Tuesday, June 28, 2022
spot_img
Homeदेशइंदौर में 'अग्निपथ' योजना को लेकर हिंसा, लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन पर हंगामा,...

इंदौर में ‘अग्निपथ’ योजना को लेकर हिंसा, लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन पर हंगामा, उपद्रवियों ने पुलिस पर भी बरसाए पत्थर, पुलिस ने भांजी लाठियां

इंदौर। केंद्र सरकार की भारतीय सेना में भर्ती ‘अग्निपथ’ योजना का विरोध अब धीरे धीरे दूसरी जगह भी फैलता रहा है। शुक्रवार की सुबह इंदौर के लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन पर जमकर हंगामा हुआ। यहां केंद्र सरकार की भारतीय सेना में भर्ती के लिए लाई गई ‘अग्निपथ’ योजना के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने सैकड़ों युवा पहुंच गए। प्रदर्शनकारी यहां पर योजना का विरोध करते हुए ट्रेन रोकने पहुंचे थे। इस दौरान पुलिस भी आ गई। इसी बीच पुलिस ने युवाओं को समझाकर रवाना करने का प्रयास किया तो वे भड़क गए। इस पर पुलिस ने हल्हा बल प्रयोग किया तो उपद्रवियों ने पुलिस पर ही पत्थर बरसा दिए। भीड़ को खदेडऩे के लिए पुलिस ने आंसू गैस भी छोड़ी।

अग्निपथ योजना जमकर विरोध, लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन पर हंगामा

बता दें कि प्रदर्शनकारियों ने भागने के दौरान कुछ गाडिय़ों में भी तोडफ़ोड़ कर दी। हंगामे और पथराव की सूचना मिलते ही पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और अनेक थानों का पुलिस बल मौके पर बुलवाया गया। थोड़ी ही देर में पूरा क्षेत्र पुलिस छावनी नजर आने लगा। पुलिस की सुरक्षा के बीच ट्रेन को यहां रवाना किया गया।

अग्निपथ योजना जमकर विरोध, लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन पर हंगामा

पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह करीब आठ बजे सैकड़ों युवका लक्ष्मीबाई नगर के भगीरथपुरा रेलवे क्रासिंग पर पहुंच गए थे। इन छात्रों की योजना ट्रेन को इसी ट्रैक पर रोकने की थी। जैसे ही पुलिस को इस बात की सूचना मिली वह तुरंत ही मौके पर पहुंची। भारी संख्या में आस-पास के थानों का पुलिस बल यहां पहुंचाया गया। जैसे ही प्रदर्शनकारियों ने पुलिस को देखा, तो उन्होंने ट्रैक पर से पत्थर उठाए और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया।

पथराव के दौरान वहां से गुजर रही कुछ गाडिय़ों को भी नुकसान पहुंचा। पथराव के बाद पुलिसकर्मियों ने बल प्रयोग कर इन प्रदर्शनकारियों को ट्रैक पर से खदेड़ दिया। इस दौरान कुछ पुलिसकर्मियों को भी चोटें लगीं हैं। पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी और कुछ ही देर में स्थिति नियंत्रण में आ गई। इसके बाद पूरे क्षेत्र में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया और उपद्रव मचाने वाले प्रदर्शनकारियों की तलाश शुरू की गई।

चार ट्रेनें प्रभावित

लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन पर युवकों ने इंदौर ट्रेन को करीब सवा घंटा रोका और तोडफ़ोड़ करने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके। इंदौर रेलवे जनसम्पर्क अधिकारी के अनुसार चार ट्रेन प्रभावित हुई हैं। वाराणसी-इंदौर महाकाल एक्सप्रेस और दौंड-इंदौर 30 से 45 मिनिट देरी से आईं। रतलाम-महू और महू-इंदौर मेमू ट्रेन को रद्द किया गया है।

20 से अधिक हिरासत में

हंगामे के बाद जहां इंदौर के सभी रेलवे स्टेशनों और उनके आसपास पुलिस बल तैनात कर सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ा दी गई, वहीं पुलिस ने उपद्रव मचाने वालों की तलाश करते हुए 20 से अधिक को हिरासत में लिया। वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर अन्य की तलाश की जा रही है और सभी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बाणगंगा पुलिस के मुताबिक जो युवक पकड़ाए हैं, वह संभवत: उज्जैन शाजापुर के हैं, इनसे कड़ी पूछताछ की जा रही है।

महू के सेना भर्ती कार्यालय में प्रदर्शन करने पहुंचे युवा

उधर, गुरुवार देर रात महू में भी बड़ी संख्या में युवा पहुंच गए। जानकारी लगते बड़ी संख्या में पुलिस बल सहित आला अधिकारी भी मौके पर पहुंचे और युवाओं को समझाने का प्रयास करते रहे। गुरुवार देर रात शहर के साई मंदिर पर शाजापुर, मंदसौर, नीमच, खंडवा, इंदौर, उज्जैन जिले के युवाओं की महू पहुंचने की सूचना मिलते ही एसडीम अक्षत जैन, एडिशनल एसपी शशिकांत कनकने, एसडीओपी दिलीप चौधरी, महू, किशनगंज, बडगोंदा थाने के थाना प्रभारी सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। स्थानीय प्रशासन को सुबह से ही सूचना थी कि प्रदेश भर से बड़ी संख्या में युवा सेना भर्ती कार्यालय पहुंचकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। जिसको लेकर सुबह से ही पुलिस प्रशासन अलर्ट था।

3 बसों से शहर से भेजा बाहर

गुरुवार देर रात अलग-अलग जिलों से विरोध करने युवा महू पहुंचे थे, लेकिन स्थानीय प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए इन युवाओं को तीन बसों में बैठाकर शहर से बाहर ले गए। पूरे मामले में एसडीएम अक्षत जैन का कहना है कि जानकारी लगने के बाद से ही तीन थाना क्षेत्रों में धारा 144 लगा दी गई थी। इसके साथ ही विरोध करने वाले युवाओं को समझाइश देकर शहर से बाहर भेजा गया है। शुक्रवार को प्रदर्शन पर स्थानीय पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर बारीकी से नजर रखी जा रही है।

ट्रेन के कांच फूटे

लक्ष्मीबाई नगर रेलवे स्टेशन पर इंदौर से डोंडा ट्रेन को प्रदर्शनकारियों ने रोक लिया। इस पर भी उपद्रवियों ने पथराव किया। इससे ट्रेन के एक कोच के कांच फूट गए। उधर, रेलवे स्टेशन से खदेड़े गए प्रदर्शनकारी पूरे शहर में तितर-बितर हो गए। पुलिस ने पूरे शहर में प्रदर्शनकारियों की तलाश शुरू कर दी।

पूरे शहर में अलर्ट

शुक्रवार सुबह उपद्रव होने के बाद इंदौर पुलिस और इंदौर प्रशासन ने पूरे शहर में अलर्ट जारी कर दिया है। खास तौर पर पूरे शहर और देश में रेलवे स्टेशन पर हो रहे प्रदर्शन के बाद अब डा आंबेडकर नगर, मांगलिया, शिप्रा, राऊ, राजेंद्र नगर के रेलवे स्टेशनों पर अलर्ट जारी किया है। इन सभी जगहों पर पुलिसकर्मियों को भेजा गया है।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments