अमेरिका ने 12 चीनी कंपनियों को किया ब्‍लैक लिस्‍टेड तो तिलमिलाया चीन !

वर्ल्ड डेस्क. अमेरिका ने बहुत बड़ा कदम उठाया है। अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए 12 चीनी कंपनियां समेत 27 विदेशी कंपनियों को काली सूची में डाल दिया। अमेरिका ने इस कदम के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला दिया है।

 
bb
अमेरिका ने 12 चीनी कंपनियों को किया ब्‍लैक लिस्‍टेड तो तिलमिलाया चीन

वर्ल्ड डेस्क. अमेरिका ने बहुत बड़ा कदम उठाया है। अमेरिका ने राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए 12 चीनी कंपनियां समेत 27 विदेशी कंपनियों को काली सूची में डाल दिया। अमेरिका ने इस कदम के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला दिया है।

अमेरिका ने जिन 27 विदेशी कंपनियों को काली सूची में डाला है। इनमें चीनी कंपनियों के अलावा पाकिस्तान, रूस, जापान और सिंगापुर की कंपनियां भी शामिल हैं। अमेरिका ने इस कदम के पीछे राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला दिया है। इस संबंध के बारे में बात करते हुए अमेरिकी वाणिज्य मंत्री गिना एम रैमोंडो ने कहा कि इस कदम से अमेरिकी तकनीक की मदद से पाकिस्तान के असुरक्षित परमाणु या मिसाइल कार्यक्रम पर रोक लगेगी। चीनी सेना के आधुनिकीकरण में मदद करने वाली कंपनियों को भी प्रतिबंधित किया गया है।

वहीं अमेरिका के इस कदम का चीन ने विरोध किया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाओ लिजियान ने कहा चीन अमेरिका के इस बर्ताव का कड़ा विरोध करता है। प्रवक्ता ने कहा कि चीन पूरी कड़ाई से उन सभी देशों की ताइवान के साथ किसी भी नाम या रूप में आधिकारिक वार्ता का विरोध करता है जो चीन के कूटनीतिक साझीदार हैं। झाओ ने कहा कि अमेरिका को पूरी ईमानदारी से चीन के वन-चाइना सिद्धांत का पालन करना चाहिए। चीन और अमेरिका के संयुक्त वक्तव्य में तीसरा कोई पक्ष नहीं हो सकता है।