अफगानिस्तान में बंदूक की नोक पर शांति : तालिबान ने दिखाया अपना रंग, चैनल से सभी महिला एंकरों को हटाया

 
अफगानिस्तान में बंदूक की नोक पर शांति : तालिबान ने दिखाया अपना रंग, चैनल से सभी महिला एंकरों को हटाया  

काबुल। अफगानिस्तान में हालत दिन ब दिन ख़राब होता जा रहा है। तालिबान के कब्जे के बाद स्थिति चिंताजनक है। काबुल पर कब्जा जमाते ही शांति कायम करने, महिलाओं को उनके अधिकार देने जैसी बातें करने वाला तालिबान अब अपनी असलियत दिखाना शुरू कर दिया है। यह मामला अफगानी राष्ट्रध्वज लेकर प्रदर्शन करने वालों से जुड़ा है। 

एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, कुछ अफगानी नागरिक अपना राष्ट्रध्वज लेकर प्रदर्शन कर रहे थे और अफगानी झंडा न उतारने की मांग कर रहे थे। इसी बीच, तालिबानी आतंकियों ने उन पर गोली चला दी। न्यूज एजेंसी ने इसका वीडियो भी जारी किया है। इसमें कुछ लोग अफगानी झंडा लहरा रहे हैं। लेकिन, थोड़ी देर बात गोलियों की आवाज सुनाई देते ही भगदड़ मच जाती है। घटना नानगरहार प्रांत के सुर्खरोड की बताई जा रही है। गोली चलने के बाद एक बार फिर पूरे इलाके में दहशत का माहौल बन गया है। 

न्यूज़ एजेंसी ने एक तस्वीर साझा की है जिसमें तालिबानी लड़ाके सेना की वर्दी में दिखाई दे रहे हैं। यह वर्दी तालिबान की पुरानी सरकार के राष्ट्रीय सुरक्षा निदेशालय से संबंधित है। अभी कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया यूजर्स ने तालिबान की वर्दी को लेकर चिंता जाहिर की थी, इसके बाद ही तालिबानी लड़ाके सेना की वर्दी में दिखाई दिए हैं। 

इस घटना से पहले तालिबान क्रूरता की एक और खबर सामने आई थी। इसमें तालिबानी आतंकियों ने बल्ख प्रांत की महिला गवर्नर सलीमा गजारी को बंधन बना लिया था। बताया जा रहा है महिला गवर्नर ने तालिबान के खिलाफ आवाजा उठाई थी। उन्हें कहां और किस हाल में रखा गया है, इसकी जानकारी किसी को नहीं है। वहीं तालिबान ने सभी महिला न्यूज एंकरों को भी हटा दिया है।