महंत नरेंद्र गिरि की मौत का मामला: उत्तराखंड तक पहुंची जांच की आच, आनंद गिरि को लेकर हरिद्वार जाएगी सीबीआई

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में चल रही सीबीआई जांच की आंच उत्तराखंड तक पहुंचने लगी है।
 
Mahant Narendra Giri death case
महंत नरेंद्र गिरि की मौत का मामला

देहरादून। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में चल रही सीबीआई जांच की आंच उत्तराखंड तक पहुंचने लगी है। मई में गुरु से विवाद होने के बाद श्यामपुर के कांगड़ी स्थित आनंद गिरि के आश्रम को हरिद्वार-रुड़की विकास प्राधिकरण (एचआरडीए) ने सील कर दिया था। 

इसके बाद आनंद गिरि को हरिद्वार के एक आश्रम के परामाध्यक्ष ने शरण दी थी। ऐसे में जल्द ही सीबीआई इस संत से भी पूछताछ कर सकती है। सीबीआई आनंद को रिमांड पर लेकर जल्द ही हरिद्वार पहुंचेगी। यहां पर कई लोगों से पूछताछ भी करेगी। 
 
सीबीआई को आनंद गिरि, आद्या तिवारी और संदीप तिवारी की सात दिनों की रिमांड मिली है। रिमांड चार अक्तूबर तक चलेगी। ऐसे में नया मामला सामने आया है। श्रीमहंत नरेंद्र गिरि व उनके शिष्य आनंद गिरि के बीच हुए विवाद के बाद श्यामपुर कांगड़ी गांव में बन रहा आनंद गिरि का आश्रम 13 मई को एचआरडीए ने सील कर दिया था। 

आश्रम पर सील लगने के बाद आनंद गिरि को हरिद्वार के एक बड़े संत व आश्रम के परमाध्यक्ष ने शरण दी थी। इसका खुलासा आश्रम सील होने के बाद एक इंटरव्यू के दौरान आनंद गिरि ने खुद किया था। आनंद गिरि ने कहा था कि वह उन दिनों हरिद्वार के एक आश्रम में शरण लेकर रह रहे थे। 
कई रसूखदारों से भी होगी पूछताछ 
उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से गठित की गई एसआईटी जांच में हरिद्वार के 18 लोगों के नंबर सामने आए थे। जिसमें से कई संत, रसूखदार और प्रॉपर्टी डीलर भी है। सीबीआई आनंद गिरि को रिमांड पर लेकर हरिद्वार पहुंचने के बाद इनसे भी पूछताछ करेगी। 

अबतक तीन से हुई है पूछताछ 
श्रीमहंत नरेंद्र गिरि के मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल के बाद हरिद्वार के 18 लोगों के मोबाइल नंबर सामने आए थे। जिसमें से हरकी पैड़ी पर स्थित एक प्रसिद्ध दुकानदार व दो प्रॉपर्टी डीलरों को प्रयागराज में बुलाकर पूछताछ भी की गई है।