Uttarakhand Election 2022: कांग्रेस में टिकट चयन और आवेदन का फार्मूला तय, जिताऊ चेहरे पर खेलेगी दांव

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नजदीक आ गये है जिसे देखते हुए उत्तराखंड में सभी सियासी दलों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है। विधानसभा चुनाव के रण में उतरने के लिए कांग्रेस मैदान में उतरने को तैयार है ऐसे में कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने संभावित प्रत्याशियों की दावेदारी को परखने और टिकट के लिए चयन प्रक्रिया का फार्मूला तय कर दिया गया है। जिला इकाइयों को निर्देश दिए गए हैं कि  यह भी स्पष्ट किया गया है कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के चुनाव में जिताऊ चेहरे पर भी पार्टी दांव खेलेगी। 

 
UK
Uttarakhand Election 2022: कांग्रेस में टिकट चयन और आवेदन का फार्मूला तय, जिताऊ चेहरे पर खेलेगी दांव

उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नजदीक आ गये है जिसे देखते हुए उत्तराखंड में सभी सियासी दलों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है। विधानसभा चुनाव के रण में उतरने के लिए कांग्रेस मैदान में उतरने को तैयार है ऐसे में कांग्रेस की स्क्रीनिंग कमेटी ने संभावित प्रत्याशियों की दावेदारी को परखने और टिकट के लिए चयन प्रक्रिया का फार्मूला तय कर दिया गया है। जिला इकाइयों को निर्देश दिए गए हैं कि  यह भी स्पष्ट किया गया है कि उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 के चुनाव में जिताऊ चेहरे पर भी पार्टी दांव खेलेगी। 

टिकट तय करने का सबसे बड़ा आधार यही रहेगा। विधानसभा चुनाव 2022 के चुनाव में जिताऊ पर कांग्रेस खेलेगी दांव निर्देशों के मुताबिक कमेटी ने नेतृत्व का कमान संभाल लिया है। स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय व दो सदस्य अजोय कुमार व वीरेंद्र सिंह राठौर हैं। कमेटी में सात पदेन सदस्य हैं। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह, प्रदेश सह प्रभारी राजेश धर्माणी व दीपिका पांडेय सिंह शामिल हैं। 

पार्टी कार्यालय में दावेदारों में उत्साह

इसके बाद कार्यकारी अध्यक्षों के साथ ही जिला व शहर इकाइयों के अध्यक्ष, आनुषंगिक संगठनों, विभागों, प्रकोष्ठों के अध्यक्षों के साथ बैठक में प्रत्याशियों के चयन को लेकर फीडबैक लिया गया। स्क्रीनिंग कमेटी के अध्यक्ष अविनाश पांडेय ने जिला व शहर इकाइयों को टिकट वितरण व संभावित प्रत्याशियों के आवेदनों के संबंध में दिशा-निर्देश दिए। स्क्रीनिंग कमेटी की बैठकों के चलते राजीव भवन में सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक मेले जैसा माहौल रहा। टिकट के दावेदारों में उत्साह नजर आया।