Connect with us

Uncategorized

उन्नाव कांड की पूरी कहानी : 18 साल पहले पीड़ित व विधायक के परिवार में थी दोस्ती, फिर कुछ ऐसे हुई दुश्मनी

Published

on

लखनऊ। 18 साल पहले ऐसा भी दिन था जब उन्नाव की रेप पीड़ित का परिवार और आरोपित विधायक कुलदीप सेंगर के बीच गहरी दोस्ती थी लेकिन अब ऐसे हालात हैं कि पीड़ित के परिवार के कई लोगों को जान गंवानी पड़ गई। जब पहली बार कुलदीप सेंगर ने 2002 में विधानसभा का चुनाव लड़ा था, तब पीड़ित के पूरे परिवार उनके चुनाव में भरपूर मदद की थी। चुनाव जीतने के बाद ही कुलदीप सेंगर पीड़ित के परिवार से दूरियां बढ़ाने लगें। इसके बाद अनबन की शुरुआत हुई, जो इस सीमा तक पहुंच गई कि पीड़ित का पूरा परिवार बर्बाद हो गया।

एक कहावत है कि दूर की दुश्मनी ठीक लेकिन घर की दुश्मनी जान की आफत बन जाती है। यही स्थिति है आज पीड़ित के परिवार और आरोपित विधायक कुलदीप सेंगर की। उन्नाव जिले के एक ही गांव के रहने वाले पीड़ित के परिवार और दुराचार के आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के घर की दूरी का फासला भी चंद कदम का है।

15 साल पहले पीड़ित के एक ताउ की गांव में ही हुई थी हत्या

पीड़ित के पिता तीन भाई थे। इन भाइयों की पूरे इलाके में एक दबंग की छवि थी। इन पर कई अलग-अलग मुकदमे भी दर्ज थे। पीड़ित के एक ताउ की हत्या भी करीब 15 साल पहले एक विवाद में गांव में ही पीट-पीटकर कर दी गयी थी। पीड़ित का चाचा इस वक्त रायबरेली जेल में बंद है। उसी से मिलने के लिए रविवार को पीड़ित जेल जा रही थी। जबकि पप्पू सिंह पीड़ित के पिता थे, जिनकी आरोपित विधायक के भाई और उसके गुर्गों के हाथों पिटाई के बाद 2017 में मौत हो गई थी।

प्रधानी के चुनाव में दोनों परिवार आया था आमने-सामने

पहली बार विधायक बनने के बाद कुलदीप सिंह सेंगर जब तीनों भाइयों से किनारा करना शुरू किया। इसके बाद दोनों परिवारों के बीच दरार पड़ गई। धीरे-धीरे यह आपसी रंजिश में बदल गई। इसी बीच ग्राम प्रधान का चुनाव आ गया। उस चुनाव में विधायक सेंगर की मां चुन्नी देवी प्रधानी का चुनाव लड़ रही थीं। तब सेंगर को सबक सिखाने के लिए पीड़ित लड़की के ताऊ ने खुद प्रधानी का चुनाव लड़ने का फैसला किया। उसी समय पहली बार दोनों परिवार खुलकर दुश्मनी के मुड में आ गए। हालांकि चुनाव से पहले कुलदीप सिंह सेंगर ने पीड़ित के ताऊ के मुकदमों को हथियार बनाकर उसकी उम्मीदवारी खारिज करा दी थी। उसके बाद पीड़ित के परिवार ने अपने नजदीकी देवेंद्र सिंह की मां को चुनाव में उतार दिया। इस दौरान पीड़ित के परिवार और सेंगर परिवार के बीच झड़प भी हुई थी। बाद में विधायक सेंगर की तरफ से पुलिस ने महेश सिंह के खिलाफ हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया था।

आपसी दुश्मनी में पहला कत्ल पीड़ित के ताऊ का हुआ था। गांव में ही कुछ लोगों ने ईंट-पत्थरों से हमला कर उनकी हत्या कर दी थी। साजिशकर्ता के रूप  विधायक कुलदीप सेंगर पर ही आरोप लगा था। भाई की मौत के फौरन बाद पीड़ित लड़की का चाचा उन्नाव छोड़ कर गायब हो गया। उन्हें 2018 में दिल्ली में पकड़ा गया और अब उसी मामले में वे रायबरेली जेल में दस साल की सजा काट रहा है।

पीड़ित के पिता की भी हो चुकी है मौत

चार जून 2017 को पीड़ित ने आरोप लगाया कि विधायक सेंगर ने उसके साथ अपने घर में दुष्कर्म किया। इसके बाद विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सिंह और उसके साथियों ने पीड़ित लड़की के पिता को बुरी तरह पीटने के बाद पुलिस को सौंप दिया था। पुलिस ने आर्म्स एक्ट का मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज दिया था, जहां दो दिन बाद ही उनकी मौत हो गई। ये दोनों परिवारों के बीच रंजिश में हुई दूसरी मौत थी।

कई अदावत है आरोपित विधायक के साथ

पीड़ित के पिता और ताउ दोनों मारे जा चुके हैं। पीड़ित का चाचा हत्या की कोशिश के एक मामले में रायबरेली की जेल में दस साल की सजा काट रहा है और इसी चाचा की पत्नी और साली की भी अब उसी सड़क हादसे में मौत हो चुकी है। एक ताऊ की मौत के अलावा हर मौत और चाचा के जेल जाने को लेकर सीधे विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर आरोप लग रहे हैं। दुष्कर्म का आरोप भी विधायक पर ही है।

मामला परिवार उजड़ने और उजाड़ने तक का है

पीड़ित चाची भी इस मामले में विधायक सेंगर के खिलाफ अहम गवाह थीं, जबकि खुद पीड़ित लड़की की हालत नाजुक बनी हुई है।यह मामला सिर्फ दुष्कर्म तक सीमित नहीं है, बल्कि एक परिवार के उजड़ने और उजाड़ने तक पहुंच चुका है। कुलदीप सिंह सेंगर पहले तो धन और बल दोनों में गांव में पीड़ित परिवार के समकक्ष ही थे लेकिन अब काफी आगे निकल चुके हैं। इस कारण पीड़ित परिवार को तमाम मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Uncategorized

अगर आपका लिवर है बीमार तो आप पड़ सकते हैं परेशानी में, जानें इसे स्वस्थ रखने के उपाय

Published

on

नई दिल्ली। आपके शरीर में लिवर का अहम रोल है। अगर आपका लिवर बीमार पड़ जाए तो परेशानी में आ जाते हैं। यानि कि आपके शरीर में कई समस्याएं होने लगती हैं। लिवर से जुड़ी परेशानियों का सबसे बड़ा कारण अस्वस्थ जीवनशैली, खान-पान की खराब आदत है। इस लेख में हम आपको इससे जुड़े हुए तथ्य की जानकारी देंगे।

फिल्टर करने का काम करता है लिवर

शरीर की पांच सौ से अधिक गतिविधियों में लिवर की भूमिका होती है। शरीर के मेटाबॉलिज्म को ठीक रखने का काम लिवर का ही होता है। खाने से बनने वाली ऊर्जा को बनाए रखने से लेकर शरीर से अपशिष्ट पदार्थों को साफ करने का काम भी लिवर ही करता है। खून को शरीर का दर्पण कहते हैं और इस दर्पण को साफ रखने में भी लिवर की खास भूमिका होती है। हमारे रक्त से अपशिष्ट पदार्थों को फिल्टर करने का काम भी लिवर के ही जिम्मे है। ऐसे में लिवर में जरा सी भी परेशानी कई तरह की बीमारियों को न्योता दे सकती है।

कहीं आपका लिवर खतरे में तो नहीं

लिवर अंग और ग्रंथि दोनों है। यह सैकड़ों रासायनिक क्रियाओं में सहायता करता है, जो हमें जीवित रखने के लिए जरूरी है। इसके अलावा कई रसायनों का स्राव भी लिवर से होता है। लिवर शरीर के विभिन्न अंगों की अच्छी सेहत में भूमिका निभाता है, लेकिन लिवर की सेहत अगर ज्यादा बिगड़ती है तो उसकी भरपाई करना आसान नहीं होता। रोजमर्रा की भागदौड़ में अकसर हम अपने शरीर के लक्षणों पर ध्यान नहीं देते हैं। हालांकि, अलग-अलग रोगों के लक्षण अलग होते हैं, पर लिवर संबंधी रोगों में कुछ सामान्य लक्षण ऐसे होते हैं…

– त्वचा और आंखों का पीला पडऩा
– पेट या पैर की एडिय़ों के पास सूजन
– उल्टी आना
– भूख कम लगना
– बार-बार चक्कर आना
– खुजली महसूस होना
– गहरे रंग का पेशाब
– मल त्याग में खून आना

प्रमुख समस्याएं

हेपेटाइटिस
हेपेटाइटिस लिवर से जुड़ी सबसे बड़ी समस्या है। लिवर में होने वाले वायरल इंफेक्शन की वजह से हेपेटाइटिस होता है। इससे लिवर में सूजन आ जाती है और लिवर पूरी तरह खराब भी हो सकता है। हेपेटाइटिस पांच प्रकार का होता है- हेपेटाइटिस ए बी सी डी और ई। हेपेटाइटिस ए और ई आमतौर पर दूषित पानी और भोजन के सेवन से होता है। यह बच्चों और वयस्कों को अधिक होता है। उन क्षेत्रों में अधिक होता है, जहां भीड-भाड़ बहुत होती है और साफ-सफाई की उचित व्यवस्था नहीं होती। वहीं हेपेटाइटिस बी, सी, और डी संक्रमित व्यक्ति के रक्त अथवा अन्य द्रव्य पदार्थों के संपर्क में आने से होता है। इसमें टाइप ए और सी के संक्रमण को गंभीर माना जाता है, जो आगे चलकर लिवर सिरोसिस और कैंसर का कारण बन सकता है। टाइप ए और बी से बचाव के लिए टीकाकरण उपलब्ध है। टाइप सी और ई के लिए कोई टीकाकरण नहीं है।

लिवर सिरोसिस
लिवर सिरोसिस में लिवर स्थायी रूप से क्षतिग्रस्त हो जाता है। लिवर का आकार सिकुडऩे लगता है और वो सख्त होने लगता है। इस रोग में लिवर की कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं और उनकी जगह फाइबर तंतु ले लेते हैं। गलत खान-पान की आदतों और शराब के अत्यधिक सेवन से ये समस्या पैदा होती है। कई बार ज्यादा वसायुक्त और मांसाहारी खाने से भी ये समस्या पैदा हो सकती है। खून में कोलेस्ट्रॉल का बढऩा और कुछखास दवाओं के कारण भी यह समस्या होती है। इस समस्या के हद से बढऩे के बाद इसका उपचार सिर्फ लिवर ट्रांसप्लांट के रूप में सामने आता है।

लिवर कैंसर
लिवर में विकसित होने वाला कैंसर लिवर की कोशिकाओं को नष्ट कर देता है। लिवर कैंसर दो तरह से होता है। पहला, जो लिवर कोशिकाओं से ही शुरू होता है। दूसरा, जो दूसरे अंगों से शुरू होकर लिवर तक पहुंचता है। लिवर सिरोसिस, फैटी लिवर या हेपेटाइटिस का बढ़ जाना भी लिवर कैंसर का कारण हो सकता है। गहन जांच के बाद कैंसर रेडिएशन, कीमोथेरेपी, सर्जरी आदि से उपचार होता है। गंभीर मामलों में ट्रांसप्लांट भी किया जाता है।

पीलिया
यह सबसे आम समस्या है। इसमें त्वचा और आंखों का रंग पीला पड़ जाता है। हमारे शरीर में लाल रक्त कणिकाएं चार माह में अपने आप टूट जाती हैं। बिलिरूबिन इसके उप-उत्पाद के रूप में बनता है। खून से लिवर में जाता है और वहां गॉल ब्लेडर में शामिल होने वाले बाइल से मिल जाता है। वहां से यह पेशाब और मल के जरिए बाहर निकलता है। पर जब यह प्रक्रिया गड़बड़ाती है तो शरीर में बिलिरूबिन का स्तर बढ़ जाता है। दवाओं और खान-पान में सुधार से उपचार किया जाता है। पीलिया में लापरवाही जानलेवा भी बन सकती है।

फैटी लिवर
लिवर कोशिकाओं में वसा के जमने से फैटी लिवर की समस्या पैदा होती है। जरूरत से ज्यादा मात्रा में फैट जमा होने से लिवर के टिश्यू सख्त हो जाते हैं। फैटी लिवर से जुड़ी समस्या दो तरह की है। एक, एल्कोहॉलिक फैटी लिवर, जो शराब के ज्यादा सेवन से होता है। दूसरी, नॉन एल्कोहॉलिक फैटी लिवर, जो अन्य कारणों से होता है। यूं इसके स्पष्ट लक्षण सामने नहीं आते, पर कुछलोगों में बहुत अधिक थकान और लिवर का आकार बढऩे के तौर पर इसके लक्षण दिखते हैं। मोटापा, टाइप-2 डायबिटीज से पीडि़तों में इसकी आशंका अधिक होती है। ए्प्रिरन, स्टेरॉएड का अधिक सेवन करने वालों को भी यह हो सकता है।

साफ पानी पिएं और ताजी चीजें खाएं

शरीर को जो भी पोषक तत्व और ऊर्जा चाहिए, वो लिवर के जरिए ही मिलते हैं। यदि हम खराब क्वालिटी का संक्रमित या तीखा, तला-भुना खाते हैं, नशीले पदार्थों का सेवन करते हैं, तो इसका असर लिवर पर पड़ता है। गंभीर समस्या होने पर लिवर ट्रांसप्लांट का विकल्प है, पर यह महंगा है। इसकी नौबत ही ना आए, इसके लिए संतुलित भोजन और अच्छी जीवनशैली अपनाना जरूरी है। स्वस्थ लिवर के लिए जरूरी है कि मोटापा कम करें, साफ पानी पिएं, ताजी चीजें खाएं और किसी भी तरह के नशीले पदार्थों और दवाओं का इस्तेमाल ना करें। https://www.kanvkanv.com

Continue Reading

Uncategorized

विश्व के 10 सबसे महंगे स्थानों में शुमार है दिल्ली का दिल कनॉट प्लेस, मिला ये स्थान

Published

on

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी का दिल कनॉट प्लेस (सीपी) वैश्विक स्तर पर शीर्ष 10 सबसे महंगे कार्यालय बाजारों में से एक है। वैश्विक स्तर पर कार्यालयों की किराया लागत की निगरानी करने वाली अमेरिकन कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में यह आंकड़ा जारी किया है। रियल एस्टेट परामर्श फर्म सीबीआरई ने बुधवार को अपनी वार्षिक सर्वेक्षण रिपोर्ट में कहा कि दिल्ली का कनॉट प्लेस किराये के मामले में विश्वभर में नौवां सबसे महंगा स्थान है। रिपोर्ट के अनुसार, नई दिल्ली के सीपी में कार्यालय अधिभोग की लागत 143.97 डॉलर प्रति वर्ग फुट है।
रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई का बांद्रा कुर्ला कॉम्प्लेक्स (बीकेसी) और नरीमन पॉइंट सेंट्रल बिजनेस डिस्ट्रिक्ट क्रमशः 27 वें और 40 वें स्थान पर है। बीकेसी का वर्तमान वार्षिक मुख्य किराया 90.67 डॉलर प्रति वर्ग फुट और नरीमन प्वाइंट का अधिभोग मूल्य  68.38 डॉलर प्रति वर्ग फुट है।

विश्व के दस सबसे महंगे बाजार

  1. हांगकांग (सेंट्रल), हांगकांग 322.00 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  2. लंदन (वेस्ट इंड), यूनाइटेड किंगडम 222.70 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  3. हांगकांग(कोलून) हांगकांग 208.67 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  4. न्यूयॉर्क (मिडटाउन-मैनहॉटन), अमेरिका 196.89 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  5. बीजिंग(फिनायंस स्ट्रीट), चीन 187.77 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  6. बीजिंग (सीबीडी), चीन 177.05 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  7. न्यूयॉर्क  (मिडटाउन-साउथ मैनहॉटन), अमेरिका 169.86 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  8. टोक्यो (मरुनौची / ओटेमाची), जपान 167.82 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  9. नई दिल्ली (कनॉट प्लेस-सीबीडी), भारत 143.97 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
  10. लंदन (सीटी), यूनाइटेड किंगडम 139.75 डॉलर प्रति वर्ग फुट।
उल्लेखनीय है कि सीबीआरई समूह एक अमेरिकी वाणिज्यिक अचल संपत्ति सेवाओं और निवेश फर्म है । यह दुनिया में अपनी तरह की सबसे बड़ी कंपनी है। सीबीआरई सेवाओं, लेनदेन और परियोजना प्रबंधन सहित एकीकृत सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करता है। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

Uncategorized

मानसून में इस तरीके से खाएं जामुन, नियंत्रित होगा ब्लड शुगर और बढ़ती उम्र का प्रभाव

Published

on

नई दिल्ली। मानसून ने दस्तक दे दी है। क्यों न इस मौसम में जामुन खाने का मजा लिया जाए। जामुन में नमक डालकर खाना लगभग सभी लोग पसंद करते हैं। लेकिन आपको बता दें कि इसके अलावा भी आप अन्य तरीकों से स्वाद का मजा ले सकते हैं। ऐसा करना आपके स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक है। यह ब्लड शुगर को कंट्रोल करने के साथ स्किन पर बढ़ते उम्र के प्रभाव को रोकने में भी मदद करता है।

जामुनी की तीन रेसिपी

जामुन जैम

सामग्री : बीज रहित जामुन- 2 कप, शक्कर- 150 ग्राम, नींबू का रस 2 बड़े चम्मच या साएट्रिक एसिड 1/4 छोटा चम्मच।
ऐसे बनाएं : पैन में कटे जामुन व आधा कप पानी मिलाकर मंद आंच पर जामुन के नर्म होने तक पका लें। अब शक्कर मिलाकर मध्यम आंच पर चलाते हुए पकाएं। जब मिश्रण गाढ़ा हो जाए तो नींबू का रस या साएट्रिक एसिड मिलाएं। इसे गरम रहते ही चौड़े मुंह के साफ सूखे जार में भरें। ठंडा होने के बाद जामुन के टेस्टी व हैल्दी जैम को ब्रेड -टोस्ट या पराठों पर लगाकर खाएं।

जामुन आइसक्रीम

सामग्री : जामुन का गूदा- 1 कप, शक्कर- 1/4 कप, वनीला आइसक्रीम- 1/2 किलो।
ऐसे बनाएं :  एक ब्लेंडिंग जार में जामुन का गूदा व शक्कर मिलाकर बारीक पीस लें। इसमें वनीला आइसक्रीम मिक्स करके एकसार होने तक फेंटें। कंटेनर में डालकर फ्रीजर में 3-4 घंटे के लिए जमने रख दें। आसान व स्वादिष्ठ जामुन आइसक्रीम तैयार है।

जामुन का हलवा

सामग्री: घी- 1 बड़ा चम्मच, बीज रहित जामुन- 1 कप, शक्कर- 1/2 कप, मावा- 3/4 कप, कतरे मेवे- 50 ग्राम, पिसी इलायची- 1/4 छोटा चम्मच।
ऐसे बनाएं : जामुन को हल्का पीस लें। घी गर्म करके पिसे जामुन डालकर 3-4 मिनट तक भूनें। अब शक्कर मिलाकर चलाते हुए पकाएं। फिर मावा व इलायची मिलाकर गाढ़ा व एकसार होने तक पकाएं। स्वादिष्ठ जामुन का हलवा तैयार है। ऊपर से कतरे मेवे डालकर सर्व करें।

हार्ट स्ट्रोक का खतरा घटाता है जामुन

डायटीशियन ज्योति शर्मा के मुताबिक,मधुमेह रोगियों के लिए जामुन बेहद फयदेमंद होते हैं। यह इंसुलिन को नियंत्रित रखते हैं।
जामुन की गुठलियों को सुखाकर उसका पाउडर बना लें। इसे गुनगुने पानी से खाली पेट 1 चम्मच लें। शुगर लेवल ठीक रहेगा।
जामुन में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं। यह एंटी एजिंग भी होते हैं।
हृदय रोगियों के लिए जामुन खाना फायदेमंद होता हैं। ये रक्त को पतला करने में मदद करते हैं, जिस कारण ब्लॉकेज और हार्ट स्ट्रोक की आशंका कम होती है।
जामुन का सेवन कैंसर से बचाने में भी मददगार है। इसके साथ ही यह याद्दाश्त बढ़ाने का भी काम करता है।

Continue Reading
उत्तर प्रदेश7 hours ago

बलरामपुर : भोजन कर लौट रही थी बालिका, तेंदुआ ने बना लिया निवाला

उत्तर प्रदेश7 hours ago

कन्नौज: बैंक की लापरवाही से किसान का नुकसान हुआ तो बैंक के विरुद्ध होगी कार्रवाई

उत्तर प्रदेश7 hours ago

श्रावस्ती : बारिश ने खोली गड्ढा मुक्त सड़कों की पोल, पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

उत्तर प्रदेश8 hours ago

CM योगी आदित्यनाथ और पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रदेश के पहले बायो फ्यूल प्लांट का किया शिलान्यास

उत्तर प्रदेश8 hours ago

भारतीय किसान यूनियन ने महापंचायत कर भरी हुंकार, मांगों को लेकर किसानों ने किया धरना-प्रर्दशन

उत्तर प्रदेश8 hours ago

कन्नौज : बदहाल प्रबंधन देख डीएम ने मांगा स्पष्टीकरण, दी कड़ी चेतावनी 

उत्तर प्रदेश8 hours ago

कन्नौज : धर्मेंद्र को एक बार फिर कन्नौज विकास खण्ड का अतिरिक्त प्रभार 

देश8 hours ago

और जब ‘…खलनायक मैं हूं’ गीत पर BJP के ‘बल्लामार’ विधायक ने लगाए ठुमके, देखें वीडियो-कांग्रेस बोली…

देश10 hours ago

फेसबुक पर दोस्ती : युवक ने बुलाया मिलने तो होटल में ले गई युवती, फिर कर डाला ऐसा कांड

बिज़नेस11 hours ago

सऊदी की तेल कंपनी पर हमले के बाद भारत में पेट्रोल-डीजल के दामों में जबरदस्‍त उछाल, जानिए क्या है रेट

हेल्थ11 hours ago

अगर आप चाहते हैं लंबी आयु, तो लेना शुरू करे ये ‘एंटी एजिंग फूड्स’

उत्तराखंड11 hours ago

प्रेमिका की हत्या करने के बाद युवक को सता रहा था ऐसा डर, उठा लिया खौफनाक कदम

खेल11 hours ago

विनेश फोगाट का धमाका, टोक्यो ओलंपिक 2020 में क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय पहलवान बनीं

वीडियो12 hours ago

मोदी को ‘फादर ऑफ कंट्री’ बता ट्रोल हुईं अमृता फडणवीस, देंखे वीडियो

देश12 hours ago

रेलवे कर्मचारियों की बल्ले-बल्ले : मोदी सरकार देगी 78 दिनों का बोनस, पढ़ें-कैबिनेट के अन्य बड़े फैसले

मनोरंजन12 hours ago

शादी से पहले ही दो बच्चों के पिता थें जावेद अख्तर, शबाना आजमी के साथ था इनका…

दुनिया12 hours ago

मोदी-चिनफिंग की बातचीत में कश्मीर नहीं होगा मुख्य विषय 

हेल्थ14 hours ago

मधुमेह रोगियों के लिए खास खबर, ये लक्षण दिखते ही तोड़ दें व्रत

हेल्थ3 weeks ago

रोजाना सुबह खाली पेट करें किशमिश का सेवन, ये 6 फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

खेल2 weeks ago

पत्नी ने शेयर की फोटो तो अश्विन बोले-‘बंद करो ये सब, अब और बर्दाश्त नहीं होता’

देश4 weeks ago

अपनी पत्नी व बच्चों के लिए इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए हैं अरुण जेटली

उत्तर प्रदेश3 weeks ago

योगी सरकार ने नए सिरे से नियुक्त किए जिलों के प्रभारी मंत्री, जानें-किसे मिली कहां की जिम्मेदारी

देश3 weeks ago

सीतामढ़ी : नई डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने संभाला पदभार, बैठक कर अधिकारियों को दिये ये सख्त निर्देश

टेक्नोलॉजी3 weeks ago

अब सिर्फ ऐसे डेढ़ लाख में Alto और ढाई लाख में खरीदें Swift कार, यहां चल रहा है शानदार ऑफर

हेल्थ2 days ago

बैली फैट को कम करने में अंडा है बेहद कारगर, अपनाएं ये रेसिपी

उत्तर प्रदेश1 week ago

लखनऊ में युवती ने की खुदकुशी, मरने से पहले वाट्सअप पर स्टेटस अपडेट कर लिखी ये बात

देश3 weeks ago

महिला ने दिया सांप के बच्चों को जन्म, करती है बेटों की तरह परवरिश, पढ़ें हैरान करने वाली ये रिपोर्ट

देश6 days ago

गणपति विसर्जन के दौरान बड़ा हादसा, नाव पलटने से 11 लोगों की मौत, देखें हादसे का लाइव वीडियो

दुनिया4 weeks ago

पति के बेइंतहा प्यार से परेशान हुई पत्नी, मांगा तलाक, अदालत में कहा-कभी झगड़ते ही नहीं

हेल्थ1 week ago

आयरन की ओवरडोज लेने से पहले जान लें ये बातें, नहीं तो शरीर को पहुंच सकता है नुकसान

देश3 weeks ago

विधायक ने पत्नी के साथ बनाया बेडरूम में निजी वीडियो, हो गया वायरल, आप भी देखें

देश2 weeks ago

मसाज पार्लर में पुलिस-महिला आयोग की LIVE रेड, वीडियो में देखें कैसे चल रहा था जिस्म का गंदा खेल

टेक्नोलॉजी2 weeks ago

विक्रम लैंडर से ऑर्बिटर हो रहा कनेक्ट, वैज्ञानिक संपर्क साधने में जुटे, पढ़ें और क्या बोलें इसरो चीफ

दुनिया3 weeks ago

लड़के ने की अंतरंग फोटो की डिमांड, लड़की ने भी मानी बात, भेजी ऐसी फोटो देख कर हो गया हैरान

लाइफ स्टाइल3 weeks ago

ललितपुर में नींबू का कारोबार और आंटी के पराठे : घुमक्कड़ अम्बुज पार्ट-2

देश6 days ago

जिस्म के गंदे धंधे का पर्दाफाश : मीनू कार्ड में लिखा था लडकियों के साथ हर पोजिशन का रेट, देखें लाइव वीडियो

Trending