चीन के पूर्व पीएम पर यौन शोषण का आरोप लगाने के बाद टेनिस स्टार पेंग गायब

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के  नेता और पूर्व प्रधानमंत्री झांग गाओली पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली  टेनिस स्टार पेंग शुआई (tennis star peng shui) लापता हैं। 35 साल की पेंग के गायब होने के बाद से दुनिया की महिला टेनिस समुदाय के साथ ही खेलप्रेमी उनके लिए आवाज उठा रहे हैं। बता दें कि  पेंग शुआई (tennis star peng shui) चीन के लिए तीन ओलंपिक मेडल जीत चुकी हैं। 
 
Tennis star Peng missing after accusing former Chinese PM of sexual abuse.jpg
पेंग शुआई (tennis star peng shui)

नई दिल्ली। चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के  नेता और पूर्व प्रधानमंत्री झांग गाओली पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली  टेनिस स्टार पेंग शुआई (tennis star peng shui) लापता हैं। 35 साल की पेंग के गायब होने के बाद से दुनिया की महिला टेनिस समुदाय के साथ ही खेलप्रेमी उनके लिए आवाज उठा रहे हैं। बता दें कि  पेंग शुआई (tennis star peng shui) चीन के लिए तीन ओलंपिक मेडल जीत चुकी हैं। 

बता दें कि  पेंग शुआई (tennis star peng shui) ने 2 नवंबर को चीन के पूर्व प्रधानमंत्री झांग गाओली पर आरोप लगाया कि उन्होंने जबरन सेक्स करने को मजबूर किया था। यह बात उन्होंने सोशल मीडिया पर भी लिखी थी। इसके बाद से वेंग गायब हैं।

हालांकि चीनी सरकारी मीडिया ने हाल ही में   पेंग शुआई (tennis star peng shui) के ईमेल का एक स्क्रीनशॉट जारी कर बताया है कि  पेंग शुआई (tennis star peng shui) ने यौन आरोपों को वापस ले लिया है और उन्होंने बताया है कि सब कुछ ठीक है। यह जानकारी वर्ल्ड टेनिस एकेडमी (WTA) को भी दी गई है। हालंकि पेंग के समर्थक इस बात पर यकीन नहीं कर रहे हैं। सोशल मीडिया साइट्स पर लोग #WhereIsPengShuai के जरिए पेंग के समर्थन में लिख रहे हैं।

मामले को लेकर WTA के प्रमुख स्टीव साइमन ने कहा है कि अगर  पेंग शुआई (tennis star peng shui) की सुरक्षा की गारंटी नहीं दी जाती है और उनके द्वारा लगाए गए आरोपों की सही से जांच नहीं की जाती है कि हम चीन के साथ संबंधों को खत्म कर देंगे।

उधर चीन की सरकार ने  पेंग शुआई (tennis star peng shui) के मामले पर टिप्पणी करने से बार-बार इनकार किया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियन ने कहा है कि पेंग का आरोप एक राजनयिक मुद्दा नहीं है और आगे कमेंट करने से इनकार कर दिया। पेंग द्वारा दो सप्ताह से अधिक समय पहले आरोप लगाने के बाद से चीन सरकार ने इस मुद्दे की जानकारी को लगातार अस्वीकार किया है।