Kedarnath Dham: इतिहास में पहली बार सबसे ज्यादा यात्रियों ने किए बाबा केदार दर्शन

इतिहास में पहली बार केदारनाथ (Kedarnath) पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या चारों धाम में सबसे अधिक रही। बीते वर्षो तक हमेशा ही सबसे अधिक यात्री बदरीनाथ धाम (Kedarnath Dham) पहुंचते रहे हैं। इस बार केदारनाथ में सर्वाधिक 242712 यात्रियों ने दर्शन किए, जो कि बदरीनाथ से 45656 अधिक हैं। बदरीनाथ धाम (Kedarnath Dham) 1.97 लाख यात्री पहुंचे, जबकि गंगोत्री-यमुनोत्री में यह संख्या महज 33-33 हजार पर सिमट गई। 

 
kedar
Kedarnath Dham: इतिहास में पहली बार सबसे ज्यादा यात्रियों ने किए बाबा केदार दर्शन
 

इतिहास में पहली बार केदारनाथ (Kedarnath) पहुंचने वाले यात्रियों की संख्या चारों धाम में सबसे अधिक रही। बीते वर्षो तक हमेशा ही सबसे अधिक यात्री बदरीनाथ धाम (Kedarnath Dham) पहुंचते रहे हैं। इस बार केदारनाथ में सर्वाधिक 242712 यात्रियों ने दर्शन किए, जो कि बदरीनाथ से 45656 अधिक हैं। बदरीनाथ धाम (Kedarnath Dham) 1.97 लाख यात्री पहुंचे, जबकि गंगोत्री-यमुनोत्री में यह संख्या महज 33-33 हजार पर सिमट गई। 

इस वर्ष केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) के कपाट 17 मई को खोले गए थे, लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते यात्रा बदरीनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री के साथ 18 सितंबर को शुरू हो पाई। हालांकि, तब सिर्फ 800 व एक हजार यात्रियों को ही केदारनाथ व बदरीनाथ जाने की अनुमति मिल पाई।

इस अवधि में दो लाख 42 हजार 712 यात्रियों ने बाबा के दर्शन किए। जबकि, वर्ष 2020 में 132651 यात्री ही पूरे सीजन में केदारनाथ (Kedarnath) पहुंच पाए थे। उत्तराखंड चारधाम देवास्थानम प्रबंधन बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने कहते हैं कि भविष्य में केदारनाथ यात्रा के प्रति आकर्षण और बढ़ने की उम्मीद है। बोर्ड के प्रशासनिक अधिकारी (ऊखीमठ) राजकुमार नौटियाल ने बताया कि केदारपुरी के नए रूप में संवरने के बाद से धाम में यात्रियों की संख्या लगातार बढ़ रही है।