उत्तराखंड: कृषि कानून वापसी के फैसले पर बोले- हरीश रावत, हम इसे लोकतंत्र की जीत मानते है

उत्तराखंड. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी के कृषि कानून वापस लेने के फैसले से किसान काफी खुश नजर आ रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार का आभार भी जताया है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने किसानों को बधाई दी  और इसे लोकतंत्र की जीत बताया

 
uk
कृषि कानून वापसी के फैसले पर बोले- हरीश रावत, हम इसे लोकतंत्र की जीत मानते है

उत्तराखंड. विधानसभा चुनाव से ठीक पहले पीएम मोदी के कृषि कानून वापस लेने के फैसले से किसान काफी खुश नजर आ रहा है। उन्होंने केंद्र सरकार का आभार भी जताया है। उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने किसानों को बधाई दी  और इसे लोकतंत्र की जीत बताया

पूर्व सीएम हरीश रावत भी कृषि कानून को लेकर पहले से ही भाजपा सरकार पर हमलावर रहे। उन्होंने इस फैसले पर खुशी जताई। हरीश रावत ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की और लिखा, अहंकार से चूर सत्ता ने उन तीन काले कानून, जो किसानों का गला घोंट रहे थे, उन्हें वापस ले लिया है। ये किसान भाइयों की जीत है। उन एक हजार के करीब शहीदों की जीत है, जिन्होंने अपने प्राण दिए, ताकि उनको जीत हासिल हो। उन्होंने किसानों को बधाई देते हुए  कहा हम इसे लोकतंत्र की जीत मानते हैं।

वही कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कृषि कानून को देश के किसानों की जीत बताया। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार को देश के किसानों और आम जनता से माफी मांगने के साथ ही किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए किसानों की मौत की जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से त्याग पत्र भी देना चाहिए था।