Connect with us

उत्तराखंड

विधायक दुष्कर्म प्रकरण: पीड़िता ने पुलिस को लिखित बयान भेजा

Published

on

देहरादून। विधायक महेश नेगी पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला ने अपना लिखित बयान पुलिस को भेजा है। डीआईजी अरुण मोहन जोशी ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने बताया कि महिला की ओर से एफिडेविट के साथ पत्र पुलिस को मिला है। पुलिस कार्यालय की ओर से यह पत्र विवेचक को भेज दिया गया है। द्वाराहाट से भाजपा विधायक महेश नेगी पर उन्हीं के इलाके की एक महिला ने दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया है।

इस मामले की जांच अब एसआईएस शाखा की दरोगा आशा पंचम को सौंपी गई है। मामले में विवेचक मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला को नोटिस देकर बयान बुलाने की तैयारी कर रही थीं कि इस बीच महिला ने लिखित बयान डीआईजी अरुण मोहन जोशी को भेजे हैं। बकायदा एफिडेविट भी पत्र के साथ संलग्न किया गया है।

डीआईजी जोशी ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि महिला के लिखित बयान मिले हैं, जिन्हें विवेचक को भेजा गया है। उन्होंने बताया कि विवेचना तेजी से सभी पहलुओं पर की जा रही है। कुछ लोगों के बयान होने बाकी हैं। सभी शिकायती पत्रों और साक्ष्यों को जांच में शामिल किया गया है। अगर कोई बयान दुबारा दर्ज कराना चाहता है तो करा सकता है।

महिला की रूममेट के बयान दर्ज कराए
देहरादून। द्वाराहाट विधायक की पत्नी ने ब्लैकमेलिंग के आरोप में महिला समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इसकी विवेचना सीओ सदर अनुज कर रहे हैं। डीआईजी जोशी ने बताया कि जांच में सामने आया है कि महिला की परिचित एक युवती उसकी रूममेट थी। उक्त युवती के धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराए गए हैं।

क्या है मामला
महिला ने विधायक पर दुष्कर्म और उनकी के खिलाफ धमकी देने का नेहरू कालोनी थाने में मुकदमा दर्ज कराया है। यह मुकदमा एसजेएम पंचम कोर्ट के आदेश पर दर्ज हुआ है। महिला ने कोर्ट में प्रार्थना पत्र देकर विधायक पर गंभीर आरोप लगाए थे और पुलिस पर मुकदमा दर्ज नहीं करने की बात कही थी।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Trending