मुख्यमंत्री धामी ने भोजन माता मामले में दिए जांच के आदेश, जानिए क्या है पूरा मामला

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चम्पावत भोजन माता प्रकरण पर सख्ती बरतते हुए डीआईजी कुमांयू को जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।
 
cm uttarakhand new pic
भोजन माता मामले में जांच के आदेश


देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चम्पावत भोजन माता प्रकरण पर सख्ती बरतते हुए डीआईजी कुमांयू को जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

 शुक्रवार को मुख्यमंत्री धामी ने डीआईजी कुमायूं डॉ. नीलेश आनन्द भरणे को निर्देश देते हुए कहा कि चम्पावत जनपद के राजकीय इण्टर कॉलेज सूखीढ़ाग में भोजन माता प्रकरण की जांच की जाए और दोषियों के खिलाफ सख्त कारवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले में दुष्प्रचार करने वालों पर भी निगरानी रखी जाय। डीआईजी की ओर से मौके पर जाकर पूरे मामले की जांच की जाएगी।

बता दें कि चम्पावत जिले के सूखीढांग इंटर कालेज में एससी वर्ग यानी अनुसूचित जाति की भोजन माता की नियुक्ति की गई थी, जिसको लेकर हंगामा शुरू हो गया था। विद्यालय प्रबंध समिति और पीटीए से चयनित भोजन माता को हटाकार एससी वर्ग की भोजन माता की नियुक्‍त‍ि से विद्यालय प्रबंध समिति और अभिभावक आमने-सामने आ गए थे। शनिवार को सामान्य वर्ग के बच्चों ने एससी वर्ग की भोजन माता के हाथ से बना भोजन करने से इनकार भी कर दिया था, जिसके बाद सीईओ ने उप खंड शिक्षा अधिकारी को मामले की जांच के आदेश दे दिए थे।