Connect with us

दुनिया

अवैध आव्रजन मामले में ट्रम्प प्रशासन को बड़ी राहत, कस्टम बॉर्डर पुलिस के मिले अधिकार

Published

on

लॉस एंजेल्स। अमेरिका की फ़ेडरल कोर्ट आफ अपील ने शुक्रवार को जारी निषेधाज्ञा आदेश में अवैध आव्रजन मामले में ट्रम्प प्रशासन को बड़ी राहत दी है। इस निषेधाज्ञा आदेश के अनुसार मेक्सिको से देश की दक्षिण पश्चिमी सीमा से अमेरिकी सीमा में घुसने का प्रयास करने वाले अवैध आव्रजकों को रोकने के लिए कस्टम बार्डर पुलिस को अधिकार मिल गया है। इस निषेधाज्ञा के अनुसार अब होंडूरस, ग्वाटेमाला और अल सल्वाडोर से ट्रकों और लारियों में भर कर मेक्सिको सीमा से घुसने वाले अवैध आव्रजकों को अगले आदेश तक मेक्सिको में ही रुकना पड़ेगा।

यह आदेश फ़िलहाल चार दिन के लिए दिया गया

यह आदेश फ़िलहाल चार दिन के लिए दिया गया है। तत्पश्चात अपीलीय अदालत यह तय करेगी की क्या ट्रम्प प्रशासन को उसकी आव्रजन संरक्षण नीति के आधार पर दीर्घावधि के लिए निषेधाज्ञा जारी की जा सकती है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने शुक्रवार की रात ट्वीट कर निषेधाज्ञा पर ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा है कि ”क्या लाजवाब आदेश आया है।” ट्रम्प प्रशासन ने गत दिसंबर में आव्रजन संरक्षण नीति के तहत प्रोटोकोल बनाया था। इस निषेधाज्ञा आदेश से चार दिन पूर्व सैनफ़्रांसिस्को स्थित डिस्ट्रिक्ट नाइन के जज रिचर्ड सीबर्ग ने अपने आदेश में कहा था कि संघीय सरकार के पास अवैध आव्रजन के मामले में कोई विशेष अधिकार नहीं है।

अमेरिकी सीमा में घुसने से रोकने के लिए भरसक प्रयास किए

इसके लिए संघीय सरकार के प्रोटोकोल के अंतर्गत अमेरिकी सीमा में घुसने वाले अवैध आव्रजकों के भविष्य का फ़ैसला आव्रजन अदालत कर सकती है। ट्रम्प प्रशासन ने अवैध आव्रजकों को अमेरिकी सीमा में घुसने से रोकने के लिए भरसक प्रयास किए। इन में बड़े-बड़े राहत शिविर बनाए गए, परिवार से बच्चों को पृथक शिविरों में ठहराया गया। इन शिविरों में दो बच्चों की मृत्यु हो गई थी, जिस पर मीडिया में प्रशासन की ख़ासी छिछालेदार हुई थी।

राहत शिविरों में अमानवीय स्थितियां पैदा हो गईं

इसके बावजूद दक्षिण पश्चिम सीमा से प्रति माह क़रीब एक लाख अवैध आव्रजकों के आने से राहत शिविरों में अमानवीय स्थितियां पैदा हो गईं। रिचर्ड सीबर्ग के आदेश के ख़िलाफ़ ट्रम्प प्रशासन के न्यायिक विभाग ने तीन सदस्यीय अपीलीय कोर्ट के सम्मुख याचिका दायर की थी कि मेक्सिको सीमा पर प्रतिदिन हज़ारों की संख्या में अवैध आव्रजक आ रहे हैं। इन आव्रजकों के स्वास्थ्य परीक्षण के साथ-साथ उन्हें तत्काल सुविधाएं जुटाना और आव्रजन अदालतों के ज़रिए मामले निपटाना नाकाफी साबित हो रहा है। इस से बार्डर पर मानवीय संकट की स्थिति पैदा होती जा रही है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दुनिया

पाक के इस मौलवी का हिंदू लड़कियों को मुसलमान बनाना था मिशन

Published

on

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इस समय अमेरिक के दौरे पर हैं। अमेरिका में उनक किरकिरी भी खूब हुई। इस बीच पाकिस्तान को लेकर एक और बड़ी खबर सामने आ रही है। गौरतलब है कि इमरान खान अपने पहले अमेरिकी दौरे पर हैं। यहां अमेरिका के 10 सांसदों ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्ऱंप को पत्र लिखा है। इस पत्र में कहा गया है कि पाकिस्तान के सिंध प्रांत में हिंदू लड़कियों के अपहरण और जबरन धर्मांतरण के मुद्दे पर इमरान खान से सीधी बात करें।

मेरे बच्चे भी यही काम करेंगे

जानकार सूत्रों मुताबिक सिंध प्रांत में हिंदुओं के लिए माने जाने वाले विलेन अब्दुल खालिक मीथा ने कबूल किया कि वह हिंदू लड़कियों को मुस्लिम बनाने के मिशन पर था। उसने यह भी कबूला कि वह मिशन पर है और आगे भी रहेगा। यही नहीं, वह दावे के साथ कहता है कि उसके नौ बच्चे भी यही काम करेंगे, जैसे उसके पुरखों ने किया था।

धर्मांतरण के 1000 से ज्यादा मामले दर्ज

दूसरी ओर, पाकिस्तान का मानवाधिकार आयोग हालिया रिपोर्ट में मान चुका है कि पिछले साल अकेले सिंध प्रांत में ही अल्पसंख्यकों के धर्मांतरण के एक हजार से ज्यादा मामले दर्ज हुए हैं। सिंध प्रांत में धर्मांतरण का सबसे बड़ा अड्डा धरकी शहर की भरचूंदी दरगाह है, जिसे प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी अब्दुल खालिक मीथा ही चलाता है। यहां के सामाजिक कार्यकर्ताओं के मुताबिक, बीते नौ सालों में 450

हिंदू लड़कियों का धर्मांतरण इसी दरगाह में कराया गया।

मेरे पूर्वजों ने हिंदुओं का धर्मांतरण कराकर इस्लाम की सेवा की है
मीथा ने कहा- हां, मैंने हिंदू लड़कियों के धर्मांतरण के लिए दरगाह में व्यवस्था की है। लेकिन, मैं लड़कियों को उनके घर से दरगाह तक लाने के लिए कोई टीम नहीं भेजता। वे अपनी इच्छा से यहां आती हैं। इसलिए मैं उनके निकाह का इंतजाम करता हूं। मेरे पूर्वजों ने हिंदुओं का धर्मांतरण कराकर इस्लाम की सेवा की है। आज मैं इस मिशन को आगे बढ़ा रहा हूं। मेरी मौत के बाद मेरे बच्चे भी इसे बढ़ाएंगे।

जो धर्म बदलना चाहती हैं, उन्हें मैं पूरी सुरक्षा देता हूं

मीथा के मुताबिक, भारत में घर वापसी कैंपेन इसलिए जल्दी ठंडा पड़ गया, क्योंकि पाकिस्तान में किसी भी हिंदू लड़की के साथ जबरदस्ती नहीं हो रही है। घर वापसी कैंपेन पाकिस्तान और इस्लाम को नीचा दिखाने के लिए ही था। अगर पाकिस्तान में एक भी हिंदू लड़की पर दबाव डालकर जबरदस्ती धर्मांतरण कराया गया होता तो भारत सबसे पहले यूएन जाता। लेकिन, उसने ऐसा नहीं किया। मेरे घर, दरगाह और दरयाल-अमन (सेफ हाउस) में 17 से ज्यादा हिंदू लड़कियां हैं, पर मैंने उनका धर्मांतरण नहीं कराया, क्योंकि वह खुद ऐसा नहीं करना चाहतीं। लेकिन, जो धर्म बदलना चाहती हैं, उन्हें मैं पूरी सुरक्षा देता हूं।

मेरी नई बेगम हिंदुस्तान से हो, ऐसी मेरी ख्वाहिश है

78 साल का मीथा दशकों से धर्मांतरण करा रहा है। सियासी पैठ होने की वजह से वह प्रधानमंत्री इमरान खान का करीबी बन गया। नौ बच्चों का पिता है। उसकी पत्नी गुजर चुकी है। अब वह एक और शादी करना चाहता है। कहता है- मेरे फॉलोअर्स चाहते हैं कि मैं एक निकाह और करूं। इसलिए अपने लिए दुल्हन भी खोज रहा हूं। मेरी नई बेगम हिंदुस्तान से हो, ऐसी मेरी ख्वाहिश है।

हिंदू लड़कियों के धर्मांतरण के खिलाफ सड़कों पर लोग

सिंध प्रांत में लोग जबरन धर्मांतरण के खिलाफ सड़कों पर उतर रहेे हैं। पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का धर्मांतरण उतना ही पुराना है, जितनी यहां की मुस्लिम आबादी। 11-15 साल की हिंदू लड़कियां इसकी सबसे ज्यादा शिकार हो रही हैं। हाल में दो लड़कियों के अपहरण के बाद से मुद्दा फिर गरम है।

Continue Reading

दुनिया

अमेरिका में अपमान के बाद अब इमरान खान का विरोध, कार्यक्रम में हुई जमकर नारेबाजी, देखें वीडियो

Published

on

वाशिंगटन। अपने तीन दिवसीय दौरे के तहत अमेरिका पहुंचे पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अमेरिका में लगातार अपमान सहना पड़ रहा है। वाशिंगटन डीसी में रविवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की एक सभा में कुछ प्रवासी बलूच समर्थकों ने नारेबाजी की। इससे इमरान खान और उनके साथ बैठे विदेश मंत्री हतप्रभ रह गए। विरोध कर रहे बलूच समर्थक बलूचिस्तान की स्वतंत्रता की मांग कर रहे थे।

मेट्रो-बस करना पड़ा सफर

आपको बता दें कि इससे पहले जब कतर एयरवेज की फ्लाइट से जब इमरान खान एयरपोर्ट पहुंचे तो वहां उनके स्वागत के लिए कोई भी अमेरिकी अधिकारी मौजूद नहीं था और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को खुद उनका स्वागत करना पड़ा। इतना ही नहीं उन्हें एयरपोर्ट से होटल तक मेट्रो-बस में सफर करना पड़ा।

पाक सेना जुल्म ढा रही-बलूचसमर्थक

इमरान खान एक कम्युनिटी कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे तभी कुछ लोग बलूचिस्तान के समर्थन में नारेबाजी करने लगे। इस पर प्रवासी पाकिस्तान के लोगों ने बलूच प्रदर्शनकारियों को धक्का देकर बाहर निकालने की कोशिश की। तब तक स्थानीय पुलिस ने बीच-बचाव किया और प्रदर्शनकारियों को हॉल से बाहर किया। बलूचसमर्थक नारे लगा रहे थे कि उन पर पाकिस्तानी सेना जुल्म ढा रही है। उनके सैकड़ों लोगों को घर से उठाकर कहीं बाहर भेज दिया गया हैं। उन्हें न्याय चाहिए।

एमक्यूएम ने भी किया विरोध प्रदर्शन

इमरान खान के अमेरिकी दौरे को लेकर कई पाकिस्तानी धार्मिक संगठन, बलोच और मोहाजिर समेत सिंधी समुदाय के लोग भी विरोध प्रदर्शन भी कर रहे हैं। मुत्तहिदा क़ौमी मूवमेंट (एमक्यूएम) और अन्य अल्पसंख्यक समूहों के प्रदर्शनकारियों ने इमरान खान की अमेरिकी यात्रा के दौरान वाशिंगटन डीसी में विरोध प्रदर्शन किया। ये सभी लोग हाथों में झंडे, बैनर और तख्तियां लेकर इमरान के दौरे का विरोध कर रहे हैं। एमक्यूएम पाकिस्तान का एक सेक्युलर राजनीतिक दल है जो सिंध प्रांत में दूसरा सबसे बड़ा दल है। पाकिस्तान की नेशनल असेम्बली में चौथी सबसे बड़ी पार्टी है।

आज होनी है ट्रंप और इमरान की मुलाकात

कंगाल हो चुकी पाकिस्तानी अर्थव्यवस्था और आतंकवाद का दाग लेकर अमेरिका पहुंचे इमरान खान आज अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करेंगे।  इस मुलाकात के दौरान ट्रंप उन पर पाकिस्तान में चल रहे सक्रि आतंकवादी समूहों के खिलाफ ‘निर्णायक एवं स्थिर’ कार्रवाई करने तथा तालिबान के साथ शांति वार्ता को लेकर दवाब बना सकते हैं। पाकिस्तान को उम्मीद है कि अमेरिका उसे आर्थिक मदद देगा। पाकिस्तानी मीडिया की मानें तो ट्रंप के साथ मुलाकात से पहले इमरान ने अमेरिका को पाकिस्तान में निवेश करने की पेशकश की है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

दुनिया

ट्रंप से मिलने पहुंचे इमरान खान की हुई बेइज्जती, न स्वागत न काफिला, मेट्रो से करना पड़ा सफर, देखें वीडियो

Published

on

नयी दिल्ली। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की सोमवार को होनेवाली मुलाकात पर भारत ही नहीं दुनियाभर की निगाहें टिकी हुई हैं। इमरान करीब सालभर से ट्रम्प से मिलने के लिए लालायित थे।

कोई बड़ा मंत्री और अधिकारी नहीं पहुंचा आगवानी में

हालांकि इमरान जब वाशिंगटन डीसी पहुंचे तो उनकी आगवानी के लिए हवाई अड्डे पर कोई अमेरिकी मंत्री अथवा बड़ा अधिकारी नहीं पहुंचा। इतना ही नहीं कमर्शियल फ्लाइट से उतरकर सीधे मेट्रो में बैठ गए। इससे बातचीत के पहले ही पाकिस्तानी प्रधानमंत्री की किरकिरी हो गई। दुनियाभर की मीडिया ने भी इमरान की बेइज्जती को दिखाने में देर नहीं की।
पाक PM इमरान की अमेरिका यात्रा, न स्वागत न काफिला, मेट्रो में किया सफर
दरअसल, तीन दिवसीय दौरे पर अमेरिका पहुंचे इमरान खान की मुलाकात अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से होनी है। अमेरिकी यात्रा के लिए इमरान खान ने कतर एयरवेज की सामान्य कमर्शियल फ्लाइट ली थी। एयरपोर्ट पहुंचे इमरान खान को रिसीव करने कोई भी अमेरिकी प्रशासन का अधिकारी नहीं आया।
पाक PM इमरान की अमेरिका यात्रा, न स्वागत न काफिला, मेट्रो में किया सफर
पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी वहां मौजूद थे और वे ही उनके साथ मेट्रो में बैठकर इमरान निकल लिए। मेट्रो में यात्रा के दौरान पाकिस्तान मूल के ही कुछ लोग दिखे। इस दौरान इमरान खान उनसे चर्चा कर रहे थे। इमरान को मेट्रो में बैठकर होटल जाना पड़ा। इमरान अपने तीन दिवसीय दौरे के दौरान अमेरिका में पाकिस्तान के राजनयिक आवास पर ही रुकेंगे।
पाक PM इमरान की अमेरिका यात्रा, न स्वागत न काफिला, मेट्रो में किया सफर
इमरान खान का कतर एयरवेज की फ्लाइट से अमेरिका पहुंचने का मुख्य कारण पाक का आर्थिक संकट बताया जा रहा है। हालांकि वाशिंगटन स्थित पाकिस्तानी एम्बेसी में पाक मूल के कुछ लोग जरूर इमरान खान के स्वागत के लिए पहुंचे। बता दें कि इमरान खान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करेंगे। दोनों देशों के बीच रक्षा, व्यापार और कर्ज जैसे मुद्दों पर चर्चा होगी। बताया जा रहा है कि इस दौरान आतंकवाद पर भी चर्चा हो सकती है। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
राज्य56 mins ago

केजीएमयू के ट्रामा सेंटर की चौथी मंजिल से मां ने अपने चार के बच्चे को नीचे फेंका

टेक्नोलॉजी1 hour ago

रिलायंस जियो की हाई स्पीड ब्राडबैंड सर्विस की लॉन्चिंग डेट का हुआ खुलासा

खेल2 hours ago

एकदिवसीय क्रिकेट से संन्यास लेंगे लसिथ मलिंगा

बिज़नेस2 hours ago

शेयर मार्केट में जारी है गिरावट का दौर

हेल्थ2 hours ago

तेज याददाश्त, तनाव से राहत देगा ब्राह्मी का सेवन, जानें इसके बारे में

देश2 hours ago

जनसंख्या नियंत्रण कानून बनाने के पक्ष में 95 प्रतिशत लोग

देश3 hours ago

सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 3 फीट का गणेश बनेगा डॉक्टर, मेडिकल कॉलेज में मिलेगा दाखिला

दुनिया4 hours ago

पाक के इस मौलवी का हिंदू लड़कियों को मुसलमान बनाना था मिशन

मनोरंजन4 hours ago

स्वतंत्रता दिवस पर रिलीज होगा सेक्रेड गेम्स-2, रेट्रो लुक में नजर आएंगे सभी स्टार्स

देश4 hours ago

आतंकी फंडिंग मामला : व्यापारी गुलाम अहमद वानी के ठिकानों पर एनआईए की छापेमारी

देश4 hours ago

भारत ने डोनाल्ड ट्रम्प के कश्मीर मध्यस्थता सम्बन्धी बयान को किया खारिज

देश1 day ago

जानें-चंद्रयान-2 की खूबियां, कब उतरेगा चांद पर और क्या काम करेगा, सौरमंडल-चंद्रमा के ये तथ्य भी जानें 

टेक्नोलॉजी1 day ago

सैमसंग गैलेक्सी फोल्ड स्मार्टफोन ने पास किए सभी टेस्ट, ये होंगे फीचर्स, स्क्रीन का भी रखा गया है ख़याल

देश1 day ago

ISRO ने रचा इतिहास, `बाहुबली’ पर सवार होकर चांद की ओर निकल पड़ा अपना चंद्रयान-2, जानें बड़ी बातें

हेल्थ1 day ago

घुटनोंं के दर्द में राहत के लिए अपनाएं ये घरेलू नुस्खे

खेल1 day ago

गोल्डन गर्ल हिमा दास का पीएम मोदी को वादा, देश को और सम्मान दिलाने के लिए करूंगी कड़ी मेहनत

मनोरंजन1 day ago

‘सत्ते पे सत्ता’ की रीमेक में अब दीपिका पादुकोण नहीं, ऋतिक रोशन के साथ नजर आएंगी कैटरीना कैफ

बिज़नेस1 day ago

गिरावट के साथ शुरू हुआ बाजार, सेंसेक्स 263 और निफ्टी 84 अंक लुढ़का, रुपये में भी गिरावट 

वीडियो2 weeks ago

भाजपा विधायक राजेश मिश्रा की बेटी ने दलित युवक से की शादी, कहा-पिता से जान का खतरा, देखें वीडियो

देश3 weeks ago

नई नवेली दुल्हन ने वॉट्सएप पर लोकेशन भेज प्रेमी को बुलाया, पति देखता रहा और कर दिया ये बड़ा कांड

राज्य1 week ago

नशेबाज व गुंडा प्रवृत्ति का है साक्षी मिश्रा का कथित पति अजितेश, लिखता है क्षत्रिय, कई युवतियों से हैं संबंध

वीडियो3 weeks ago

देखें वीडियो : आमिर की बेटी इरा ने बॉयफ्रेंड संग किया रोमांटिक डांस, यूजर बोले-पिता का नाम बदनाम कर रही

हेल्थ3 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

राज्य2 weeks ago

दलित से शादी करने वाली BJP विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा के पति की पहले हो चुकी है सगाई, देखें फोटो

राज्य1 week ago

साक्षी मिश्रा के बाद इस लड़की ने भी की इंटरकास्ट शादी, पिता बोले-वापस आओ नहीं बन जाऊंगा मुसलमान

राज्य2 weeks ago

दलित से शादी करने वाली भाजपा विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा ने की पापा से बात, मिला ये जवाब 

मनोरंजन4 weeks ago

लखनऊ की मिजाजी शाम में महानायक अमिताभ ने की शूटिंग, भुट्टा खाते हुये आए नजर

देश3 weeks ago

हाई प्रोफाईल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, पांच महिलाओं सहित 9 गिरफ्तार, 7 मॉडलों को कराया मुक्त

राज्य3 weeks ago

पढ़ाई में बहन थी तेज, कमजोर करने के लिए भाई करने लगे गैंगरेप, इस तरह हुआ खुलासा

वीडियो3 weeks ago

अमरनाथ श्रद्धालुओं पर गिरने लगे पत्थर तो चट्टान बनकर खड़े हो गए जवान, देखें सांसे थमा देने वाला वीडियो

देश1 week ago

पिता ने पैर छूने झुकी गर्भवती बेटी का काटा गला, सामने आई हत्या की ये बड़ी वजह

राज्य2 weeks ago

सुहागरात के दिन पत्नी का वीडियो बना पति बनाता रहा अप्राकृतिक संबंध, पीड़िता ने पुलिस को सुनाई दास्तां

दुनिया3 weeks ago

और जब मगरमच्छ को न‍िगल गया अजगर, पकड़ने से लेकर खाने तक की तस्वीरें देख थम जाएंगी आपकी सांसे

राज्य3 weeks ago

आम जनता के लिए योगी ने शुरू की मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 1076, खुद करेंगे निगरानी, जानिए खास बातें

राज्य2 weeks ago

BJP विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा बोली, भाई पीटता था, मां दिखाती थी हॉरर किलिंग का डर, पिता भी…

मनोरंजन3 weeks ago

दंगल गर्ल जायरा वसीम ने बॉलीवुड को कहा अलविदा, बोलीं-अल्लाह के लिए छोड़ी फिल्मी दुनिया

Trending