इमरान खान ने बचाई कुर्सी, असेंबली में जीता विश्वास मत

इस्लामाबाद । पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान  को संसद में सत्ता बचाने की बड़ी परीक्षा में कामयाबी हासिल कर ली है। विश्वास मत की प्रक्रिया में इमरान खान के समर्थन में 178 वोट पड़े। जबकि प्रधानमंत्री इमरान खान को अपनी कुर्सी बचाने के लिए नेशनल असेंबली में 172 वोटों की जरूरत थी। नेशनल असेंबली के स्पीकर ने घोषणा कर बताया कि इमरान खान की कुर्सी सुरक्षित है।

इमरान खान पाकिस्तान के इतिहास में दूसरे ऐसे प्रधानमंत्री हैं, जो नेशनल एसेंबली में अपनी इच्छा से विश्वास मत का सामना किया। इससे पहले नवाज शरीफ ने सन् 1993 में स्वेच्छा से विश्वास मत का सामना किया था।

सीनेट के चुनाव में सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रत्याशी अब्दुल हफीज शेख को पाकिस्तान डेमोक्रेटिक मूवमेंट के उम्मीदवार और पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने करारी शिकस्त दी। यह इमरान सरकार के लिए बड़ा झटका साबित हुआ। इमरान खान ने खुद शेख के लिए प्रचार किया था। गिलानी की जीत से उत्साहित विपक्षी दलों ने इमरान का इस्तीफा मांगना शुरू कर दिया है। यही कारण है कि इमरान खान ने नेशनल असेंबली में विश्वास मत हासिल करने की घोषणा कर दी।

Previous articleइग्नू के बीएड, एमबीए व पोस्ट बेसिक नर्सिंग कार्यक्रम के लिए आवेदन 20 तक
Next articleउत्तराखंड: RO/ARO की वैकेंसी का नोटिफिकेशन जारी, पढ़िये पूरी प्रक्रिया