उत्तराखंड: सीएम हेल्पलाइन पर आईं जन शिकायतों के समाधान में लापरवाही पर होगी कार्रवाई

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जनशिकायतों के समाधान में लापरवाही पर सख्त कार्रवाई होगी। सीएम हेल्पलाइन पर आए जन शिकायतों का समाधान समयबद्धता के साथ किया जाए।
 
cm uttarakhand new pic
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी

-मुख्यमंत्री ने उच्च स्तरीय मॉनिटरिंग मैकनिज्म बनाने के दिए निर्देश

-सीएम हेल्पलाइन में अभी तक कुल 1 लाख 74 हजार 250 शिकायतें दर्ज

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि जनशिकायतों के समाधान में लापरवाही पर सख्त कार्रवाई होगी। सीएम हेल्पलाइन पर आए जन शिकायतों का समाधान समयबद्धता के साथ किया जाए। इसके लिए एक उच्च स्तरीय मॉनिटरिंग मैकेनिज्म बनाया जाय। एक माह में मुख्यसचिव और प्रत्येक 15 दिन में विभागीय सचिवों की ओर से इसकी मॉनिटरिंग के लिए बैठक की जाए।

आज मुख्यमंत्री आवास में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने सीएम हेल्पलाइन-1905 की समीक्षा के दौरान अधिकारियों को यह निर्देश दिए। इस दौरान कहा कि सीएम हेल्पलाइन पर जन शिकायतों के समाधान के लिए अगर किसी स्तर पर संबंधित अधिकारी की ओर से लापरवाही बरती जा रही है, तो ऐसे अधिकारियों पर शीघ्र सख्त कार्रवाई की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज के अन्तिम पंक्ति तक के लोगों को सीएम हेल्पलाइन से मदद मिले और उनकी समस्याओं का समाधान हो, इसकी जानकारी भी जन-जन तक पहुंचाई जाए। यदि सीएम हेल्पलाइन पर कोई आपातकालीन कॉल आती है, तो संबंधित व्यक्ति की मदद के लिए संबंधित हेल्पलाइन नम्बर या आपातकालीन सेवाओं से उन्हें कनेक्ट करने की व्यवस्था भी की जाए।

शिकायतकर्ताओं से फीडबैक

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो शिकायतें या शिकायती पत्र सीधे मुख्यमंत्री कार्यालय में आती हैं,उन्हें भी सीएम हेल्पलाइन में डाला जाए। जन शिकायतों एवं समस्याओं का समाधान करना सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने सीएम हेल्पलाइन 1905 के शिकायतकर्ता अगस्त्यमुनि के पंकज गोस्वामी एवं हल्द्वानी की बीना पंत से फोन से भी वार्ता की। पंकज गोस्वामी ने देवभूमि एप पर पुलिस वेरिफिकेशन के लिए अप्लाई किया था। काफी समय तक वेरिफिकेशन न होने के कारण उन्होंने सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की थी। उन्होंने बताया कि सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत के 12 घण्टे के अन्दर ही उनका पुलिस वेरिफिकेशन हो गया था। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया।

बीना ने बताया कि उन्होंने विद्युत से संबंधित समस्या के समाधान के लिए सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत की थी। सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करने के बाद जल्द ही समस्या का समाधान हो गया था। इसके लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया और कहा कि 1905 नम्बर जन समस्याओं के त्वरित समाधान के लिए कारगर साबित हो रहा है।

अब दो घंटे अधिक सुनी जा रहीं शिकायत

निदेशक आईटीडीए डॉ.आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश के बाद मुख्यमंत्री हेल्पलाइन नम्बर शिकायत सुनने का समय 2 घंटे और बढ़ाया गया है। प्रतिदिन सुबह आठ बजे से रात्रि 12 बजे तक शिकायत दर्ज की जा रही है। पहले यह रात्रि के 10 बजे तक दर्ज की जा रही थी।

54 विभाग और 155 उप विभाग पंजीकृत

सीएम हेल्पलाइन में 54 विभाग एवं 155 उप विभाग पंजीकृत हैं। समस्याओं के समाधान के लिए चार स्तर बनाये गये हैं। ब्लॉक, जिला, विभागाध्यक्ष एवं शासन स्तर तक है। सीएम हेल्पलाइन 1905 पर अभी तक कुल 174250 शिकायतें दर्ज की जा चुकी हैं। इसमें से 105060 शिकायतकर्ता की संतुष्टि के बाद बंद कर दी गई है। शेष पर अलग-अलग स्तर पर प्रक्रिया गतिमान है।

इस मौके पर अपर मुख्य सचिव आनन्द बर्द्धन, प्रमुख सचिव आर.के.सुधांशु,सचिव शैलेश बगोली,अरविन्द सिंह ह्यांकी,विनोद कुमार सुमन,अपर सचिव सोनिका उपस्थित रहे।