कोरोना से बचने के लिए अमेरिका में सभी वयस्कों को लगेंगे बूस्टर डोज

दुनियाभर में कोरोना संक्रमण एक बार फिर अपना पैर पसारना शुरू कर दिया है। कई देशों में लॉकडाउन लगाने की नौबत आ गयी है। वहीं, इससे बचने के लिए अमेरिका में कोरोना वैक्सीन के बाद अब वयस्कों को बूस्टर डोज ले सकते हैं।
 
कोरोना से बचने के लिए अमेरिका में सभी वयस्कों को लगेंगे बूस्टर डोज

वॉशिंगटन। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण एक बार फिर अपना पैर पसारना शुरू कर दिया है। कई देशों में लॉकडाउन लगाने की नौबत आ गयी है। वहीं, इससे बचने के लिए अमेरिका में कोरोना वैक्सीन के बाद अब वयस्कों को बूस्टर डोज ले सकते हैं। सर्दियों में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को रोकने और इस मौसम में इसका प्रकोप अधिक न हो इसलिए 50 वर्ष एवं अधिक आयु के लोगों से अतिरिक्त खुराक (बूस्टर डोज) लेने की अपील की गयी है। नए नियमों के मुताबिक 18 वर्ष से अधिक आयु का कोई भी व्यक्ति कोविड रोधी टीके की अंतिम खुराक लेने के छह माह बाद फाइजर या मॉडर्ना की अतिरिक्त खुराक ले सकता है।

जॉनसन ऐंड जॉनसन का एक खुराक वाला टीका लगवाने वाले लोग इसके दो महीने बाद अतिरिक्त खुराक ले सकते हैं। इससे पहले तक लोगों के बीच इस बात को लेकर भ्रम था कि आयु, स्वास्थ्य तथा पहले लिए गए टीके के आधार पर कौन बूस्टर डोज लेने का पात्र है और कौन नहीं। खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) में टीका प्रमुख डॉ. पीटर मार्क्स ने एसोसिएटेड प्रेस को बताया कि हमें स्पष्ट रूप से पता चला था कि लोगों को कुछ आसान सा चाहिए और मेरे खयाल से यह ऐसा ही है।
 
नई नीति के शुक्रवार देर रात आधिकारिक रूप लेने से पहले रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (सीडीसी) के वैज्ञानिक सलाहकारों ने जोर देकर कहा था कि सभी वयस्कों के लिए बूस्टर डोज उपलब्ध करवाने के अलावा 50 वर्ष और अधिक आयु के लोगों को जोर देकर अतिरिक्त खुराक लेने को कहा जाना चाहिए। सीडीसी के सलाहकार डॉ. मैथ्यू डाले ने कहा कि मैं सुनिश्चित करना चाहता हूं कि हम अधिकाधिक सुरक्षा प्रदान करें।