उत्तराखंड पुलिस में खेल कोटे से होगी भर्ती, मुख्यमंत्री धामी ने किया ऐलान

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य में जल्द ही पुलिस खेल कोटे के साथ विभाग में रिक्त पदों पर भर्ती की जाएगी। उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 2018 को और सख्त बनाया जाएगा।
 
Uttarakhand Police will be recruited from sports quota.jpg
उत्तराखंड पुलिस

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि राज्य में जल्द ही पुलिस खेल कोटे के साथ विभाग में रिक्त पदों पर भर्ती की जाएगी। उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 2018 को और सख्त बनाया जाएगा। इसके साथ ही शीघ्र एंटी ड्रग पॉलिसी भी बनाई जाएगी।

गुरुवार के पुलिस मुख्यालय में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड पुलिस की समीक्षा बैठक भी ली। इस दौरान कहा कि पुलिस में खेल कोटे की भर्ती शुरू की जाएगी। पुलिस विभाग में रिक्त पदों पर जल्द भर्ती की जाएगी। पुलिस विभाग के आरक्षियों के ग्रेड पे के संबंध में कैबिनेट सब कमेटी का गठन किया गया है। इसमें जल्द उचित समाधान निकाला जाएगा। पीएसी के जवानों को बसों की व्यवस्था की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने समीक्षा के दौरान कहा कि मुख्यमंत्री ने उत्तराखण्ड में शीघ्र एंटी ड्रग पॉलिसी बनाई जाएगी। अधिकारियों को निर्देश दिए कि साइबर क्राइम को रोकने के लिए लिए ठोस रणनीति बनाई जाए। यातायात के नियमों,रोड सेफ्टी के प्रति लगातार जागरूकता अभियान चलाने पर जोर दिया। ट्रैफिक लाइट एवं सीसीटीवी निगरानी की समुचित व्यवस्था करने को कहा। कार्यों के प्रति प्रत्येक स्तर पर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय की जाए। थाना या चौकी स्तर के मामले जिले स्तर पर न आए। जिला स्तर के मामले मुख्यालय स्तर एवं शासन स्तर पर न आए। जिसकी जो जिम्मेदारी है, अपने स्तर पर शीघ्र उसका समाधान करें। महिला सुरक्षा, यातायात प्रबंधन, नशा मुक्ति एवं साइबर क्राइम जैसी चुनौतियों से निपटने के लिए विशेष योजनाएं बनाने को कहा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड पुलिस को आधुनिक बनाने में जो भी आवश्यकता होगी उसे पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। उन्होंने कहा कि कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, सब इंस्पेक्टर एवं इंस्पेक्टर को कोरोना में उनके ओर से किए जा रहे सराहनीय कार्यों एवं सेवाओं 10 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि जल्द दी जाएगी।

अपराधियों को पकड़ने के लिए बढ़ाई जाएगी राशि

मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड धर्म स्वतंत्रता अधिनियम 2018 को और सख्त बनाया जाएगा। इनामी अपराधियों को पकड़ने के लिए पुरस्कार राशि बढ़ाई जाएगी। कोरोना काल में पुलिस द्वारा मिशन हौंसला के तहत सराहनीय कार्य किया गया। स्मार्ट पुलिस बनाने का जो विजन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का है। उसको पूरा करने का प्रयास किया जाएगा।