UP: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल करेंगे जलसा पर्व का शुभारंभ, CM योगी भी रहेंगे मौजूद

झांसी. झांसी में वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई के जन्मदिवस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 3 दिन की जलसा कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सुबह 11:00 बजे झांसी कैंट मैं हेलीकाप्टर से पहुंचेंगे. 11:30 बजे मुक्ता काशी मंच पर पहुंचकर रानी की जयंती पर आयोजित तीन दिवसीय जलसा पर्व का शुभारंभ करेंगे. 1 घंटे के करीब रक्षा मंत्री मुक्ता काशी मंच पर रुकेंगे। इसके बाद वह कैंट चले जाएंगे।
 
 
raj
UP: रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कल करेंगे जलसा पर्व का शुभारंभ, CM योगी भी रहेंगे मौजूद

झांसी. झांसी में वीरांगना महारानी लक्ष्मीबाई के जन्मदिवस पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 3 दिन की जलसा कार्यक्रम का उद्घाटन करेंगे. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह सुबह 11:00 बजे झांसी कैंट मैं हेलीकाप्टर से पहुंचेंगे. 11:30 बजे मुक्ता काशी मंच पर पहुंचकर रानी की जयंती पर आयोजित तीन दिवसीय जलसा पर्व का शुभारंभ करेंगे. 1 घंटे के करीब रक्षा मंत्री मुक्ता काशी मंच पर रुकेंगे। इसके बाद वह कैंट चले जाएंगे।
 
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का पूरा कार्यक्रम

2:45 बजे दतिया में पीतांबरा माई पीठ पहुंच कर मां के दर्शन करेंगे,
4:00 बजे करीब झोकन बाग पहुंचकर गुरुद्वारा में रक्षा मंत्री मत्था टेकेंगे,
19 नवंबर को 4:00 बजे करीब फिर झांसी पहुंच कर सेना के कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे,
8:00 बजे वह ग्वालियर के लिए रवाना हो जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 17 नवंबर को दोपहर 12:00 बजे तक झांसी आएंगे, झाँसी पहुंचकर वह सबसे पहले किले में जाएंगे इसके बाद किले के मैदान में प्रधानमंत्री के आयोजन की तैयारियों का जायजा लेंगे, इसके बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ लक्ष्मी व्यायाम मंदिर में सेना का कार्यक्रम के प्रदर्शन में हिस्सा लेंगे कार्यक्रम के बाद वह लखनऊ रवाना हो जायेगे।

आज झांसी में आसमान में एयर फोर्स के जवानों ने कर्तव्य दिखाया, फाइटर जेट मिराज सुखोई और मिग-21 ग्वालियर से उड़ान भरकर झांसी पहुंचे। 17 नवंबर को होने वाले सेना के प्रदर्शन में सेना के जवान रिहर्सल करते दिखे, विमानों को उड़ते देखकर लोगों खुशी देखी गई। महारानी लक्ष्मीबाई के जयंती पर सेना के रक्षाराष्ट्र समर्पण पर्व के तहत किया जा रहा है। 17 नवंबर को आर्मी हवाई सेना बीएसएफ और डीआरडीओ के जवान अपना कौशल दिखाएंगे इसकी तैयारियों में जवान अंतिम रूप दे रहे हैं।