उत्तराखंड: परिवहन मंत्री यशपाल आर्य की "घर वापसी", भाजपा को झटका देकर बेटे समेत कांग्रेस में शामिल

उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका लगा है। कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य अपने विधायक बेटे संजीव आर्य के साथ एक बार फिर कांग्रेस में शामिल हो गए हैं।
 
Yashpal Arya and Sanjeev Arya.jpg
यशपाल आर्य कांग्रेस में शामिल

नई दिल्ली। उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधान सभा चुनाव से पहले भाजपा को बड़ा झटका लगा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की सरकार में कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य की घर वापसी हो गई है। आर्य ने अपने विधायक बेटे संजीव आर्य के साथ कांग्रेस का दामन थाम लिया है। 

कांग्रेस राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव की उपस्थिति में प्रेस वार्ता में यशपाल और संजीव आर्य ने कांग्रेस में वापसी की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल और पूर्व सीएम हरीश रावत भी मौजूद रहे।

पिता- पुत्र ने 2017 में छोड़ी थी कांग्रेस 

यशपाल और संजीव आर्य ने 2017 में कांग्रेस छोड़ भाजपा का दामन थामा था। भाजपा ने तब दोनों को प्रत्याशी भी बनाया था। दोनों ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद भाजपा सरकार ने यशपाल आर्य को कैबिनेट मंत्री बनाया। यशपाल पूर्व में उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष भी रहे हैं। यशपाल आर्य पहली बार 1989 में खटीमा सितारगंज सीट से विधायक बने थे। वह पहले भी काफी समय तक कांग्रेस पार्टी में भी रहे हैं।

धामी कैबिनेट में मंत्री थे आर्य 

यशपाल आर्य बाजपुर और उनके बेटे संजीव आर्य नैनीताल सीट से विधायक हैं। वहीं यशपाल आर्य पुष्कर सिंह धामी सरकार में मंत्री थे और उनके पास छह विभाग थे। जिसमें परिवहन, समाज कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, छात्र कल्याण, निर्वाचन और आबकारी विभाग शामिल थे।