Connect with us

दुनिया

इराक और अफगानिस्तान में अपने सैनिकों की संख्या घटाएगा पेंटागन

Published

on

काबुल। अमेरिका के सैनिकों की संख्या इराक और अफगानिस्तान दोनों देशों में घटाकर 2500 की जाएगी। यूएस एक्टिंग डिफेंस सेक्रेटरी क्रिस्टोफर मिलर ने मंगलवार को इस बात की घोषणा की।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने वरीय राष्ट्रीय सुरक्षा अधिकारियों से सलाह मशविरा करके इस बात का फैसला किया है कि सैनिकों को कम किया जाए।

अफगानिस्तान में जारी विवाद पर मिलर ने कहा कि हम लोग आने वाले सालों में कई पीढ़ियों से चले आ रहे युद्ध को समाप्त करेंगे और अपने पुरुष और महिलाओं को घर वापस लाएंगे।

ट्रंप प्रशासन के अफगानिस्तान में सैनिकों की संख्या को घटाने की बात पर मंगलवार को नाटो के सेक्रेटरी जनरल जेन्स स्टॉलटेनबर्ग ने कहा था कि अफगानिस्तान में सैनिकों की संख्या को इतनी जल्दी कम करने का फैसला बहुत महंगा पड़ सकता है।

अफगानिस्तान के डिफेंस मिनिस्ट्री ने सोमवार को कहा था कि अगर देश से अंतरराष्ट्रीय बलों की वापसी होती है तो अफगान नेशनल डिफेंस और सिक्योरिटी फोर्स देश की रक्षा करने में सक्षम हैं।

इस क्षेत्र के देश जैसे पाकिस्तान, रूस और ईरान ने भी अमेरिका से कहा है कि वह अफगानिस्तान से अपने सैनिकों की वापसी के मामले में जिम्मेदारी पूर्ण ढंग से फैसला करे। शांति स्थापित करने के प्रयासों के बावजूद अफगानिस्तान में हिंसा व्याप्त है। इसी बीच दोहा में बातचीत में ग्राउंड रूल्स के मसले को लेकर बातचीत ठप है।

Trending