Connect with us

उत्तराखंड

“महाराज” ने जीती कोरोना से जंग, पत्नी भी हुईं स्वस्थ

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज और उनकी पत्नी तथा पूर्व मंत्री अमृता रावत ने कोरोना से जीवन की जंग जीत ली है।

निगेटिव आई रिपोर्ट

दोनों लोगों की एक निजी पैथॉलोजी की जांच रिपोर्ट अब निगेटिव प्राप्त हुई है। करीब एक सप्ताह पूर्व ही उन्हें अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स), ऋषिकेश से डिस्चार्ज किया गया था। तब से ये गृह एकांतवास (होम क्वारंटाइन) में हैं।

17 लोगों को हुआ था कोरोना

सतपाल महाराज के पूरे परिवार और स्टाफ के 17 लोगों को कोरोना हो गया था। सबसे पहले महाराज की पत्नी एवं राज्य की पूर्व मंत्री अमृता रावत की कोरोना की रिपोर्ट 30 मई को पॉजिटिव प्राप्त हुई थी, जिसके अगले दिन उन्हें एम्स में भर्ती कराया गया था।

एम्स में हुआ था इलाज

उनके परिवार के अन्य लोग देहरादून के एक पांस सितारा होटल में एकांतवास में चले गए थे। हालांकि इनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आने के बाद सतपाल महाराज, उनके दोनों पुत्रों तथा बहुओं और पोते को भी बाद में एम्स में भर्ती कराया गया था।

परिवार के सदस्य 14 गृह एकांतवास में

करीब एक पखवाड़ा एम्स में भर्ती रहने के बाद पिछले सप्ताह ही सतपाल महाराज और अमृता रावत को एम्स से डिस्चार्ज किया गया था। परिवार के अन्य सदस्यों को उससे पहले ही डिस्चार्ज कर दिया गया था। हालांकि एम्स से डिस्चार्ज किए जाने के बाद से परिवार के सदस्य 14 दिन के गृह एकांतवास में हैं।

सभी को दिया धन्यवाद

कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद सतपाल महाराज, अमृता रावत और पुत्रबधू मोहिना सिंह ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं और सभी शुभचिंतकों की शुभकामनाओं और प्रार्थना का ही परिणाम है कि उन्हें फिर से जनता की सेवा करने का अवसर प्राप्त होगा।

Trending