू

राजनीतिक विश्लेषकों का कथन है कि राष्ट्रपति और डेमोक्रेट नेताओं के बीच बातचीत से मौजूदा गतिरोध शांत हो सकता है। ऐसा होने से प्रशासनिक कामकाज फिर से शुरू हो सकेगा और दोनों ही पक्ष अपनी हेठी होने से बच जाएंगे। हालांकि इस निर्णय के दूरगामी परिणाम होंगे और यह अमेरिकी इतिहास में एक अनहोनी परम्परा को जन्म देगी। उधर पेंटागन ने देश की दक्षिणी सीमा पर अवरोध खड़े किए जाने सभी संभावित विकल्पों पर विचार करना शुरू कर दिया है।

मेकलेन टेक्सास सीमा पर दौरे पर आए थे ले. जनरल टॉड सेमोनिटे

इस संदर्भ में रक्षा विभाग ने उन सभी विभागों के अधिकारियों से बातचीत और मौजूदा फ़ंड को खंगालना शुरू कर दिया है। इसके बावजूद पेंटागन के प्रवक्ता अभी कोई टिप्पणी नहीं कर पा रहे हैं। उनका कहना है कि जब तक आपात स्थिति घोषित नहीं हो जाती, कुछ भी कहना गलत होगा। सूत्रों का कहना है कि ट्रम्प आपात स्थित घोषित करते हैं तो आर्मी कोर इंजीनियर्स के सामने अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर अवरोध खड़े करने के लिए डिजाइन तैयार करने और ठेकेदारों के जरिये दीवार निर्माण की सभी व्यवस्था को अंजाम देना होगा।

ले. जनरल टॉड सेमोनिटे गुरुवार को राष्ट्रपति के साथ थे| वह मेकलेन टेक्सास सीमा पर दौरे पर आए थे। विदित हो कि बुधवार को ट्रम्प और डेमोक्रेट नेताओं के बीच दीवार निर्माण के मुद्दे पर बातचीत अधर में लटक गई थी। उन्होंने कहा कि पेंटागन के पास पर्याप्त फंड हैं। https://www.kanvkanv.com

दुनिया

डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस की दूसरी पारी के लिए औरलैंडो में बजाया बिगुल, बनाई ये रणनीति

Published

on

लॉस-एंजेल्स। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने औरलैंडो (फ़्लोरिडा) में अपने चाहने वालों और रिपब्लिकन मतदाताओं से भरे एक स्टेडियम में व्हाइट हाउस की दूसरी पारी के लिए विधिवत चुनावी बिगुल बजा दिया। अमेरिकी संविधान के तहत मौजूदा राष्ट्रपति को अपनी दूसरी पारी के लिए चुनाव मैदान में उतरने के अधिकार प्राप्त है।

लाखों आव्रजकों को देश से बाहर निकालना है

उन्होंने बीस हजार उत्साहित दर्शकों की मौजूदगी में कहा कि उनकी दूसरी पारी के एजेंडे में पहली प्राथमिकता अमेरिका में अवैध रूप से बसे लाखों आव्रजकों को देश से बाहर निकालना है। ट्रंप ने आगे कहा कि इमीग्रेशन कस्टम प्रवर्तन निदेशालय (आईसीई) को अभी से अपने काम में जुटना होगा। हालांकि आईसीई के कार्यवाहक निदेशक मार्क मोगन ने फंड की कमी, सीमा पर आव्रजन शिविरों में बिस्तरों की कमी और स्टाफ की कमी की ओर ध्यान आकृष्ट किया है।

अवैध आव्रजन को बनाया था अपने चुनाव अभियान का मुख्य मुद्दा

पियु रिसर्च के अनुसार अमेरिका में दस लाख अस्सी हजार अवैध आव्रजक हैं, जिन्हें देश से बाहर किए जाने के लिए समय-समय पर प्रयास किए गए हैं। इनमें से करीब चार लाख अवैध आव्रजक पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में निकाले गए थे। विदित हो कि ट्रम्प ने सन 2016  के राष्ट्रपति चुनाव में भी अवैध आव्रजन को अपने चुनाव अभियान का मुख्य मुद्दा बनाया था। इसके लिए मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाए जाने और अपेक्षित फंड के लिए दो बार फेडरल सरकार के कामकाज को ठप किया था। इस मुद्दे पर कांग्रेस की डेमोक्रेट बहुल प्रतिनिधि सभा आपत्ति जताती रही है और धन की मंजूरी देने कतराती रही है।।

ट्रम्प समर्थकों ने दावा

ट्रम्प ने पिछले राष्ट्रपति चुनाव 2016 में फ्लोरिडा में एतिहासिक जीत हासिल कर डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलरी क्लिंटन को परास्त किया था। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा भी राष्ट्रपति के दोनों चुनावों में इस बड़े राज्य से विजयी हुए थे। इतना ही नहीं रिपब्लिकन राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश ने भी फ्लोरिडा में जीत हासिल की थी। इस बीच ट्रम्प समर्थकों ने दावा किया है कि वह 17 राज्यों में बढ़त बनाए हुए हैं।  राष्ट्रपति ट्रम्प के विरुद्ध डेमोक्रेटिक पार्टी के अधिकृत उम्मीदवारी के लिए बीस संभावित प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें पूर्व उप राष्ट्रपति और मध्य मार्गी जोई बिडेन, समाजवादी बर्नी सैंडर्स, मैसाचुएट्स से हारवर्ड प्रोफेसर वारेन एलिज़ाबेथ, युवा और तेज़ तर्रार मेयर बूटिगेग तथा भारतीय मूल की कमला हैरिस मैदान में हैं।

26-27 जून को मियामी में हो रही है पहली बहस

संभावित डेमोक्रेट उम्मीदवारों को अपनी अधिकृत उम्मीदवारी के लिए डेमोक्रेट मतदाताओं के बीच घरेलू, विदेश और रक्षा नीति आदि पर अपनी श्रेष्ठता दिखानी होगी। इसके लिए पहली बहस 26-27 जून को मियामी में हो रही है। लेकिन न्यू कवीनपियाक यूनिवर्सिटी के एक सर्वे की मानें तो जोई बिडेन आज की तिथि में ट्रम्प की तुलना में नौ प्रतिशत अधिक अंकों के साथ आगे चल रहे हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

दुनिया

तेल टैकरों पर हमले से तनाव, मिड ईस्ट में एक हजार सैनिक भेजेगा अमेरिका

Published

on

लॉस एंजेल्स। अमेरिका और ईरान के बीच मौजूदा तनाव ख़त्म होने का नाम नहीं ले रहा है। पेंटागन ने सोमवार को मिड ईस्ट में एक हज़ार अमेरिकी सैनिक भेजने की घोषणा की है। अमेरिकी सेंट्रल कमान की ओर से ओमान सागर में तेल टैकरों पर हुए हमले में ईरान का हाथ होने की आशंका को लेकर पेंटागन ने यह निर्णय लिया है।

कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शहनान ने सोमवार को कहा कि यह निर्णय क्षेत्र में वायु, नौसेना और भूमिगत सुरक्षा के मद्देनजर लिया गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें ईरान से किसी ख़तरे की आशंका नहीं है लेकिन अपने हितो की सुरक्षा के लिए सैनिक भेजे हैं।

नहीं लगेगा यूरेनियम भंडार पर अंकुश

उधर ईरान ने मंगलवार को कहा कि वह अपने यूरेनियम भंडार में वृद्धि करेगा। ईरान ने सन् 2015 में अमेरिका और पांच राष्ट्रों से यूरेनियम संवर्धन पर एक समझौता किया था। उस समय ईरान ने आश्वस्त किया था कि वह यूरेनियम संवर्धन नहीं करेगा। साथ ही उसने यह भी विश्वास दिलाया था कि वह 660 पौंड यूरेनियम से अधिक भंडारण नहीं करेगा। यह सीमा अगले गुरुवार को पूरी हो जाएगी। यह घोषणा ख़ुद ईरान आणविक ऊर्जा एजेंसी के प्रवक्ता बहरूज कमालवांडी ने की।  https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

दुनिया

इस राज्य में बना कानून, बलात्कार करने वाले को लगा दिए जाएंगे नपुंसक बनाने के इंजेक्शन

Published

on

अलबामा। अमेरिका के अलबामा राज्य में एक ऐसा कानून लागू किया गया है जिसके तहत बलात्कार के दोषियों को इंजेक्शन लगाकर नपुंसक बनाया जाएगा। यह जानकारी सोमवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।

रिपोर्ट के मुताबिक, यह कानून राजनेताओं और प्रशासन की सहमति से बनाया गया है। इस कानून के तहत किसी शख्स पर 13 साल की कम उम्र की लड़की से बलात्कार का आरोप सिद्ध होने पर उसे नपुंसक बनाने वाला इंजेक्‍शन दिया जा सकता है या फिर ऐसी दवाएं भी पिलाई जा सकती हैं, जिससे वह नपुंसक बन जाए।

पैरोल पर जाना है तब भी लगाया जाएगा इंजेक्शन

इस इंजेक्शन का प्रभाव ताउम्र नहीं रहेगा, लेकिन‌ जब तक उसकी सजा की अवधि पूरी नहीं होती है, तब तक ऐसे किसी अपराध में संलिप्त होने की उसकी क्षमता ही छीन ली जाएगी। इस कानून के अनुसार अगर कोई दुष्कर्म का दोषी पैरोल पर जाने से पहले यह इंजेक्‍शन लगवाने से मना करता है तो उसे पैरोल पर बाहर नहीं जाने दिया जाएगा। उसे सजा पूरी होने तक जेल में रहना होगा।

दोषी ही नपुंसक बनाने वाला इंजेक्‍शन का उठाएगा खर्च

कानून में यह चौंकाने वाला प्रावधान है कि किसी दोषी को नपुंसक बनाने वाला इंजेक्‍शन का खर्च भी उसे ही उठाना होगा। हालांकि दोषी को इंजेक्शन लगाना है अथवा नहीं, इस पर अं‌तिम फैसला अदालत करेगी। दोषी इंजेक्‍शन नहीं लगवाने को लेकर अदालत में अपील भी दायर कर सकता है। लेकिन कानून के लागू हो जाने के बाद इसके क्रियान्यवन की भी तैयारी की जा रही है।

एसा करने वाला सातवां राज्य बना अलबामा

विदित हो कि अलबामा अमेरिका का सातवां राज्य है जिसने  दुष्कर्म के दोषियों के लिए रासायनिक सजा का प्रावधान किया है। इससे पहले अमेरिका के ही छह अन्य राज्यों में दोषियों को टैबलेट या इंजेक्‍शन से उनकी शारीरिक संबंध स्‍थापित करने की क्षमता को प्रभावित कर दिया जाता है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
मनोरंजन14 hours ago

कंगना रनौत की बहन ने ऋतिक रोशन पर लगाया सबसे बड़ा आरोप, कहा- उनकी बहन मुस्लिम…

खेल14 hours ago

टीम इंडिया को बड़ा झटका, विश्व कप से बाहर हुए शिखर धवन, भावुक होकर ‘गब्बर’ ने शेयर किया वीडियो

राज्य15 hours ago

श्रावस्ती : होटलों पर मजदूरी कर रहे कई बच्चों को बाल कल्याण समिति को सौंपा

Uncategorized15 hours ago

श्रावस्ती : बार एसोसिएशन भिनगा का चुनाव नामांकन प्रक्रिया पूर्ण, मतदान 1 जुलाई को

राज्य15 hours ago

कन्नौज : परिवहन आयुक्त ने लगाई तिर्वा की मुगरा ग्राम पंचायत में चौपाल

राज्य15 hours ago

कन्नौज : तिर्वा तहसील के निरीक्षण में नोडल अफसर को सब कुछ लगभग ठीक मिला

राज्य16 hours ago

कन्नौज : डीएम को गलत सूचना देकर गुमराह करने वाले तीन पूर्ति निरीक्षकों का रोका वेतन

राज्य16 hours ago

कन्नौज : जिले के प्रभारी अधिकारी ने अपनी प्रथम निरीक्षण यात्रा में सड़क सुरक्षा पर दिया खास जोर

राज्य16 hours ago

अयोध्या : फैजाबाद शहर के जनौरा नाका स्थित पक्के तालाब में डूबकर तीन बच्चों की मौत

राज्य16 hours ago

अयोध्या : बिना बिजली कनेक्शन और तार-खम्भों के ही भेज दिया 32 हजार का बिल

राज्य17 hours ago

प्राइवेट विश्वविद्यालयों पर CM योगी ने कसा शिकंजा, जारी किया नया अध्यादेश, गरीबों पर हुए मेहरबान

राज्य18 hours ago

अयोध्या : बाइकर ने युवक को मारी टक्कर, मौत, बाइक सवार गंभीर रूप से घायल

देश18 hours ago

लड़कियों के PG में रात को घुसा लड़का, फिर सो रही लड़की के साथ की ‘गंदी’ हकरत, CCTV में हुआ कैद

राज्य19 hours ago

बस और ट्रक की आमने-सामने हुई भीषण टक्कर, 7 लोगों की मौत, कई घायल, 5 की हालत गंभीर

देश19 hours ago

जब अठावले के भाषण पर मोदी-सोनिया व राहुल ने लगाए ठहाके, वीडियो देख आप भी नहीं रोक पाएंगे हंसी

देश19 hours ago

मासूमों की मौत के सवाल पर डिप्टी सीएम ने साधी चुप्पी, पत्रकारों से कहा- जा सकते हैं बाहर

मनोरंजन19 hours ago

पाक अभिनेत्री वीना मलिक और सानिया मिर्जा की तू-तू मैं-मैं, एक दूसरे पर छोड़े शब्दों के व्यंग्य बाण

Uncategorized20 hours ago

12 घण्टे में इंसेफेलाइटिस के 26 मरीज हुए भर्ती, 3 मरीजों की मौत, 11 की हालत गंभीर

राज्य3 weeks ago

बसपा की तरफ से सपा प्रत्याशियों को हराने वाला लेटर वायरल, लिखी है ये बातें, जानें क्या है पूरा मामला

राज्य3 weeks ago

स्मृति के करीबी सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड : कांग्रेस नेता समेत हत्या के सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार

मनोरंजन4 days ago

भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर स्वरा भास्कर ने लगाई ये शर्त, कहा- मुझे क्या मिलेगा…

वीडियो2 weeks ago

नन्हें फैंस को धक्का देने पर सलमान खान ने खोया आपा, सिक्योरिटी गार्ड को जड़ा जोरदार थप्पड़, देखें वीडियो

बिज़नेस2 weeks ago

लगातार पांचवें दिन कम हुए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्या है आज की कीमत

बिज़नेस2 weeks ago

पाकिस्तान में महंगाई से जनता बेहाल, जानें प्याज और नींबू का दाम

देश4 weeks ago

एग्जिट पोल के बाद मायावती की बड़ी कार्रवाई, इस करीबी विधायक को दिखाया बाहर का रास्ता

देश4 weeks ago

कांग्रेस ने जारी किया अपना एग्जिट पोल, खुद को दिखाईं इतनी सीटें, भाजपा को बताया सत्ता से दूर

हेल्थ1 week ago

पनीर खाने से दूर होती हैं ये बीमारियां, जानें पनीर से होते हैं और कौन-कौन से फायदे?

राज्य2 weeks ago

पांडेय की जगह कौन होगा यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष? इन 8 नामों में लग सकती है किसी पर मोहर!

राज्य4 weeks ago

ढाई लाख से जीतकर भी हार गये सपा प्रमुख अखिलेश यादव, ये है मुख्य कारण

हेल्थ3 weeks ago

नए रिसर्च का दावा, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है ये आसान सा नुस्खा

हेल्थ4 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं कच्चे केले के कटलेट, खाने में होते हैं बेहद स्वादिष्ट

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : इस वीकेंड घर में ऐसे बनायें मलाई कोफ्ता, जीत लेंगे सबका दिल

मनोरंजन2 weeks ago

फिल्म आर्टिकल 15 के खिलाफ लामबंद हुआ ब्राह्मण समुदाय, लगाया गंभीर आरोप, जानें क्या है विवाद

देश3 weeks ago

मोदी सरकार में मंत्री बनने के लिए स्मृति सहित इन सांसदों को आया फोन, देखें लिस्ट

हेल्थ4 weeks ago

मोटापा है सबसे बड़ी समस्या, हो सकती हैं गंभीर बीमारियां, जानें कारण, आजमाएं ये तरीका

Trending