रूस ने ताजिकिस्तान में तैनात किए टैंक, अफगानिस्तान के हालात पर पुतिन में इमरान खान से की बात

रूस ने अफगानिस्तान के पड़ोसी देश ताजिकिस्तान में अपने टैंक भी तैनात कर युद्धाभ्यास कर रहा है।
 
Russia deployed tanks in Tajikistan
रूस का युद्धाभ्यास 


मास्को/इस्लामाबाद। रूस ने कहा है कि अफगानिस्तान में हालात तनावपूर्ण और गंभीर हैं। तालिबान के साथ ही इस्लामिक स्टेट (आईएस) की मौजूदगी से आतंकी हमले का खतरा भी बढ़ा है। रूस ने अफगानिस्तान के पड़ोसी देश ताजिकिस्तान में अपने टैंक भी तैनात कर युद्धाभ्यास कर रहा है। साथ ही रूसी राष्ट्रपति ब्लादीमीर पुतिन ने इमरान खान को फोन अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा भी की।
 
अफगानिस्तान से नागरिकों की निकासी पर रूस के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 500 से ज्यादा लोगों को निकाला गया है, जिनमें रूस के साथ ही बेलारूस, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, उज्बेकिस्तान और उक्रेन के नागरिक शामिल हैं। इतना ही नहीं रूस के रुख में यह बदलाव गंभीर खतरे का संकेत भी दे रहा है।
 
अफगानिस्तान में नवीनतम घटनाओं पर प्रधान मंत्री इमरान खान और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने बुधवार को चर्चा की और संघर्षग्रस्त देश में स्थिति से निपटने के लिए समन्वित प्रयासों का आग्रह किया। विदेश कार्यालय के अनुसार, इमरान खान को राष्ट्रपति पुतिन का एक टेलीफोन कॉल आया और दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान में उभरती स्थिति और द्विपक्षीय संबंधों पर विचारों का आदान-प्रदान किया। इमरान खान ने इस बात को जोर किया कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अफगानिस्तान के लोगों के समर्थन में सकारात्मक रूप से लगे रहना चाहिए, ताकि मानवीय जरूरतों को पूरा करने और आर्थिक स्थिरता सुनिश्चित करने में मदद मिल सके।
 
अफगानिस्तान की तरफ से किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए रूस ने ताजिकिस्तान में अपनी सैन्य क्षमता भी बढ़ाया है। उसके रक्षा मंत्रालय ने कहा कि ताजिकिस्तान के पहाड़ों पर दूर तक मार करने वाले टी-72 टैंकों को तैनात किया गया है और महीने भर चलने वाला युद्धाभ्यास शुरू किया है।