Connect with us

राज्य

बिहार की दुर्दशा के लिए जिम्मेदार कौन, जनता या सरकार?

Published

on

संतोष राज पांडेय

यदि आपको बिहार की स्थिति समझनी है तो कभी फुर्सत में समय निकालकर दोपहर 1-1:30 बजे नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म संख्या 14 पर जाइये ! आप में से बहुत लोगों ने यह दृश्य कभी नहीं देखा होगा । प्लेटफार्म के आगे और पीछे साइड सैंकड़ों लोग लाइन में लगे रहते हैं । भीड़ इतनी ज़बरदस्त कि उसे संभालने और किसी अप्रिय घटना को रोकने के लिए RPF के कई जवान तैनात रहते हैं । यह भीड़ बिहार के उन गरीब व्यक्तियों कि रहती है जो बिहार-संपर्क क्रांति एक्सप्रेस के सामान्य (जनरल) डिब्बे में चढ़ने आये होते हैं । 2:30 पर जो ट्रेन खुलती है उसके जनरल डिब्बे में चढ़ने भर कि जगह मिल जाये इसलिए ये लोग सुबह 10-11 बजे से ही लाइन लगाना आरम्भ कर देते हैं । इनका गंतव्य सीवान,छपरा, सोनपुर, मुजफ्फरपुर,सहरसा, समस्तीपुर एवं दरभंगा रहता है । RPF कि मौजूदगी के बावजूद मार-पीट, भगदड़, लाठीचार्ज बहुत ही सामान्य है ।

हर डब्बे में कम से कम 250 लोग

जनरल डिब्बे की क्षमता 100 लोगों की होती है, परन्तु हर डब्बे में कम से कम 250 लोग तो अवश्य रहते हैं । एक सीट पर चार कि जगह आठ लोग बैठते हैं तो नौवां आ कर कहता है, “थोड़ा घुसकिये जी, आगे-पीछे हो कर बैठिएगा तो थोड़ा जगह बनिए जाएगा । शौचालय से ले कर पायदान तक एक भी जगह खाली नहीं रहता । यदि आप एक बार अंदर चले गए तो शायद शौचालय जाने के लिए ऎसी जद्दोजहद करनी होगी कि शायद आधा-एक घंटा इसी में निकल जाए । यही स्थिति प्रायः बिहार जाने वाली सभी ट्रेन में रहती है – वैशाली एक्सप्रेस, विक्रमशिला एक्सप्रेस, सम्पूर्ण क्रांति एक्सप्रेस, स्वतंत्रता सेनानी एक्सप्रेस, महाबोधि एक्सप्रेस इत्यादि । यदि आप दिल्ली में नहीं रहते तो कोई बात नहीं । मुंबई, इंदौर, जालंधर, सूरत, अहमदाबाद, बैंगलोर एवं पुणे से जो ट्रेनें बिहार जाती हैं, आप उनमें भी यही स्थिति पाएंगे ।

बिहार में आपके लिए कुछ नहीं

बिहार में नौकरी नहीं है । यदि आप बिहार सरकार की नौकरी नहीं कर रहे तो बिहार में आपके लिए कुछ नहीं है । उद्योग का नामोनिशान नहीं है । आप मजदूर हों या मैकेनिक, अकाउंटेंट हों या मैनेजर, इंजीनियर हों या वैज्ञानिक, बिहार में आपके लिए कुछ नहीं है । यहां तक कि खेती करने वाले मजदूरों को भी पंजाब और हरयाणा आ कर बड़े किसानों के यहाँ मजदूरी करनी पड़ती है । दिल्ली में रिक्शा चलाने वाले, कंस्ट्रक्शन लेबर, इधर-उधर काम करने वाले मजदूर – अधिकतर बिहार के होते हैं । यही हाल देश के अन्य शहरों में है विशेष रूप से गुजरात, महाराष्ट्र, मध्य-प्रदेश और पंजाब ।

उद्योगों एवं नौकरियों पर क्रूरता से प्रहार

बिहार को सुनियोजित ढंग से ख़तम कर दिया गया । बिहार को जातिवाद की आग में सालों जलाया गया, गुंडागर्दी और रंगदारी को बेलगाम होने दिया गया, सभी उद्योगों एवं नौकरियों पर क्रूरता से प्रहार किया गया । प्रहार ऐसा कि आज तक बिहार नहीं उभर पाया है । सामजिक न्याय और समाजवाद के नाम पर लोगों को कहा गया कि सड़क और बिजली का कोई काम नहीं क्यूंकि सड़क पर गाड़ियां अमीरों कि चलती हैं और बिजली से मौज-मस्ती अमीरों के घर में होता है । यूनियन और गुटबाजी कर के सारे चीनी मिल और उद्योगों को बंद करा दिया गया । उद्योगपति, इंजीनियर, डॉक्टर, प्रोफेसर, शिक्षक, स्किल्ड मैकेनिक, एक-एक कर सभी बिहार छोड़ते चले गए । गाँव से जो अनवरत पलायन आरम्भ हुआ वो आज तक जारी है । सरकारों ने रोड और बिजली अवश्य दे दिया, परन्तु पिछले 13 वर्ष में उद्योग नहीं आरम्भ कर सके । इस कारण से आज भी बिहार में यदि कोई चारा है तो सरकारी नौकरी ही है । दुःख की बात यह है कि लोग समझते नहीं हैं कि सरकार सभी को सरकारी नौकरी नहीं दे सकती ।

उद्योगपति लूटेरे होते हैं

नौकरी का सबसे बड़ा स्रोत निजी क्षेत्र ही होता है । गुजरात, महाराष्ट्र, पंजाब, कर्णाटका, तमिल नाडु – ये सब वो राज्य हैं जहाँ बिहार के लोग नौकरी कि तलाश में जाते हैं – छोटी से छोटी नौकरी से लेकर बड़ी नौकरी तक । इसका कारण एक ही है – यह सभी राज्य industrialised हैं । बिहार में एक ऐसी धारणा बना दी गयी सालों तक कि उद्योगपति लूटेरे होते हैं, उद्योग लगाना एक डाका है । प्राइवेट मतलब लूट । इंडस्ट्री को लूट का पर्याय बना दिया गया । आज बिहार में आलम यह है कि लोग धक्के और ठोकर खाते हुए देश के विभिन्न राज्य में नौकरी करने जाएंगे, लेकिन जैसे ही उद्योग की बात करो सबसे पहले उद्योगपतियों को गाली देंगे । अपने आप में यह एक विचित्र विडम्बना है बिहार के इस समाज की ।

हम कब तक दूसरे राज्यों पर बोझ बनेंगे ?

जब तक कोई ऎसी सरकार नहीं आती बिहार में जिसका प्रमुख फोकस “Industrialization” हो, बिहार इसी गर्त में डूबा रहेगा । पलायन जारी रहेगा और जनता कि निराशा बढ़ती रहेगी । आज दिल्ली, मुंबई, जालंधर, सूरत, बैंगलोर, चेन्नई, इंदौर, पुणे जैसे शहर अपनी क्षमता से कई गुना अधिक बोझ उठाये हुए हैं । इस प्रेशर के कारण इन शहरों का इंफ्रास्ट्रक्चर भी चरमरा चूका है । यह शहर और लोगों को नहीं समा सकते । जब तक बिहार नहीं उठेगा, यह देश नहीं उठ सकता । हम कब तक दूसरे राज्यों पर बोझ बनेंगे ? हम कब तक घर से दूर ठोकर खाते फिरेंगे ? हम कब तक अपनी मिटटी से दूर सिर्फ जीवनयापन की तलाश में दर-दर भटकते फिरेंगे ? क्या बिहार कभी अपने उस स्वर्णिम दौर को पुनः प्राप्त कर सकेगा ? आज देश के जिस राज्य में जाता हूँ, उसका हाल बिहार से बेहतर ही पाता हूँ । यह पीड़ा शायद एक बिहारी ही समझ सकता है ।

जातिवाद का जहर फिर से न पनपने दीजिये

मेरी आप सभी से एक ही सलाह है – छद्म “सामाजिक न्याय” और “समाजवाद” के नाम पर जातिवाद का जहर फिर से न पनपने दीजिये । हमने इसे सालों झेला है और आज भी उसी पीड़ा का अनुभव कर रहे हैं । एक बिहार फिर भी किसी तरह से इसे संभाल रहा है । इस देश में ३० बिहार न होने दीजिये । हम कहीं के नहीं रहेंगे, हमारी अगली पीढ़ी केवल और केवल हमें कोसेगी । जो भाग सकते हैं, वो विदेश भाग जायेंगे या फिर कोई न कोई उपाय निकाल लेंगे । जो पिसेंगे वह मध्यम-वर्ग, निम्नमध्यम-वर्ग और गरीब तबका ही होगा । आज भी जो बिहार में अमीर हैं, उनकी जिंदगी में शायद ही कोई दिक्कत आया है । बिहार इस देश के लिए एक सीख है । इस देश में और बिहार न होने दीजिये । https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

राज्य

अयोध्या : इनायत नगर थानाक्षेत्र के हल्ले द्वारिका के ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या

Published

on

रवीन्द्र पाण्डेय”रवि”

अयोध्या। जिले में बड़े कप्तान के तमाम नवाचार और कड़ाई के बावज़ूद अपराधों की फेहरिस्त में कोई उल्लेखनीय कमी नहीं आ रही है।पुलिसिया कवायद को धता बताते हुए अभी थोड़ी देर पूर्व यानि तकरीबन आठ बजे बेलगाम बदमाशों ने अयोध्या जिले के मिल्कीपुर सर्किल में एक ग्राम प्रधान को गोली मारकर नृशंस हत्या कर दी।

हत्या के पीछे चुनावी रंजिश की आशंका

अयोध्या जनपद में फिर हत्या की वारदात से क्षेत्र सहम गया है। ज्ञात हुआ है कि जिले के इनायत नगर थानाक्षेत्र में हल्लेद्वारिका के ग्राम प्रधान देव शरण यादव की गोली मारकर हत्या कर दी गयी।उन्हेँ गोली मारकर हत्यारे आराम से फरार हो गये। हल्ले द्वारिका गांव के प्रधान देव शरण यादव की हत्या के पीछे चुनावी रंजिश की आशंका बलवती हुई है।सूचना मिलने पर क्षेत्रीय पुलिस मौके पर पहुँच गयी है। वहाँ की भीड़ बेकाबू हो रही है। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading

राज्य

श्रावस्ती : महिला की नाक काटने वाला पति गिरफ्तार, एक अन्य घटना में युवक की पेड़ से गिर कर मौत

Published

on

राधेश्याम मिश्र

श्रावस्ती। अवैध संबंधों के चलते थाना सिरसिया अंतर्गत अपनी पत्नी का नाक काटने वाला  आरोपी पति को  पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है  और संबंधित धाराओं में  मुकदमा पंजीकृत करके जेल भेज दिया है |
बता दे कि रविवार को थाना सिरसिया  क्षेत्र के एक महिला की नाक काटे जाने का मामला प्रकाश में आया था। जिस संबंध में थाना सिरसिया पर रविवार 23 जून को आईपीसी की  धारा 326,504  पंजीकृत हुआ था। जिला पुलिस अधीक्षक  आशीष श्रीवास्तव द्वारा नामित आरोपी की तत्काल गिरफ्तारी हेतु प्रभारी निरीक्षक सिरसिया को निर्देशित किया । जिस क्रम में अपर पुलिस अधीक्षक बी0सी0दूबे व क्षेत्राधिकारी नगर डा0 जंग बहादुर यादव  के कुशल निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक सिरसिया व मय हमराही टीम द्वारा नामित आरोपी अभियुक्त (महिला का पति) – राजू पुत्र गम्मे निवासी चिड़िमार पुरवा थाना सिरसिया जनपद श्रावस्ती को 24 घंटे के अंदर गिरफ्तार कर जेल रवाना किया जा रहा है। आरोपी को  गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थाना सिरसिया निरीक्षक अजीत प्रताप सिंह ,उपनिरीक्षक कुलदीप कुमार ,कास्टेबल पवन यादव थाना सिरसिया शमिल रहे है|

युवक की पेड़ से गिर कर मौत

 वहीं पर गिलौला थाना  क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कांदू पुरवा निवासी भूल्लू पुत्र बड़कऊ उम्र 45 साल की गांव के एक बाग में जामुन के पेड़ से लगा हुआ संदिग्ध परिस्थितियों में लाश मिली है | ग्रामीणों की सूचना पर थाना प्रभारी समेत पुलिस महकमा मौके पर पहुंच चुका है और मामले की छानबीन कर रही है| पुलिस ने लाश का पंचनामा करने के बाद  पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है|
जानकारी के अनुसार ग्रामीणों का कहना है कि मृतक भूल्लू गांव के पास की एक बाग में जामुन खाने गया था ,जहां से जामुन की पेड़ की डाल टूट जाने के बाद वह जमीन पर गिर गया ,अब मौके पर  ही मौत हो गई |वहीं पर पुलिस इस मामले को संदिग्ध मानते हुए लाश को अपने कब्जे में ले लिया है और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है साथ ही मामले पर छानबीन और पूंछतांछ कर रही है| http://www.kangvkanv.com
Continue Reading

राज्य

अयोध्या : बच्चों की ड्रेस का पौने नौ करोड़ रुपये रिलीज, अब छह सौ रुपये वाले उत्तम दो सेट कपड़े मिलेंगे

Published

on

रवीन्द्र पाण्डेय”रवि”

अयोध्या। सोमवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने परिषदीय विद्यालय के समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश दिये कि प्रधानाध्यापकों की बैठक में उन्हें स्पष्ट कर दे कि छात्र-छात्राओं को वितरित होने वाला निःशुल्क ड्रेस उच्च कोटि का होना चाहिए। सबसे पहले मानक के अनुसार कपड़ा क्रय कर भिगोकर यह देख लें कि वह कपड़ा रंग तो नही छोड़ रहा है। उन्होनें कहा कि मानक के अनुसार ड्रेस न होने पर प्रधानाध्यापक के साथ-2 खण्ड शिक्षा अधिकारी सीेधें जिम्मेदार होगें।
जिलाधिकारी ने बताया कि एक यूनिफार्म के लिए पहले 200 रूपये की दर से बजट प्राप्त होते थे, जिसे शासन ने बढ़ाकर 300 रूपये कर दिया है। प्रत्येक छात्र-छात्राओं को 2 जोड़े ड्रेस वर्ष में दिये जाते है। इस हिसाब से एक बालक/बालिका के दो सेट ड्रेस पर 600 रूपये की दर भुगतान किया जायेगा। उन्होनें बताया कि 1 लाख 94 हजार छात्र-छात्राओं के ड्रेस वितरण हेतु शासन से 8 करोड़ 76 लाख रूपये का बजट प्राप्त हुआ है।
जिलाधिकारी ने बैठक में कहा कि ड्रेस की गुणवत्ता चेक करने के लिए वे स्वयं स्कूल जायेंगे तथा किसी को भी भेजकर चेक करा सकते है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिस कपड़े का ड्रेस सिला जाए उसका सैम्पुल अवश्य स्कूल में रखा जाए। एक जुलाई से कक्षायें विधिवत शुरू कर पठन-पाठन के स्तर को ऊपर उठाये। जिलाधिकारी ने सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों से कहा कि मैं यह कदापि नहीं सुनुगां कि विद्यालय में मध्यान्ह भोजन नही बन रहा है, यदि कहीं समस्या है तो वहां के समस्या का समाधान करायें तथा कृत कार्यवाही से भी अवगत करायें।
जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी श्रीमती अमिता सिंह ने बैठक में सभी खण्ड शिक्षा अधिकारियों से कहा कि कल सभी प्रधानाध्यापकों के साथ बैठक कर उन्हें निर्देशित करें कि अपने स्कूल के आस-पास के दर्जीयों को चिन्हित कर लें, तथा 27 जून को जब बच्चें स्कूल आए तो उनके नाप उसी दिन कराकर ड्रेस सिलने को दे दें। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं होनी चाहिए। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि ड्रेस के बजट के साथ जूता-मोजा व सभी पुस्तकें प्राप्त हो गयी है जिनका वितरण 27 जून से 30 जून के मध्य किया जाना है।
बैठक में जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह, जिला पंचायत राज अधिकारी सत्य प्रकाश सिंह, उपयुक्त उद्योग आशुतोष सिंह, बीएसए श्रीमती अमिता सिंह, नगर शिक्षा अधिकारी संजय गुप्ता सहित सभी खण्ड शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य डाफ्ट, कस्तूरबा गांधी विद्यालय की प्रधानाचार्य उपस्थित थे। https://www.kanvkanv.com
Continue Reading
खेल10 hours ago

वर्ल्ड कप में भारत से हारने के बाद आत्महत्या करना चाहता था पाकिस्तान टीम का यह सदस्य

दुनिया10 hours ago

25 सर्जरी, फिर भी हाथ-पैरों में निकल आती हैं पेड़ जैसी शाखाएं, डाक्टरों से बोला-‘प्‍लीज, मेरे हाथ काट दो’

राज्य10 hours ago

अयोध्या : इनायत नगर थानाक्षेत्र के हल्ले द्वारिका के ग्राम प्रधान की गोली मारकर हत्या

देश11 hours ago

राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व राज्यसभा सांसद मदनलाल सैनी का निधन

राज्य11 hours ago

श्रावस्ती : महिला की नाक काटने वाला पति गिरफ्तार, एक अन्य घटना में युवक की पेड़ से गिर कर मौत

राज्य11 hours ago

अयोध्या : बच्चों की ड्रेस का पौने नौ करोड़ रुपये रिलीज, अब छह सौ रुपये वाले उत्तम दो सेट कपड़े मिलेंगे

राज्य11 hours ago

अयोध्या : संसदीय कार्य एवं नगर विकासमंत्री सुरेश खन्ना ने नगर का किया औचक निरीक्षण

देश13 hours ago

सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव की फिर बिगड़ी तबियत, अस्पताल में हुए भर्ती

राज्य13 hours ago

अयोध्या : घरेलू झगड़े में महिला ने बेटे समेत खुद को लगायी आग, बचाने दौड़ा पति भी हुआ मरणासन्न

देश14 hours ago

जब लोकसभा में कांग्रेस सांसद ने कहा, राहुल-सोनिया को जेल में क्यों नहीं डाल देते

दुनिया14 hours ago

29 साल की महिला टीचर ने 16 साल के लड़के से बनाए शारीरिक संबंध, 15 मिनट में जज ने छोड़ा

राज्य14 hours ago

अयोध्या : फेरी लगाकर सामान बेंचने वाले तीन शातिर चोर गिरफ्तार, माल भी बरामद

राज्य15 hours ago

अयोध्या SSP आशीष तिवारी की बड़ी कार्रवाई, 25 लापरवाह पुलिस आरक्षियों को किया लाइन हाजिर

राज्य15 hours ago

प्रियंका गांधी ने UP में भंग की कांग्रेस की सभी जिला इकाइयां, अजय कुमार को मिली कमान

देश15 hours ago

लोकसभा में बोली कांग्रेस, जांबाज पायलट अभिनंदन की मूंछों को ‘राष्ट्रीय मूंछें’ घोषित करे मोदी सरकार

मनोरंजन16 hours ago

गायक हिमेश रेशमिया को इस चीज से लगता है बहुत ज्यादा डर, ऐसे सामने आई सच्चाई

खेल16 hours ago

विश्व कप से बाहर हुई दक्षिण अफ्रीका, निराश होकर कप्तान फाफ डू प्लेसिस ने कही ये बात

वीडियो16 hours ago

क्या आपने देखा सलमान खान का ये वी़डियो, दौड़ में घोड़े को भी हरा दिया

राज्य4 weeks ago

बसपा की तरफ से सपा प्रत्याशियों को हराने वाला लेटर वायरल, लिखी है ये बातें, जानें क्या है पूरा मामला

राज्य4 weeks ago

स्मृति के करीबी सुरेन्द्र सिंह हत्याकांड : कांग्रेस नेता समेत हत्या के सभी नामजद आरोपी गिरफ्तार

मनोरंजन1 week ago

भारत-पाकिस्तान मैच को लेकर स्वरा भास्कर ने लगाई ये शर्त, कहा- मुझे क्या मिलेगा…

वीडियो3 weeks ago

नन्हें फैंस को धक्का देने पर सलमान खान ने खोया आपा, सिक्योरिटी गार्ड को जड़ा जोरदार थप्पड़, देखें वीडियो

बिज़नेस3 weeks ago

लगातार पांचवें दिन कम हुए पेट्रोल और डीजल के दाम, जानिए क्या है आज की कीमत

बिज़नेस3 weeks ago

पाकिस्तान में महंगाई से जनता बेहाल, जानें प्याज और नींबू का दाम

हेल्थ2 weeks ago

पनीर खाने से दूर होती हैं ये बीमारियां, जानें पनीर से होते हैं और कौन-कौन से फायदे?

राज्य2 weeks ago

पांडेय की जगह कौन होगा यूपी भाजपा का नया अध्यक्ष? इन 8 नामों में लग सकती है किसी पर मोहर!

राज्य1 week ago

अयोध्या : भाई से दोस्ती रास न आने पर की थी मनोज शुक्ला की हत्या, प्रोफेसर का बेटा गिरफ्तार

हेल्थ4 weeks ago

नए रिसर्च का दावा, ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने में मददगार है ये आसान सा नुस्खा

लाइफ स्टाइल4 weeks ago

रेसिपी : इस वीकेंड घर में ऐसे बनायें मलाई कोफ्ता, जीत लेंगे सबका दिल

देश7 days ago

बादल फटने से तीस्टा नदी की बाढ़ में बह गया NHPC का गेस्ट हाउस, 300 पर्यटकों को निकला बाहर

मनोरंजन3 weeks ago

फिल्म आर्टिकल 15 के खिलाफ लामबंद हुआ ब्राह्मण समुदाय, लगाया गंभीर आरोप, जानें क्या है विवाद

देश3 days ago

रात में टहल रही थीं दो सगी बहनें, 8 लड़कों ने किया रेप, वीडियो भी बनाया

देश4 weeks ago

मोदी सरकार में मंत्री बनने के लिए स्मृति सहित इन सांसदों को आया फोन, देखें लिस्ट

राज्य2 weeks ago

योगी कैबिनेट का बड़ा फैसला, अब बीएड डिग्री धारक भी बन सकेंगे प्राइमरी टीचर, पढ़ें 6 बड़े फैसले

हेल्थ7 days ago

इन चीजों का करेंगे सेवन तो तेज होगी याददाश्त, आप भी जानें

हेल्थ2 weeks ago

शोध : बढ़ती उम्र में कमजोरी की वजह से बढ़ जाती है इस बीमारी का खतरा

Trending