Connect with us

दुनिया

कराची स्टॉक एक्सचेंज पर आतंकी हमला, 4 आतंकी ढेर, पुलिस इंस्पेक्टर समेत पांच लोगों की भी मौत

Published

on

नई दिल्ली। पाकिस्तान के कराची स्टॉक एक्सचेंज पर सोमवार सुबह एक आतंकी हमला हुआ। इस हमले में चार आतंकियों समेत कुल 9 लोग मारे गए। मारे गए लोगों में एक पुलिस इंस्पेक्टर और चार सिक्योरिटी गार्ड्स भी शामिल हैं। सात लोग घायल हैं। चार की हालत गंभीर है।​​

पाकिस्तानी मीडिया के अनुसार आज सुबह नौ बजे के आस-पास चार आतंकी पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज की बिल्डिंग में घुसे और अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी। आज हफ्ते का पहला कारोबारी दिन होने के कारण काफी लोग एक्सचेंज में मौजूद थे। इस वजह से भगदड़ सी मच गई। हमले की जानकारी मिलने के बाद पहुंचे पाकिस्तानी रेंजर्स और सिंध पुलिस के जवानों ने बिल्डिंग में फंसे लोगों को बाहर निकाला। लोगों को बाहर निकालने के लिए पिछले गेट का उपयोग किया गया।

आतंकी जब इमारत के मुख्य द्वार पर ग्रेनेड हमला और अंधाधुंध गोलाबारी करते हुए इमारत में घुस रहे थे, तभी सुरक्षाबलों ने मुख्य द्वार पर ही दो आतंकियों को मार गिराया, जबकि दो आतंकी स्टॉक एक्सचेंज के हाल में मारे गए। आतंकियों के पास से बड़ी संख्या में हथियार बरामद किए गए हैं।

सुरक्षाकर्मी ने पूरी बिल्डिंग को अपने कब्जे में लेकर तलाशी अभियान शुरू कर दिया है। सुरक्षाबलों ने बिल्डिंग के आस-पास का इलाका भी सील कर दिया है। आसपास की बिल्डिंगों पर स्लाइनपर्स भी तैनात किए हैं। मारे गए आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया है। अधिकारियों ने बतााया है कि कई घायलों की हालत गंभीर है, जिससे मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है।

कराची के पुलिस महानिरीक्षक (आईजी) ने पाकिस्तानी मीडिया को बताया है कि स्थिति नियंत्रण में है और सभी आतंकवादी मार गिराए गए हैं। रेंजर्स और पुलिस अधिकारी इमारत में घुस गए हैं और तलाशी अभियान चला रहे हैं।आईजी के अनुसार हमलावरों ने पुलिस अधिकारियों जैसे कपड़े पहन रखे थे, जो वो ऑफ-ड्यूटी में पहनते हैं। पुलिस की ओर से सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं। कराची पुलिस ने हमलावरों के पास से एके -47 राइफलें, हैंड ग्रेनेड, मैगजीन और अन्य विस्फोटक सामग्री बरामद की है।

सिंध प्रांत के गवर्नर इमरान इस्माइल ने घटना की निंदा की है। उन्होंने ट्विटर पर कहा, ‘पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर किए गए हमले की कड़ी निंदा करता हूं। यह हमला आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई को कमजोर करने के लिए किया गया है। आईजी और सुरक्षा एजेंसियों को निर्देश दिया है कि घटना को अंजाम देने वालों को जिंदा पकड़ा जाये और उनके आकाओं को कड़ी सजा मिले। हम सिंध की हर कीमत पर रक्षा करेंगे।’

Trending