Connect with us

टेक्नोलॉजी

चीनी एप्स पर बैन पर ब्लॉक नहीं, जानिए वजह

Published

on

नई दिल्ली। भारत सरकार ने सोमवार को चीन के टिक- टॉक (TikTok) समेत 59 एप्स पर बैन जरुर लगा दिया है लेकिन अभी इन्हें ब्लॉक नहीं किया गया है। इनमें से कई एप्स एप्पल 4 एप स्टोर और प्ले स्टोर्स पर मौजूद हैं। हालांकि TikTok एप को गूगल प्ले स्टोर और एप्पल एप स्टोर से हटा लिया गया है।

सभी फीचर्स कर रहे काम

चीनी एप्स बैन तो किए गए हैं, लेकिन अब तक ये पूरी तरह से ब्लॉक नहीं किए गए हैं। यानी अगर जिनके पास इन 59 में से कोई भी एप है तो वो इसे यूज कर रहे हैं और इनके सभी फीचर्स काम भी कर रहे हैं।

एप्स पर बैन अस्थाई

ध्यान देने वाली बात यह है कि अब तक सरकार ने ये नहीं कहा है कि इन एप्स को बैन हमेशा के लिए किया गया है। यानी एप्स पर बैन अस्थाई है और इसे वापस भी लिया जा सकता है।

कंपनियों पर नहीं पड़ेगा ज्यादा असर

एप बैन करने के अंदर ब्लॉक भी आता है, लेकिन कई बार सिर्फ एप बैन तक ही बात रूक जाती है। इससे कंपनियों पर उतना ज्यादा असर नहीं पड़ता है जितना एप ब्लॉक होने के बाद पड़ेगा। क्योंकि थर्ड पार्टी वेबसाइट से अभी भी इन एप्स को लोग डाउनलोड कर रहे हैं।

टेक्नोलॉजी

फिर बढ़ें रेडमी 8 स्मार्टफोन के दाम, जानिए क्या है अब नई कीमत और इसके फीचर्स

Published

on

नयी दिल्ली। एक बार फिर रेडमी 8 स्मार्टफोन की कीमत में बढ़ोतरी की गई है। भारत में पिछले साल ये फोन 7,999 रुपये की शुरुआती कीमत में लांच किया गया था। अब ग्राहक इस फोन को 9,799 रुपये में खरीद सकेंगे। हैरान करने वाली बात यह है कि पिछले साल अक्टूबर में लॉन्च किए गए इस स्मार्टफोन की कीमत में अभी तक कुल चार बार इजाफा किया जा चुका है। कंपनी ने इस बार कीमत में 300 रुपये की बढ़ोत्तरी की है। इससे पहले फोन की कीमत 9,499 रुपये थी। वहीं एक बार फिर से हुआ यह इजाफा ​यूजर्स को थोड़ा निराश कर सकता है।

Redmi 8 के स्पेसिफिकेशन्स

डुअल-सिम (नैनो) सपोर्ट वाला ये स्मार्टफोन एंड्रॉयड 9 पाई बेस्ड MIUI 10 पर चलता है। मिली जानकारी के मुताबिक इसमें एंड्रॉयड 10 का भी अपडेट मिलना शुरू हो गया है। इस फोन में 4GB रैम और ऑक्टा-कोर क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 439 प्रोसेसर के साथ 6.22-इंच HD+ डॉट नॉच डिस्प्ले दिया गया है।

Continue Reading

टेक्नोलॉजी

अब जियोमीट देगा जूम को टक्‍कर, वीडियो कांफ्रेंसिंग बिल्‍कुल मुफ्त

Published

on

By

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आत्‍मनिर्भर भारत अभियान का असर अब दिखने लगा है। रिलायंस के डिजिटल प्‍लेटफॉर्म्‍स जियो ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए जूम का देशी विकल्‍प जियोमीट (JioMeet) ऐप लॉन्‍च कर दिया।

जियो ने अपने नए एचडी वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप जियोमीट को आमजन के इस्तेमाल के लिए भी ओपन कर दिया है। जियोमीट के उपयोग के लिए यूजर्स को कोई शुल्क का भुगतान भी नहीं करना होगा, ये बिल्‍कुल मुफ्त है।

दरअसल रिलायंस जियो के जियोमीट ऐप पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए अब किसी इनवाइट कोड की जरूरत भी नही पड़ेगी। जियोमीट ऐप पर 100 से ज्‍यादा यूजर्स एक बार में वीडियो कांफेंसिंग के जरिए जुड़ सकते हैं। जियोमीट ऐप लगभग सभी तरह के डिवायस पर बखूबी काम करता है।

जियोमीट ऐप मीटिंग शेड्यूल, स्क्रीन शेयर जैसे आकर्षक फीचर्स से लैस है। इस ऐप में कांफ्रेंसिंग होस्ट को म्यूट और अनम्यूट जैसी पॉवर भी दी गई है। दरअसल लॉकडाउन में बहुत से लोग वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं। ऐसे में जियोमीट ऐप एक अच्छा और बेहतर विकल्प साबित होगा, जो वीडियो कांफ्रेंसिेंग बाजार में जूम ऐप को सीधी टक्कर देगा।

उल्‍लेखनीय है कि जियोमीट ऐप को गूगल प्ले स्टोर या ऐप्पल स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। ये ऐप एंड्रायड और ऐप्पल पर समान रूप से काम करता है। इसके साथ ही जियोमीट माइक्रोसॉफ्ट विंडोस को भी सपोर्ट करता है। यूजर्स इसे डेस्कटॉप या लेपटॉप पर भी डाउनलोड कर सकते हैं।

Continue Reading

टेक्नोलॉजी

चीन को जोरदार झटका:  Tik Tok के बैन से 6 बिलियन डॉलर का नुकसान

Published

on

By

नई दिल्‍ली। मोदी सरकार ने जब से 59 चीनी एप्स को बैन किया है, तब से ही चीन तिलमिला गया है। क्योंकि महज टिक टॉक Tik Tok पर ही बैन लगाये जाने से चीन को हर दिन करोड़ों का नुकसान हो रहा है।

अब इसको लेकर चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने खुद ये लिखा है कि चीन को इससे भारी नुकसान होगा।

6 बिलियन डॉलर का नुकसान

ग्लोबल टाइम्स ने ट्वीट किया है कि पिछले महीने भारत और चीनी सैनिकों के बीच घातक सीमा झड़प के बाद भारत सरकार ने Tik Tok सहित 59 चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगा दिया। इस फैसले से चीनी इंटरनेट कंपनी ByteDance जो Tik Tok की भी मदर कंपनी है उसको 6 बिलियन डॉलर का नुकसान हुआ है।

भारत से होती थी मोटी कमाई

2019 में ByteDance का दुनिया भर में रेवन्यू 1.33 लाख करोड़ रुपए रहा और इसमें भारत की हिस्सेदारी महज 43.7 करोड़ रुपए रही । भारत कंपनी के लिए दूसरा सबसे बड़ा बाजार है।

अमेरिका में लगे डेटा चोरी के आरोप

कंपनी अमेरिका से भी जमकर कमाई करती थी। इसका एक बड़ा कारण टिकटॉक था। लेकिन फरवरी के बाद सब बदल गया, क्योंकि फरवरी में टिक टॉक पर डेटा चोरी के कारण बैन लगा दिया गया।

अमेरिका से 650 करोड़ रेवेन्यू

अमेरिका से कंपनी को 650 करोड़ का रेवेन्यू मिला था। वहीं, चीन से कंपनी को 2500 करोड़ रुपए का रेवेन्यू मिला।

Continue Reading

Trending