सी.पी.एम.टी की कोचिंग के लिए आया था लखनऊ...सीएम धामी को उत्तराखंड महोत्सव में याद आए पुराने दिन

उत्तराखण्ड महोत्सव का रंगा-रंग कार्यक्रमों के साथ  समापन हो गया। समारोह के मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दीप प्रज्जवलित कर सांस्कृतिक सध्या का उद्घाटन किया। मुख्य अतिथि ने भारत माता की जय से अपना उद्बोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि महोत्सव के सफल आयोजन के लिए बधाई देता हूं।
 
CM Dhami remembered the old days in Uttarakhand festival
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी- उत्तराखंड महोत्सव

लखनऊ। उत्तराखण्ड महोत्सव का रंगा-रंग कार्यक्रमों के साथ शुक्रवार को समापन हो गया। समारोह के मुख्य अतिथि उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने दीप प्रज्जवलित कर सांस्कृतिक सध्या का उद्घाटन किया। मुख्य अतिथि ने भारत माता की जय से अपना उद्बोधन शुरू किया। उन्होंने कहा कि महोत्सव के सफल आयोजन के लिए बधाई देता हूं।

धामी ने बताया कि मैं विद्यार्थी के रूप में 15-16 वर्ष की आयु में लखनऊ सी.पी.एम.टी. की कोचिंग के लिए आया था। बहुत सी यहां की यादे हैं। लखनऊ विश्वविद्यालय में भी प्रवेश मिल गया। वहाँ से संघ तथा भारतीय विद्यार्थी परिसद के सम्पर्क में आया। उन्होंने आगे बताया कि हमारी पार्टी का सिद्धान्त है राष्ट्र प्रथम, पार्टी द्वितीय तथा व्यक्ति तृतीय। मुझे उत्तराखण्ड की सेवा का भार दिया है। हमने तथा हमारी सरकार ने मंत्री मण्डल ने चार सौ फैसले लिये है। हर मीटिंग में लगभग 50 फैसले लेते है। हमारी सरकार ने अन्दोलनकारियों की पेंशन बढ़ायी। चाहे आंगनबाड़ी हो या आशा वर्कर हो, सभी का मानदेय सबका बढ़ा है। प्रत्येक ग्राम-सभा में नौजवानों के लिए सैनिक अथवा अर्द्ध सैनिक या अन्यत्र तैयारी के लिए एक जिम खोला जायेगा। कोविड के कारण लोगो की आर्थिक स्थिति कमजोर हुई है। हमने सारे भर्ती परीक्षा फार्म एक वर्ष के लिए निःशुल्क कर दिया है।

लखनऊ सीपीएमटी की कोंचिग करने आया थाः पुष्कर सिंह धामी

उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को धन्यवाद किया। कहा कि प्रधानमंत्री ने कैदारनाथ में आदि शंकराचार्य की मूर्ति का लोकार्पण किया है। बद्रीनाथ का 250 करोड़ का मास्टर प्लान बन रहा है। मुख्य अतिथि ने बताया कि योगी जी से मुलाकात हुई। आज का दिन स्वर्ण अक्षरों में लिखा जायेगा। 21वीं वर्ष से उ.प्र. उत्तराखण्ड में बंटवारा नहीं हो पाया था। आज सारे मामलों का बंटवारा हो गया है । जो मामले बचे है, उनका भी 15 दिवस में बटवारा हो जायेगा। जो न्यायालय में हैं वह केसेस वापस लेकर आपसी सहमति से निपटा लिये जायेंगे। उ.प्र. हमारा बड़ा भाई है।

उन्होंनें उत्तराखण्ड भवन के द्वितीय तल पर स्व. मोहन सिंह बिष्ट सभागार में मंच निर्माण, स्टूडियो, डेकोरेशन, साउण्ड एण्ड लाइट सिस्टम सहित आदि कार्य के लिए 21 लाख देने की घोषणा की ।महोत्सव में प्रतिभाग करने वाले कलाकार को दो-दो हजार रूपए देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि लखनऊ के गोमती नगर स्थित उत्तराखण्ड भवन में हम ऐसी व्यवस्था बनायेंगे कि उत्तराखण्ड का कार्य लखनऊ से ही हो जायेगा। उत्तराखण्ड को देश का नम्बर एक राज्य बनाना चाहते है। मुख्य सेवक के रूप में कार्य कर रहा हूँ। यह हम सबकी उत्तराखण्ड को नम्बर एक बनाने की सामुहिक यात्रा होगी।

मुख्यमंत्री, उत्तराखण्ड ने नृत्यागंना कामना बिष्ट को नृत्य निर्देश व महेन्द्र गैलाकोटी को संगीत निर्देशन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने के लिए सम्मानित किया। राम कुमार सिंह, प्रधान सम्पादक-दस्तक टाइम्स एवं भुवन तिवारी, उपाध्यक्ष,उत्तराखण्ड महापरिषद को विशिष्ट अतिथि सांसद रीताबहुगुणा जोशी ने सम्मानित किया। महापरिषद के अध्यक्ष हरीश चन्द्र पंत ने अतिथियों का आभार जताते हुए कहा कि इसका उद्घाटन मुख्यमंत्री, उ.प्र. ने किया था।

महोत्सव में आयोजित छोटे बच्चों की एकल नृत्य प्रतियोगिता में 15 प्रतियोगियो ने भाग लिया। प्रतियोगिता में प्रथम-आद्या बिष्ट, द्वितीय-प्रतिष्ठा सिंह, तृतीय-धर्मेन्द्र आर्य रहे । निर्णायक मण्डल में विद्या सिंह तथा सुनीता कनवाल थीं।

मीडिया प्रभारी राजेन्द्र सिंह कनवाल ने बताया कि अल्मोड़ा से आये छोलिया दल ने अपने वाद्य यंत्रों व युद्ध कौशल नृत्य से महोत्सव में दसों दिन धूम मचाया। उत्तराखण्ड के पारम्परिक परिधान से सजी संवरी महिलाओं के बीच झोड़े नृत्य की प्रतियोगिता हुई। कुर्मांचल नगर समूह की रेनू काण्डापाल, पंतनगर की हेमा डोलिया एवं सुधा चन्दौला, कल्याणपु की हेमा बिष्ट, तेलीबाग के राजेन्द्र सिंह बिष्ट व विमला धामी के बीच फाइनल मुकाबला हुआ। हर एक झोड़ा ग्रुप ने अपनी दमदार प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता में प्रथम-कुर्मांचनगर, द्वितीय कल्याणपुर, तृतीय-रामलीला समिति तेलीबाग रहा। सांत्वना पुरस्कार-पंतनगर ग्रुप को मिला। पंत नगर सांस्कृतिक समिति के उत्तराखण्डी कार्यक्रम खूब सराहे गये । पिंकी नौटियाल ने सुन्दर कार्यक्रम देकर दर्शको का मन मोहा।