त्योहार देते हैं परम्परा निभाने और भाईचारे का संदेश : मेयर

-आईएसबीटी परिसर में मेयर ने श्रद्धालुओं को बांटा खिचड़ी का प्रसाद

ऋषिकेश। मकर संक्रांति के पावन मौके पर मेयर अनिता ममगांईं ने लोंगो को खिचड़ी का प्रसाद बांटा। आस्था के महाकुंभ के प्रथम मकर संक्रांति के पर्व पर नगर निगम महापौर त्रिवेणी घाट पहुंची और देवडोलियों की विशेष पूजा-अर्चना कर शहरवासियों की खुशहाली की मंगल कामना की।

गुरुवार को उत्तराखंड की देवभूमि ऋषिकेश में आस्था की बयार के बीच महाकुंभ का आगाज हो गया। इस पावन मौके पर जहां दिनभर गंगा तटों पर स्नान और दान पुण्य का कर्म अनवरत चलता रहा वहीं जगह-जगह विभिन्न संस्थाओं ने श्रद्धालुओं को खिचड़ी का प्रसाद भी बांटा।

मेयर अनिता ममगाईं आईएसबीटी परिसर में खुदरा फल सब्जी विक्रेताओं एवं सुधार समिति द्वारा खिचड़ी वितरण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित हुई। इस दौरान उन्होंने जहां काफी देर तक श्रद्धालुओं को भेदभाव पूर्ण तरीके से प्रसाद वितरित किया वहीं अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि त्योहार हमें परंपरा निभाने और भाईचारे के साथ रहने का संदेश देते हैं। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति का भारतीय संस्कृति में बहुत महत्व है। इस दिन स्नान, दान और जप का विशेष महत्व है। यह पर्व सत्य, त्याग, कल्याण, कर्म व क्रांति का संदेश देता है।