Friday, October 7, 2022
spot_img
Homeराज्यउत्तराखंडउत्तराखंड विधानसभा में बैकडोर भर्तियां निरस्त होंगी, एक्शन में अध्यक्ष रितु खंडूरी

उत्तराखंड विधानसभा में बैकडोर भर्तियां निरस्त होंगी, एक्शन में अध्यक्ष रितु खंडूरी

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा भर्ती प्रकरण के संबंध में जांच रिपोर्ट समिति द्वारा गुरुवार को देर रात्रि विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूड़ी भूषण को सौंप दी गई है। विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि जांच समिति के अध्यक्ष डीके कोटिया , एसएस रावत एवं अवनेंद्र सिंह नयाल ने उन्हें रिपोर्ट सौंप दी है। विधानसभा अध्यक्ष रितु खंडूड़ी ने विधानसभा भवन में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया।

रितु खंडूरी बनेंगी पहली महिला स्पीकर - Report Ring

 

रितु खंडूड़ी ने बताया कि जांच समिति ने अपनी रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें भर्तियों में कई अनियमिताओं को उजागर किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है क कि भर्तियों के लिए  किसी भी चयन समिति का गठन नहीं किया गया। भर्तियों के लिए न ही कोई विज्ञापन  निकाला और न ही कोई सार्वजनिक सूचा प्रकाशित की गई।

समिति का कहना कि व्यक्तिगत आवेदन पर नियुक्तियां कर दी गईं। बताया कि 2016 में 150, 2020 में छह और 2021 की  72 भर्तियों को निरस्त करने का प्रस्ताव तत्काल सरकार को भेजा जा रहा है। बताया कि अनुमोदन प्राप्त होते ही सभी नियुक्तियां तत्काल प्रभाव से निरस्त कर दी जाएंगी। उपनल द्वारा की गईं 22 भर्तियों को भी निरस्त कर दिया जाएगा।

इसके साथ ही, विधानसभा में 32 पदों के लिए मार्च में आयोजित भर्ती परीक्षा को भी निरस्त कर दिया गया है। भर्ती परीक्षा कराने वाली एजेंसी जांच के दायरे में है और इस भर्ती परीक्षा का अभी तक रिजल्ट घोषित नहीं किया गया है।  खंडूड़ी ने बताया कि भर्ती परीक्षा में विधानसभा सचिव मुकेश सिंघल की भूमिका भी संदिग्घ है और उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित भी किया गया है।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (UKSSSC) पेपर लीक के साथ ही विधानसभा बैकडोर भर्ती पर भाजपा सरकार की जमकर किरकिरी हो रही थी। सीएम धामी के हामी के बाद स्पीकर खंडूड़ी ने भर्तियों की निष्पक्ष जांच के लिए जांच कमेटी भी गठित की थी।बैकडोर भर्ती पर विपक्षी कांग्रेस भाजपा सरकार पर हमलावर हुई थी, लेकिन जब कांग्रेस के पूर्व विस स्पीकर कुंजवाल के कार्यकाल में भी भर्ती सामने आई तो कांग्रेस बैकफुट पर आ गई थी।

नियुक्तियां गलत हैं तो निरस्त होनी चाहिए : धामी

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मीडियाकर्मियों से कहा कि विधानसभा में नियुक्तियों से संबंधित मामला उनके सामने आया, उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष को पत्र लिखकर जांच करने का अनुरोध किया। बकौल धामी, मैंने स्पीकर से कहा था कि जांच में यदि नियुक्तियां गलत हैं तो उन्हें निरस्त किया जाना चाहिए।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments