Indian Airforce Day : उत्तराखंड बाढ़ में रेस्क्यू के दौरान भारतीय वायुसेना ने बनाया था वर्ल्ड रिकॉर्ड, जानें और बातें

आज देश में भारतीय वायुसेना अपना 89वां स्थापना दिवस मना रही है। भारत ने आज तक जितने भी युद्ध लड़े हैं, उन सभी में भारतीय वायुसेना ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। भारतीय वायुसेना चाहे आपदा हो या दुश्मनों से लोहा लेना हो उसके लिए हर दम तैयार रहती है
 
भारतीय वायुसेना ने उत्तराखंड बाढ़ के दौरान बचाव कार्य करते हुए वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. ‘मिशन राहत’ के तहत वायुसेना ने करीब 20,000 लोगों को एयरलिफ्ट किया था.

देहरादून। आज देश में भारतीय वायुसेना अपना 89वां स्थापना दिवस मना रही है। भारत ने आज तक जितने भी युद्ध लड़े हैं, उन सभी में भारतीय वायुसेना ने भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। भारतीय वायुसेना चाहे आपदा हो या दुश्मनों से लोहा लेना हो उसके लिए हर दम तैयार रहती है और आगे भी रहेगी। मालूम हो, भारतीय वायु सेना की स्थापना 8 अक्टूबर 1932 को हुई थी. इसीलिए हम आज के दिन एयर फोर्स डे मनाते हैं. इस साल देश 89वां भारतीय वायुसेना दिवस मना रहा है.

कुछ समय पहले, भारतीय वायु सेना ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं. यह बात तब की है जब देश में 5 राफेल लड़ाकू विमानों को औपचारिक रूप से फ्लीट में शामिल कर लिया गया था. रशिया के सुखोई जेट के इंपोर्ट के बाद, राफेल जेट लड़ाकू विमानों का देश का पहला बड़ा अधिग्रहण है.

आज हम आपको भारतीय वायुसेना से जुडी कुछ रोचक बाते बताएंगे-

  • भारतीय वायुसेना ने उत्तराखंड बाढ़ के दौरान बचाव कार्य करते हुए वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. ‘मिशन राहत’ के तहत वायुसेना ने करीब 20,000 लोगों को एयरलिफ्ट किया था.
  • भारतीय वायुसेना-ऑपरेशन पूमलाई, ऑपरेशन मेघदूत, ऑपरेशन कैक्टस और ऑपरेशन विजय सहित कई अभियानों का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रही है.
  • भारतीय वायुसेना- संयुक्त राष्ट्र द्वारा शुरू किए गए शांति अभियानों में भी हिस्सा लेती है.
  • भारतीय वायुसेना का आदर्श वाक्य “नभः स्पृशं दीप्तम्” है, जिसे भगवद गीता के अध्याय 11 से लिया गया है. इसका अर्थ है गर्व के साथ आकाश को छूना.
  • भारतीय वायुसेना का हिंडन वायु सेना स्टेशन एशिया का सबसे बड़ा हवाई अड्डा है. यह दुनिया में भी टॉप-8 में आता है.
  • भारतीय वायुसेना में मौजूदा समय में 10 महिला लड़ाकू पायलट और 18 महिला नाविक भारतीय वायु सेना हैं. वहीं, महिला अधिकारियों की कुल संख्या 1,875 है. आईएफ के राफेल फ्लीट में एक महिला फाइटर पायलट भी हैं.
  • भारतीय वायुसेना की गरुड़ कमांडो फोर्स का गठन साल 2004 में हुआ था. इस फोर्स में 2000 जवान हैं. इसका ट्रेनिंग कोर्स 72 हफ्तों का होता है, जो कि भारतीय स्पेशल फोर्सेस के ट्रेनिंग पीरियड में सबसे लंबी है.
  • भारतीय वायुसेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है. सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन ही हमसे आगे हैं.