'बुली बाई' ऐप केस: मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों की नीलामी के मामले उत्तराखंड में दूसरी गिरफ्तारी, कोटद्वार में युवक गिरफ्तार

बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस  में मुंबई पुलिस ने उत्तराखंड के पौड़ी जिले के कोटद्वार पहुंचकर मंगलवार देर रात एक युवक को गिरफ्तार किया है। कोटद्वार के नींबूचौड़ इलाके से युवक की गिरफ्तारी हुई है।
 
crime 1 arrest.jpg
Bulli Bai App case

देहरादून। ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस  में मुंबई पुलिस ने उत्तराखंड के पौड़ी जिले के कोटद्वार पहुंचकर मंगलवार देर रात एक युवक को गिरफ्तार किया है। कोटद्वार के नींबूचौड़ इलाके से युवक की गिरफ्तारी हुई है। बताया जा रहा है कि आरोपी युवक दिल्ली के एक कॉलेज में पढ़ता है। 20 साल के इस युवक का नाम मयंक रावत है।पुलिस के मुताबिक,जम्मू में तैनात सैन्य कर्मी का बेटा ऐप मामले में आरोपी है।

Bulli bai app case update who is mastermind uttarakhand girl arrested by  mumbai police - Bulli Bai App Case: 'मास्टरमाइंड' निकली उत्तराखंड की लड़की  कौन है? कैसे पकड़ी गई? – News18 हिंदी

युवक की गिरफ्तारी के साथ ही ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस  में उत्तराखंड में यह दूसरी गिरफ्तारी है। आरोपी युवक जाकिर हुसैन कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय में बीएससी की पढ़ाई कर रहा है और ऑनलाइन क्लासेज की वजह से वह अपने घर कोटद्वार आया हुआ था। आरोपी से पूछताछ कर पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है। आपको बता दें कि 'बुलीबाई' ऐप मामले में मुंबई पुलिस साइबर सेल ने बेंगलुरु के एक 21 वर्षीय युवक को गिरफ्तार करने के बाद मुख्य आरोपी एक महिला काे मंगलवार को उधमसिंहनगर जिले से भी गिरफ्तार किया था। 

जानकारी के अनुसार, दोनों आरोपी एक दूसरे को पहले से ही जानते थे। पुलिस सूत्रों का कहना है कि  ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस में गिरफ्तारी के बाद अब उत्तराखंड पुलिस भी अलर्ट मोड पर आ गई है। पौड़ी जिले के एसएसपी यशवंत सिंह ने युवक की गिरफ्तारी पर मुहर लगाते हुए बताया कि मुंबई पुलिस ने कोटद्वार में युवक की गिरफ्तारी की है।बताया कि मोबाइल की लोकेशन को ट्रेस करते हुए मंबई पुलिस कोटद्वार पहुंची थी। युवक पर आरोप हैं कि वह ‘ऐप’ के लिंक शेयर करता था। मुंबई पुलिस युवक को कोर्ट में पेश कर ट्रांसिट रिमांड की तैयारी में जुटी हुई है।

इसस पहले मंगलवार को उत्तराखंड में महाराष्ट्र पुलिस ने ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस में 18 वर्षीय एक युवती को रुद्रपुर से गिरफ्तार किया था। यह युवती मामले में मुख्य आरोपी बताई जा रही है। आरोपी युवती पर ऐप के माध्यम से चर्चित मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर अपलोड कर नीलामी करने का आरोप है। महाराष्ट्र पुलिस ने युवती को कोर्ट में पेश कर पांच दिन के रिमांड पर लिया है। एसपी सिटी रुद्रपुर  ममता बोहरा ने बताया कि इस मामले में बेंगलुरु के इंजीनियरिंग के एक छात्र की गिरफ्तारी के बाद महाराष्ट्र पुलिस की एक टीम मंगलवार को रुद्रपुर पहुंची थी।

स्थानीय पुलिस को जानकारी देने के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने ‘बुली बाई’ ऐप (Bulli Bai App) केस में रुद्रपुर आदर्श कॉलोनी वार्ड-14 की रहने वाली युवती श्वेता सिंह के आवास पर दबिश देकर उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी युवती से पुलिस ने दो मोबाइल बरामद किए। युवती को रिमांड पर लेने के बाद गोपनीय स्थान पर रखा है और बुधवार सुबह महाराष्ट्र ले जाने की तैयारी है। बीती एक जनवरी को आरोपी युवती और बुली बाई ऐप ग्रुप (Bulli Bai App Group) के सदस्यों ने मुस्लिम महिलाओं की तस्वीर नीलामी के लिए पोस्ट की थी। इससे महाराष्ट्र में सांप्रदायिक तनाव की स्थिति बन गई थी और पुलिस ने आरोपियों की धरपकड़ की कार्रवाई शुरू की। महाराष्ट्र पुलिस के मुताबिक, मामले की मुख्य आरोपी यह युवती ‘बुली बाई’ ऐप से जुड़े तीन सोशल मीडिया अकाउंट हैंडल कर रही थी। 

क्या है Bulli Bai App

बुली बाई ऐप (Bulli Bai App) एक ऐसा एप्लिकेशन है जो Github एपीआई पर होस्ट किया जाता है और 'Sulli Deal' ऐप के समान काम करता है। ऐप मुस्लिम महिलाओं को सोशल मीडिया पर लोगों के लिए 'सौदे' के रूप में पेश करता है। जबकि बुल्ली बाई के ट्विटर हैंडल को निलंबित कर दिया गया है, इसके बायो में लिखा था, 'बुली बाई खालसा सिख फोर्स (KSF) द्वारा एक समुदाय द्वारा संचालित ओपन-सोर्स ऐप है। हाल की घटना में, सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों का दुरुपयोग किया गया और 1 जनवरी को 'बुली बाई' के नाम से गिटहब का उपयोग करके एक ऐप पर एक अज्ञात समूह द्वारा अपलोड किया गया। पता चला, बुल्ली बाई ऐप के पीछे के लोग खालिस्तानी आंदोलन के स्वघोषित समर्थक हैं, और गिरफ्तार खालिस्तानी आतंकवादियों की रिहाई की मांग करते हैं। ऐप को URL Bullibai.github.io पर होस्ट किया गया था। हालांकि लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर ऐप को शेयर करने के बाद अब इसे हटा दिया गया है। ऐप से जुड़े एक ट्विटर अकाउंट को भी सस्पेंड कर दिया गया है।