Connect with us

दुनिया

दोहा एयरपोर्ट पर 10 विमानों की महिला यात्रियों के प्राइवेट पार्ट की जाँच पर ऑस्ट्रेलिया ने जताई नाराज़गी

Published

on

दोहा। कतर में दोहा एयरपोर्ट पर ऑस्ट्रेलिया जा रही महिला को शारीरिक जांच से गुजरना पड़ा. एयरपोर्ट पर बाथरूम में एक नवजात की लाश मिलने के बाद हड़कंप मच गया था, उसके बाद कतर से आस्ट्रेलिया जा रही फ्लाइट को रुकवाकर महिला यात्रियों की सघन जांच की गई थी. आरोप है कि महिलाओं को कपड़े उतारकर प्राइवेट पार्ट की जांच की गयी. ऑस्‍ट्रेलिया की विदेश मंत्री ने इस पर कड़ी आपत्ति जताई है. इसको लेकर दोनों देशों के बीच तल्खी देखी जा रही है। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री ने बुधवार को कहा, कतर के अधिकारियों ने महिलाओं के साथ इस व्यवहार पर खेद व्यक्त किया।

बता दें कि पिछले दिनों हमदर्द इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर कतर के अधिकारियों द्वारा महिलाओं को फ्लाइट से जबरन उतारकर उनके प्राइवेट पार्ट की जांच कराई गई थी. सरकारी वेबसाइट पर एक बयान जारी कर कहा गया है, उस जांच का उद्देश्य तात्कालिक रूप से भयानक अपराध के बाद अपराधियों को भागने से रोकना था, कतर सरकार इस कार्रवाई की वजह से यात्रियों के किसी भी पीड़ा, अवसाद अथवा उनके निजी अंगों की हुई जांच और उनके निजता के उल्लंघन के लिए खेद प्रकट करता है.

प्रधानमंत्री, शेख खालिद बिन खलीफा बिन अब्दुलअजीज अल थानी ने बयान में कहा कि इस मामले की “व्यापक व पारदर्शी” जांच की जाएगी. उन्होंने कहा कि कतर “देश के माध्यम से गुजरने वाले सभी यात्रियों की सुरक्षा और सहजता को सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध था.”

इस घटना के बाद आस्ट्रेलिया और कतर के बीच राजनयिक संबंधों में तल्खी आ गई थी. आस्ट्रेलिया ने इस कदम की तीखी आलोचना की थी और मिडिल ईस्ट के देश पर अपने देश के नागरिकों के साथ बुरा बर्ताव करने का आरोप लगाया था. ऑस्ट्रेलिया के विदेश मंत्री मारिज पायने ने संसद को बताया कि “कुल मिलाकर 10 विमान” की महिलाएं कतर के उस सर्च ऑपरेशन में शामिल थीं जिन्हें घोर परेशानी उटानी पड़ी और “अपमानजनक” बर्ताव का सामना करना पड़ा.

Trending