Connect with us

दुनिया

डोनाल्ड ट्रप ने बताया कौन है अमेरिका का सबसे बड़ा दुश्मन

Published

on

नयी दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बार फिर ‘फर्जी’ संचार मीडिया को देश का सबसे बड़ा शत्रु बताया है। ट्रंप ने मीडिया द्वारा उत्तर कोरिया के साथ उनके हालिया सम्मेलन को ‘कम करके आंकने’ के प्रयास के बाद यह आरोप लगाया। ट्रंप ने बुधवार को ट्वीट कर कहा, फर्जी न्यूज को देखना काफी मजेदार होता है, खासकर एनबीसी और सीएनएन को। ये लोग उत्तर कोरिया के साथ समझौते को कम करने आंकने के लिए मजबूती से लड़ रहे हैं। 500 दिन पहले वे लोग इस समझौते की भीख मांग रहे थे-ऐसा बताया जा रहा था युद्ध हो जाएगा।

दोनों नेता उत्तर कोरिया के निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया पर सहमत

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, ट्रंप ने सिंगापुर में उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग उन के साथ ऐतिहासिक बैठक के बाद वाशिंगटन पहुंचने पर कहा, हमारे देश का सबसे बड़ा शत्रु फर्जी समाचार है जो कि मूर्खो द्वारा काफी आसानी से प्रकाशित किया जाता है। बैठक के दौरान, दोनों नेता उत्तर कोरिया के निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया पर सहमत हुए, हांलाकि इसकी समझौते की प्रक्रिया का भविष्य में पता चल पाएगा।

सैन्य अभ्यास को समाप्त करने का वादा

वहीं ट्रंप ने दक्षिण कोरिया के साथ सैन्य अभ्यास को समाप्त करने का वादा किया। सरकारी समाचार एजेंसी केसीएनए के अनुसार, ट्रंप ने उत्तर कोरिया के शीर्ष नेता को व्हाइट हाउस आने का निमंत्रण दिया और जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया। राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से ही ट्रंप रूढ़िवादी फॉक्स न्यूज को छोड़कर बाकी सभी अमेरिकी मीडिया संस्थानों की लगातार निंदा कर रहे हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दुनिया

ईरान में IRGC ने अमेरिकी जासूसी ड्रोन को गोली मारकर गिराया, वाशिंगटन ने नहीं की पुष्टि

Published

on

तेहरान। ईरान के इस्लामिक रेवोल्यूशनरी गार्ड (आइआरजीसी) ने अमेरिकी जासूसी ड्रोन को गोली मारकर गिराने का दावा किया है। यह ड्रोन कथित रूप से ईरान के हवाई क्षेत्र में उड़ रहा था। यह जानकारी स्थानीय मीडिया ने गुरुवार को दी।

वाशिंगटन की ओर से पुष्टि नहीं

इस्लामिक रिपब्लिक न्यूज एजेंसी की रिपोर्ट के मुताबिक, कोहममुबारक जिले के पास ईरान के हवाई क्षेत्र में प्रवेश करने के बाद नॉर्थरॉप ग्रुम्मन आर क्यू 4 ग्लोबल हॉक ड्रोन को आइआरजीसी ने मार गिराया है। हालांकि अभी तक वाशिंगटन की ओर से इसकी पुष्टि नहीं की गई है। लेकिन अमेरिकी प्रवक्ता ने जोर देकर कहा है कि ईरानी क्षेत्र में उनका कोई ड्रोन नहीं है।

हमलों के लिए जिम्मेदार कौन

ओमान की खाड़ी में दो टैंकरों पर हुए हमले के बाद तेहरान और वाशिंगटन के बीच बने तनाव के बीच यह घटना घटी। हालांकि यह अभी तक अस्पष्ट है कि इन हमलों के लिए कौन जिम्मेदार है। अमेरिका ने ईरान को हमले का दोषी ठहराया है और ईरान ने आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। उल्लेखनीय है कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पिछले साल मई महीने में परमाणु समझौते से अमेरिका को अलग कर लिया था और ईरान पर आर्थिक प्रतिबंध दोबारा लगा दिए थे। इसके बाद दोनों देशों के बीच तनातनी चल रही है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

दुनिया

डोनाल्ड ट्रम्प और शी जिनपिंग की जी-20 में मुलाकात से राहत की उम्मीद, इन मुद्दों दूर हुई चर्चा

Published

on

लॉस एंजेल्स। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की प्योंग यांग की अकस्मात यात्रा से ‘हतप्रभ’ राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हरकत में आ गए हैं। ओसाका में जी-20 देशों की बैठक से पहले शी जिनपिंग और उत्तर कोरियाई शासक किम जोंग की बातचीत का कोई एजेंडा घोषित नहीं किया गया है। न ही इन दोनों नेताओं ने अपनी शिखर वार्ता पर कोई प्रतिक्रिया ज़ाहिर की है लेकिन दुनिया की निगाहें सुर्खियों में रहे इन नेताओं पर टिक गई हैं। अमेरिकी स्टॉक मार्केट में फिलहाल इसके सुखद परिणाम सामने आ रहे हैं। टेक बहुल शेयर इंडेक्स ‘एस एंड पी 500’ बुधवार को एक प्रतिशत चढ़ गए।

गलतफहमियों को दूर किए जाने पर चर्चा की

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मंगलवार को दिनभर के अपने व्यस्त कार्यक्रम में शी जिनपिंग से टेलीफोन पर बात की और ओसाका में दोनों देशों के बीच ट्रेड युद्ध को लेकर मौजूदा गलतफहमियों को दूर किए जाने पर चर्चा की। उन्होंने फोन पर बातचीत के बाद ट्वीट कर आशा जताई कि अगले सप्ताह जापानी महानगर ओसाका में आयोजित जी-20 देशों के शिखर सम्मेलन में अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध पर बातचीत के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि ओसाका में वार्ता से पूर्व दोनों देशों के व्यापार प्रतिनिधि बातचीत करेंगे।
पिछली मई में दोनों देशों के बीच वार्ता में गतिरोध आने के बाद ट्रम्प ने चीन से आयातित 200 अरब डालर के चीनी उत्पादों पर 25 फीसदी सीमा शुल्क लगाने की धमकी दी थी। इस पर चीन ने यह कहकर कड़ा रुख अपनाया था कि अब बातचीत का सिलसिला अमेरिकी शुरुआत के बाद ही प्रारंभ होगा।

व्यापार घाटा कम नहीं कर पाया अमेरिका

उल्लेखनीय है कि ट्रम्प ने बीते मंगलवार को व्हाइट हाउस में दूसरी पारी के लिए फ़्लोरिडा के शहर ओरलैंडो में 20 हजार दर्शकों के सम्मुख राष्ट्रपति चुनाव-2020 की घोषणा की थी। ट्रम्प को यह मालूम है कि उनके हितैषी एक दर्जन मिड वेस्ट राज्यों में सोयाबीन की पैदावार करने वाले किसान चीन के साथ व्यापार युद्ध के कारण हताश-निराश हैं। ट्रम्प यह कभी नहीं चाहेंगे कि आगामी चुनाव से पहले व्यापार युद्ध विकराल रूप धारण करे। इसका दूसरा कारण यह भी है कि व्यापार युद्ध के बावजूद अमेरिका अपना व्यापार घाटा कम नहीं कर पाया है। ट्रम्प और किम जोंग उन के बीच हनोई में शिखर वार्ता अधूरी समाप्त होने के बाद अमेरिका और उत्तर कोरिया में दूरियां पैदा हो गई थीं। अमेरिका की हरसंभव कोशिश होगी कि वह इस सिलसिले में पहले की तरह चीन का सहयोग ले और कोरियाई द्वीप में शांति स्थापित हो।

कोरिया में पहली राजकीय यात्रा

व्हाइट हाउस के आर्थिक सलाहकार लैरी कुडोलव ने अमेरिका-चीन के बीच व्यापार वार्ता के फिर से शुरू होने को शुभ संकेत बताया। उन्होंने कहा कि गतिरोध की बजाय वार्ता प्रारंभ होना अच्छी बात है। चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग उत्तरी कोरिया के दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को प्योंग योंग पहुंचे। चीनी राष्ट्रपति की उत्तरी कोरिया में पहली राजकीय यात्रा है।
इससे पहले शी और किम जोंग पेचिंग और चीन-उत्तरी कोरियाई सीमावर्ती चीनी शहर दालियन में मिल चुके हैं। यों इन दोनों देशों के बीच 70 साल पुराने कूटनीतिक संबंधों की यह वर्षगांठ भी है। दोनों देशों के बीच मिसाइल प्रक्षेपण और संयुक्त राष्ट्र की ओर से आर्थिक प्रतिबंधों के बाद कोरियाई द्वीप में तनाव से दूरियां बढ़ गई थी। किम जोंग उन की चीनी राष्ट्रपति से पहली मांग आर्थिक प्रतिबंधों में ढील की गुज़ारिश करना होगा। जबकि चीन की कोशिश होगी कि पूर्वी एशियाई देशों में अपने नेतृत्व को आगे बढ़ा सकें। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

दुनिया

डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस की दूसरी पारी के लिए औरलैंडो में बजाया बिगुल, बनाई ये रणनीति

Published

on

लॉस-एंजेल्स। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने औरलैंडो (फ़्लोरिडा) में अपने चाहने वालों और रिपब्लिकन मतदाताओं से भरे एक स्टेडियम में व्हाइट हाउस की दूसरी पारी के लिए विधिवत चुनावी बिगुल बजा दिया। अमेरिकी संविधान के तहत मौजूदा राष्ट्रपति को अपनी दूसरी पारी के लिए चुनाव मैदान में उतरने के अधिकार प्राप्त है।

लाखों आव्रजकों को देश से बाहर निकालना है

उन्होंने बीस हजार उत्साहित दर्शकों की मौजूदगी में कहा कि उनकी दूसरी पारी के एजेंडे में पहली प्राथमिकता अमेरिका में अवैध रूप से बसे लाखों आव्रजकों को देश से बाहर निकालना है। ट्रंप ने आगे कहा कि इमीग्रेशन कस्टम प्रवर्तन निदेशालय (आईसीई) को अभी से अपने काम में जुटना होगा। हालांकि आईसीई के कार्यवाहक निदेशक मार्क मोगन ने फंड की कमी, सीमा पर आव्रजन शिविरों में बिस्तरों की कमी और स्टाफ की कमी की ओर ध्यान आकृष्ट किया है।

अवैध आव्रजन को बनाया था अपने चुनाव अभियान का मुख्य मुद्दा

पियु रिसर्च के अनुसार अमेरिका में दस लाख अस्सी हजार अवैध आव्रजक हैं, जिन्हें देश से बाहर किए जाने के लिए समय-समय पर प्रयास किए गए हैं। इनमें से करीब चार लाख अवैध आव्रजक पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल में निकाले गए थे। विदित हो कि ट्रम्प ने सन 2016  के राष्ट्रपति चुनाव में भी अवैध आव्रजन को अपने चुनाव अभियान का मुख्य मुद्दा बनाया था। इसके लिए मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाए जाने और अपेक्षित फंड के लिए दो बार फेडरल सरकार के कामकाज को ठप किया था। इस मुद्दे पर कांग्रेस की डेमोक्रेट बहुल प्रतिनिधि सभा आपत्ति जताती रही है और धन की मंजूरी देने कतराती रही है।।

ट्रम्प समर्थकों ने दावा

ट्रम्प ने पिछले राष्ट्रपति चुनाव 2016 में फ्लोरिडा में एतिहासिक जीत हासिल कर डेमोक्रेट उम्मीदवार हिलरी क्लिंटन को परास्त किया था। पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा भी राष्ट्रपति के दोनों चुनावों में इस बड़े राज्य से विजयी हुए थे। इतना ही नहीं रिपब्लिकन राष्ट्रपति जार्ज डब्ल्यू बुश ने भी फ्लोरिडा में जीत हासिल की थी। इस बीच ट्रम्प समर्थकों ने दावा किया है कि वह 17 राज्यों में बढ़त बनाए हुए हैं।  राष्ट्रपति ट्रम्प के विरुद्ध डेमोक्रेटिक पार्टी के अधिकृत उम्मीदवारी के लिए बीस संभावित प्रत्याशी मैदान में हैं। इनमें पूर्व उप राष्ट्रपति और मध्य मार्गी जोई बिडेन, समाजवादी बर्नी सैंडर्स, मैसाचुएट्स से हारवर्ड प्रोफेसर वारेन एलिज़ाबेथ, युवा और तेज़ तर्रार मेयर बूटिगेग तथा भारतीय मूल की कमला हैरिस मैदान में हैं।

26-27 जून को मियामी में हो रही है पहली बहस

संभावित डेमोक्रेट उम्मीदवारों को अपनी अधिकृत उम्मीदवारी के लिए डेमोक्रेट मतदाताओं के बीच घरेलू, विदेश और रक्षा नीति आदि पर अपनी श्रेष्ठता दिखानी होगी। इसके लिए पहली बहस 26-27 जून को मियामी में हो रही है। लेकिन न्यू कवीनपियाक यूनिवर्सिटी के एक सर्वे की मानें तो जोई बिडेन आज की तिथि में ट्रम्प की तुलना में नौ प्रतिशत अधिक अंकों के साथ आगे चल रहे हैं। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
देश38 mins ago

300 मीटर गहरी खाई में गिरी बस, 15 लोगों की मौत, 50 यात्री घायल, राहत व बचाव का काम जारी

देश1 hour ago

पश्चिम बंगाल में फिर हिंसा, दो गुटों के बीच हुई बमबारी, 2 लोगों की मौत, चार घायल

देश1 hour ago

सोनिया और राहुल गांधी के दबाव में किया था गठबंधन, इसके पक्ष में नहीं था मैं : एचडी देवेगौड़ा

राज्य2 hours ago

हमीरपुर : मोरंग लेने गए ट्रक ड्राइवर की 20 रुपये के लिए गोली मारकर हत्या, हंगामा

वीडियो2 hours ago

शूटिंग के दौरान मारपीट, अभिनेत्री ने भागकर बचाई जान, सुनाई आपबीती, देखें वीडियो

खेल3 hours ago

विश्व कप : शिखर धवन और भुवनेश्वर के बाद चोटिल हुए हरफनमौला खिलाड़ी विजय शंकर

मनोरंजन3 hours ago

संघ प्रमुख मोहन भागवत और CM योगी को गाली देना इस सिंगर को पड़ा महंगा, केस दर्ज

देश4 hours ago

एएन-32 विमान हादसा : एयरफोर्स की सर्च टीम को दुर्घटनास्थल से 6 शव और 7 लोगों के अवशेष मिले

बिज़नेस4 hours ago

सिंगापुर की डीबीएस बैंक ने वित्त वर्ष 2019-20 के लिए घटाई भारत की जीडीपी, सामने आई ये वजह

राज्य4 hours ago

पहले पत्नी और दो बेटियों को तलवार से काटा, फिर खुद फांसी पर झूला, ये है घटना की बड़ी वजह

टेक्नोलॉजी4 hours ago

वैज्ञानिकों ने विकसित किया पोर्टेबल सेंसर, आतंकी गतिविधियों से निपटने में मिलेगी मदद

वीडियो4 hours ago

राष्ट्रपति के अभिभाषण के दौरान मोबाइल पर व्यस्त रहे राहुल गांधी, मेज भी नहीं थपथपाई, देखें वीडियो

खेल4 hours ago

कोपा अमेरिका फुटबॉल टूर्नामेंट : अर्जेंटीना ने पैराग्वे के खिलाफ खेला 1-1 से ड्रॉ

खेल5 hours ago

विश्व कप : न्यूजीलैंड के खिलाफ हार के लिए दक्षिण अफ्रीकी कप्तान डू प्लेसिस ने इसपर मढ़ा दोष

देश5 hours ago

नर्मदा में 11 लोगों से भरी नाव पलटी, 6 लोगों को सुरक्षित निकाला, 5 लोग लापता

देश5 hours ago

राज्यपाल का ममता पर हमला, कहा-बंगाल को देश से करना चाहती हैं अलग, तभी लगवा रहीं ये नारे

हेल्थ5 hours ago

निपाह वायरस से बचाव के लिए स्वास्थ्य विभाग ने जारी किया अलर्ट, जानें इसके लक्षण

दुनिया5 hours ago

ईरान में IRGC ने अमेरिकी जासूसी ड्रोन को गोली मारकर गिराया, वाशिंगटन ने नहीं की पुष्टि

राज्य3 weeks ago

बसपा की तरफ से सपा प्रत्याशियों को हराने वाला लेटर वायरल, लिखी है ये बातें, जानें क्या है पूरा मामला

राज्य3 weeks ago

स्मृति के करीबी सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड : कांग्रेस नेता समेत हत्या के सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार

मनोरंजन4 days ago

भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर स्वरा भास्कर ने लगाई ये शर्त, कहा- मुझे क्या मिलेगा…

वीडियो2 weeks ago

नन्हें फैंस को धक्का देने पर सलमान खान ने खोया आपा, सिक्योरिटी गार्ड को जड़ा जोरदार थप्पड़, देखें वीडियो

बिज़नेस2 weeks ago

लगातार पांचवें दिन कम हुए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्या है आज की कीमत

बिज़नेस2 weeks ago

पाकिस्तान में महंगाई से जनता बेहाल, जानें प्याज और नींबू का दाम

देश4 weeks ago

कांग्रेस ने जारी किया अपना एग्जिट पोल, खुद को दिखाईं इतनी सीटें, भाजपा को बताया सत्ता से दूर

हेल्थ1 week ago

पनीर खाने से दूर होती हैं ये बीमारियां, जानें पनीर से होते हैं और कौन-कौन से फायदे?

राज्य2 weeks ago

पांडेय की जगह कौन होगा यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष? इन 8 नामों में लग सकती है किसी पर मोहर!

राज्य4 weeks ago

ढाई लाख से जीतकर भी हार गये सपा प्रमुख अखिलेश यादव, ये है मुख्य कारण

हेल्थ4 weeks ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

हेल्थ3 weeks ago

नए रिसर्च का दावा, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है ये आसान सा नुस्खा

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : नाश्ते में ऐसे बनाएं कच्चे केले के कटलेट, खाने में होते हैं बेहद स्वादिष्ट

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : इस वीकेंड घर में ऐसे बनायें मलाई कोफ्ता, जीत लेंगे सबका दिल

राज्य4 days ago

अयोध्या : भाई से दोस्ती रास न आने पर की थी मनोज शुक्ला की हत्या, प्रोफेसर का बेटा गिरफ्तार

मनोरंजन2 weeks ago

फिल्म आर्टिकल 15 के खिलाफ लामबंद हुआ ब्राह्मण समुदाय, लगाया गंभीर आरोप, जानें क्या है विवाद

देश3 weeks ago

मोदी सरकार में मंत्री बनने के लिए स्मृति सहित इन सांसदों को आया फोन, देखें लिस्ट

राज्य1 week ago

योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब बीएड डिग्री धारक भी बन सकेंगे प्राइमरी टीचर, पढ़ें 6 बड़े फैसले

Trending