Connect with us

दुनिया

चीन ने ब्लॉक किए भारत के टीवी चैनल और न्यूज वेबसाइट्स

Published

on

नई दिल्ली। 59 चीनी ऐप के भारत में बैन लगाए जाने के बाद अब चीन ने भारत के टीवी चैनलों और न्यूज वेबसाइट्स को ब्लॉक कर दिया है।

बीजिंग के राजनयिक सूत्रों के अनुसार, भारतीय टीवी चैनलों को चीन में आईपी टीवी के जरिए से एक्सेस किया जा सकता है। हालांकि, पिछले दो दिनों से आईफोन और डेस्कटॉप पर एक्सप्रेस वीपीएन काम नहीं कर रहा है।

वीपीएन एक ऐसा ताकतवर टूल है, जिसके जरिए कोई भी यूजर ब्लॉक की गई वेबसाइट को भी देख सकता है। लेकिन चीन ने एडवांस तकनीक के माध्यम से एक ऐसा फायरवॉल बनाया है, जो वीपीएन को भी ब्लॉक कर देता है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

दुनिया

नेपाल सियासी संकट: ओली का इस्तीफे से इनकार, पार्टी में विभाजन तय

Published

on

By

नई दिल्ली। नेपाल में सियासी संकट गहराता जा रहा है। शनिवार को होने वाली नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी की स्थायी समिति की बैठक टल गई है।

प्रचंड नहीं पहुंचे बैठक के लिए

नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के नेता पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली से मिलने नहीं पहुंचे हैं। इसी के साथ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी विभाजन की ओर बढ़ती दिख रही है। उधर ओली ने इस्तीफा देने से साफ इनकार कर दिया है।

शुक्रवार की बैठक फेल

इससे पहले शुक्रवार को प्रचंड और केपी ओली के बीच तीन घंटे बैठक तक बैठक हुई थी पर इसमेें दोनों के बीच कोई समझौता नहीं हुआ था।

अब सोमवार को मिलेंगे प्रचंड और ओली

शनिवार सुबह 9 बजे दोनों नेता एक बार फिर बैठक करने वाले थे। इसके बाद 11 बजे पार्टी की स्टैंडिंग कमेटी की बैठक होनी थी। लेकिन प्रचंड के न पहुंचने से बैठक टल गई। अब ये बैठक सोमवार 6 जुलाई को होगी।

क्या है पूरा मामला

बता दें कि मौजूदा केपी ओली और पूर्व प्रधानमंत्री प्रचंड दोनों ही नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष हैं। प्रचंड का गुट चाहता है कि केपी शर्मा कार्यकारी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दें और पार्टी के अपने तरीके से चलाने दें। लेकिन केपी शर्मा ओली कार्यकारी अध्यक्ष के पद से इस्तीफा नहीं देना चाहते हैं। इसी के चलते दोनों गुटों के बीच गतिरोध बढ़ता जा रहा है।

Continue Reading

दुनिया

मोदी ने दिखाया आईना तो तिलमिलाया चीन, कहा – हमें विस्तारवादी कहना गलत

Published

on

By

नई दिल्ली। लद्दाख के फॉरवर्ड पोस्ट पर सैनिकों को संबोधित करने के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सख्त संदेश में खुद को ‘विस्तारवादी राष्ट्र’ कहे जाने से चिढ़े चीन ने इस आरोप को बेबुनियाद बताया और कहा कि वे बातों को बहुत बढ़ा-चढ़ाकर पेश कर रहे हैं।

चीन की प्रतिक्रिया

चीन को इशारों में दिए गए इस संदेश पर बीजिंग की ओर से चीनी दुतावास के प्रवक्ता ने सख्त प्रतिक्रिया दी। चीनी दुतावास के प्रवक्ता जी रोंग ने कहा, “अपने 14 में से 12 पड़ोसी देशों के साथ सीमा का निर्धारण चीन ने शांतिपूर्ण बातचीत के जरिए किया है। हमने जमीनी सीमाओं को मैत्रीपूर्ण सहयोग में बदला है। चीन को ‘विस्तारवादी’ के तौर पर देखना बिल्कुल आधारहीन है और पड़ोसी देशों के साथ अपने विवादों को गढ़ने जैसा है।”

क्या बोले पीएम नरेंद्र मोदी

बता दें कि 15 जून को चीन के साथ झड़प में 20 जवानों की शहादत के बाद अचानक लद्दाख दौरे पर पहुंचे पीएम मोदी ने सैनिकों को संबोधित करते हुए बिना चीन का नाम लिए कहा, ”विस्तारवाद का युग समाप्त हो चुका है। यह युग विकासवाद का है। तेजी से बदलते हुए समय में विकासवाद ही प्रासंगिक है। विकासवाद के लिए अवसर है और विकासवाद भविष्य का आधार भी है।

मोदी ने कहा कि विस्तारवाद की जिद किसी पर सवार हो जाती है तो उसने हमेशा विश्व शांति के सामने खतरा पैदा किया है। और यह न भूलें इतिहास गवाह है। ऐसी ताकतें मिट गई हैं या मुड़ने को मजबूर हो गई है।”

 

Continue Reading

दुनिया

फिलीपींस ने चीन को चेताया, युद्धाभ्यास रोके वरना होंगे गंभीर परिणाम

Published

on

By

मनीला। चीन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बुरी तरह से घिरता दिख रहा है। पूर्वी लद्दाख के गलवान घाटी में हिंसक झड़प के बाद भारत के साथ स्थिति तनावपूर्ण है तो अब फिलीपींस ने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर चीन विवादित दक्षिण चीन सागर में अपनी सैन्य अभ्यास जारी रखता है तो वह ‘गंभीर प्रतिक्रिया’ करेगा।

फिलीपींस के विदेश सचिव तियोदोरो लोक्सिन जूनियर ने शुक्रवार को चीन को चेतावनी दी है कि अगर चीन विवादित दक्षिण चीन सागर में चीनी सैन्य अभ्यास जारी रखता है तो फिलीपींस गंभीर प्रतिक्रिया करेगा

विदेश सचिव लोक्सिन ने कहा कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) 1 जुलाई से पेरासेल द्वीप समूह के बाहर अभ्यास कर रही है और चीनी समुद्री अधिकारियों ने सभी जहाजों को युद्धाभ्यास के क्षेत्र में नेविगेट करने से रोक रखा है।

चीनी जहां सैन्य युद्धाभ्यास कर जा रहा है, वहां के नो-एंट्री जोन की जांच करने के बाद, लोक्सिन ने कहा कि पेरासेल से पानी बंद हो गया है, जिसका विएतनाम की ओर से दावा किया जाता है। अब फिलीपींस क्षेत्र पर अतिक्रमण की कोशिश न करे। हालांकि उन्होंने इस पर चिंता जरूर जाहिर की।

Continue Reading

Trending