उत्तराखंड में एक सप्ताह के लिए लगा कोरोना कर्फ्यू, सुबह सात से 10 बजे तक खुलेंगी दुकानें

उत्तराखंड में एक सप्ताह के लिए लगा कोरोना कर्फ्यू, सुबह सात से 10 बजे तक खुलेंगी दुकानें
उत्तराखंड में एक सप्ताह के लिए लगा कोरोना कर्फ्यू, सुबह सात से 10 बजे तक खुलेंगी दुकानें
  • इंटर स्टेट यात्रियों को 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य
  • राज्य में सुबह सात से 10 बजे तक खुलेंगी दुकानें

देहरादून। तीरथ सरकार ने उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर आगामी 11 मई से लेकर 18 मई तक (एक सप्ताह का) के लिए कोरोना कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। इस दौरान शराब और बार की दुकानें पूर्णतः बंद रहेंगी। सरकार ने लोगों से हालात को देखते हुए शादी समारोह को फिलहाल स्थगित करने की अपील की है।

कैबिनेट मंत्री व शासकीय प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने रविवार को बताया कि 18 मई की सुबह 6 बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगाने का निर्णय लिया है। इस अवधि में केवल सुबह सात से 10 बजे तक आवश्यक वस्तुओं जैसे फल, सब्जी, दूध, मीट आदि की दुकानें ही खुल सकेंगी। पूर्व में यह दुकानें 12 बजे तक खुल रही थी। राशन (परचून) की दुकानें केवल 13 मई को खोले जाने की अनुमति होगी।

प्रवक्ता के अनुसार 10 मई को एक बजे तक दुकानों को खोलने की अनुमति दी जाएगी। इसके बाद कर्फ्यू लागू होगा। अब केवल 7 से 10 बजे तक आवश्यक वस्तुओं की दुकानें (फल, सब्जी, दूध, मीट) खुलेंगी। इसके साथ ही साथ मंडियों में केवल किसान और रिटेलर को ही आने की अनुमति होगी। इसके अलावा किसी और को अनुमति नहीं होगी।

उन्होंने बताया कि इस अवधि में केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े विभाग ही खुले रहेंगे। इसमें भी 50 प्रतिशत स्टाफ को ही बुलाया जा सकेगा। प्रेस के कर्मचारियों के लिए उनकी आईडी ही पास होगा। साथ ही इंटर स्टेट यात्रियों को 72 घंटे पूर्व की आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना अनिवार्य किया गया है। इसके अलावा देहरादून स्मार्ट सिटी के पोर्टल पर अपना पंजीकरण कराना होगा। आरटीपीसीआर नेगेटिव रिपोर्ट लाने पर ही उन्हें राज्य में आने की अनुमति दी जाएगी।

उन्होंने बताया कि प्रवासियों को 7 दिन का आइसोलेशन अवधि अपनी-अपनी ग्राम सभाओं में बनाये गए स्थान में पूरी करनी होगी। जब उनमें लक्षण नहीं होंगे तब उन्हें घर भेजा जाएगा। इसका खर्च स्टेट फाइनेंस कमीशन की ग्रांट, एसडीआरएफ फण्ड से किया जाएगा।

सुबोध उनियाल ने बताया कि शादी समारोह में केवल 20 लोगों की अनुमति दी गई है। हालातों को देखते हुए फिलहाल लोग शादी समारोह को स्थगित करने का निर्णय भी अपने स्तर पर ले सकते हैं। इसी तरह शव यात्रा में भी 20 लोगों को ही अनुमति होगी। इंटर स्टेट मूवमेंट में भी 50 प्रतिशत यात्रियों को ले जाने की अनुमति होगी। वैक्सीनेशन के लिए अगर 18 से 45 वर्ष के व्यक्ति घरों के बाहर निकल रहे हैं तो उन्हें अपना पंजीकरण दिखाना होगा। इसी तरह 45 से ऊपर के लोगों को वैक्सीनेशन के लिए जाने की अनुमति होगी।

ट्रेन या हवाई जहाज से आने वाले यात्रियों को लोकल ट्रांसपोर्टेशन के लिए टिकट दिखाना होगा। राज्य में सभी शिक्षण संस्थान पूरी तरह से बंद रहेंगे। केवल एमबीबीएस व बीडीएस, नर्सिंग कोर्स के अंतिम वर्ष के लिए क्लास चलाई जा सकती हैं। निकाय निरंतर रूप से बस अड्डों, मंडियों आदि को सेनेटाईज करते रहेंगे। शराब की दुकानें और बार पूरी तरह से बंद रहेंगे। बैंक, आईटी वेंडर, गैस एजेंसी को छूट दी गयी है। इसके अलावा ड्रग्स, क्लीनीक्स, पैथ लैब, रिसर्च लैब आदि को छूट दी गई है।

https://kanvkanv.com/state-news/corona-curfew-imposed-in-dehradun-know-which-rules-will-be-applicable-and-who-will-get-exemption/