उत्तराखंड में आसमान से बरस रही आफत, 7 जिलों में भार बारिश का अलर्ट

उत्तराखंड में बारिश आफत बनकर बरस रही है। गांव से लेकर शहर तक काफी नुकसान किया है। बारिश के कारण हरिद्वार में गंगा का जलस्तर चेतावनी रेखा के ऊपर 293.05 मीटर पर पहुंच गया है
 
uttarakhand rain
उत्तराखंड में बारिश

देहरादून। उत्तराखंड में बारिश आफत बनकर बरस रही है। नदी-नाले उफान पर हैं तो सड़के जगह-जगह बंद होने से मुसीबतों में इजाफा हुआ है। लगातार हो रही बारिश से गांव से लेकर शहर तक काफी नुकसान किया है। बारिश के कारण हरिद्वार में गंगा का जलस्तर चेतावनी रेखा के ऊपर 293.05 मीटर पर पहुंच गया है। वहीं, ऋषिकेश और चम्बा के बीच गंगोत्री हाईवे का करीब 40 मीटर भाग ध्वस्त हो गया।

टिहरी की जिलाधिकारी ईवा श्रीवास्तव ने दोनों हाईवे पर आवाजाही पर रोक लगा दी है। डीएम के अनुसार गंगोत्री हाईवे को दुरुस्त करने में करीब एक सप्ताह का समय लग सकता है, जबकि बदरीनाथ हाईवे को लेकर उम्मीद जताई कि शनिवार शाम मलबा साफ कर दिया जाएगा। लगातार हो रही बारिश से हरिद्वार जिले के लालढांग में श्यामपुर क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात बन सकते हैं। रवासन नदी ने पिछले कई वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ते रौद्र रूप ले लिया है।

उधर बारिश के चलते गंगा का जलस्तर भी चेतावनी निशान के ऊपर पहुंच गया है। सिंचाई विभाग के अधिकारी गंगा के जलस्तर पर नजरें बनाए हुए हैं। वहीं, जिला प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। नदी के किनारे और डूब क्षेत्र के इलाकों को छोड़ने की सलाह दी गई है। इसके अलावा सबी बाढ़ चौकियों को भी अलर्ट कर दिया गया है। सारी जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी मीरा कैंतूरा ने बताया कि स्थिति नियंत्रण में है और पूरी सतर्कता बरती जा रही है।

 ऋषिकेश-गंगोत्री और ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे बीती शुक्रवार से बंद पड़े हैं, जिस कारण आवागमन प्रभावित हो गया है। ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग बीती शुक्रवार को फकोट के पास 40 मीटर हिस्सा बह गया था। तब से हाईवे पर आवागमन ठप है। वहीं, ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे भी बीती शु्क्रवार को तोताघाटी में बंद पड़ा है।


प्रशासन ने दोनों हाईवे पर फिलहाल आवागमन प्रतिबंधित कर दिया गया है। ऋषिकेश-गंगोत्री मार्ग बंद होने से मसूरी-चंबा मार्ग पर रूट डायवर्ट किया गया है, जिस कारण इस मार्ग पर ट्रैफिक बढ़ गया है। साथ ही लोगों को लंबा सफ तय करना पड़ रहा है। वहीं ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईव को नई टिहरी-मलेथा होते हुए रूट डायवर्ट किया गयाद है।