Corona Effect: मकर संक्रांति पर गंगा में डुबकी नहीं लगा सकेंगे श्रद्धालु, हरिद्वार के जिलाधिकारी के जारी किया आदेश

कोरोना बढ़ते मामलों को देखते हुए मकर संक्रांति के मौके श्रद्धालु उत्तराखंड के हरिद्वार में गंगा नदी पवित्र जल में डुबकी नहीं लगा सकेंगे
 
Devotees will not be able to take a dip in the holy water of Ganga on Makar Sankranti in Haridwar.webp
 हरिद्वार में मकर संक्रांति पर गंगा के पवित्र जल में डुबकी नहीं लगा सकेंगे श्रद्धालु

हरिद्वार। कोरोना महामारी (corona pandemic) के बढ़ते मामले की वजह से उत्तराखंड शासन-प्रशासन ने सख्ती बरतनी शुरू कर दी है। हरिद्वार जिला भी कोरोना की चपेट में आ गया है। इसी वजह से हरिद्वार में गंगा स्नान पर बैन लगाया गया है। इसके अलावा जिला प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए 14 जनवरी को मकर संक्रांति पर्व पर श्रद्धालुओं के हरकी पैड़ी जाने पर रोक लगा दी।

हरिद्वार जिलाधिकारी विनय शंकर पांडेय ने साफ किया है कि 14 जनवरी को मकर संक्रांति के पर्व पर किसी भी हालत में श्रद्धालुओं को हरकी पैड़ी क्षेत्र में गंगा स्नान के लिए नहीं जाने दिया जाएगा। अगर कोई जाने का प्रयास करता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

उल्लेखनीय है कि बीते दो सालों से कोरोना की वजह से हरिद्वार में व्यापारियों का कारोबार चौपट हुआ है। कोरोना के कारण श्रद्धालुओं की संख्या में काफी कमी देखी गई है। महाकुंभ के दौरान भी हरिद्वार में बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित मिले थे, जिसके बाद तय समय से पहले ही महाकुंभ का समापन कर दिया गया था। इस बार कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए जिला प्रशासन ने मकर संक्रांति पर्व पर गंगा स्नान के लिए एसओपी जारी की है।