Connect with us

उत्तराखंड

उत्तराखंड में कोरोना के 5 नए केस, राज्य में 151 हुई संक्रमितों की संख्या

Published

on

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना मरीजों के मिलने का सिलसिला लगातार जारी है। शुक्रवार को प्रदेश में कोरोना के पांच और नए मरीज मिले हैं। इसी के साथ राज्य में  कोरोना संक्रमितों की संख्या 146 से बढ़कर 151 हो गई है।

आज यहां मिले नए मरीज

आज राजधानी देहरादून में तीन और उधम सिंह नगर जिले में दो लोगों में कोरोना के संक्रमण की पुष्टि हुई है। अब विभाग इन पांच संक्रमितों के संपर्क में आए लोगों की तलाश में जुट गया है।

प्रदेश में कुल 94 ऐक्टिव केस

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, प्रदेश में कुल 94 ऐक्टिव केस हैं। जबकि 56 लोग पूरी तरह से स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं, जिसमें से आज दो स्वस्थ हो चुके संक्रमितों को भी डिस्चार्ज किया गया है।

1319 सैंपलों को जांच के लिए भेजा

प्रदेश में 13 हजार से ज्यादा लोग क्वारंटाइन में हैं। जबकि आज 1007 लोगों के कोरोना सैंपल की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग ने आज 1319 सैंपलों को जांच के लिए भेजा है।

उत्तराखंड

उत्तराखंड: कोरोना संक्रमित की मौत पर आश्रित को मिलेंगे एक लाख

Published

on

By

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित की मौत पर उसके आश्रित को एक लाख रुपये की सहायतर राशि दी जाएगी। यह बात मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कही।

मुख्यमंत्री ने कन्टेनमेंट जोन में गाइडलाइन का कड़ाई से पालन करवाए जाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि कन्टेनमेंट जोन के बाहर भी फिज़िकल डिस्टेंसिंग, मॉस्क की अनिवार्यता के लिए लोगों को लगातार जागरूक किया जाए। जो लोग इनका पालन न करें, उन पर सख्त कार्रवाई हो। इसके लिए फील्ड सर्विलांस पर विशेष ध्यान दिया जाए।

होम क्वारंटाइन मानकों के अनुरूप हो

वीडियो कांफ्रेंसिग द्वारा प्रदेश में कोरोना महामारी की स्थिति की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि क्वारंटाइन सेंटरो में आवश्यक सुविधाओ की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। होम क्वारंटाइन का मानकों के अनुरूप पालन हो रहा है या नहीं, इस पर लगातार चेकिंग भी की जाए। आकस्मिक निरीक्षण किए जाएं। गांवों में क्वारंटाइन सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाए। इसके लिए ग्राम प्रधानों को निर्देशानुसार धनराशि दी जाए। कोविड केयर सेंटर में प्रशिक्षित स्टाफ व अन्य आवश्यक उपकरणों की व्यवस्था हो।

शनिवार व रविवार को देहरादून में होगा सेनेटाइजेशन

मुख्यमंत्री ने कहा कि शनिवार व रविवार दो दिन देहरादून में पूरी तरह से बंद कर सेनेटाइजेशन करवाया जाएगा। कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए देहरादून की निरंजनपुर सब्जी मंडी को बंद कर वैकल्पिक व्यवस्था कर ली जाए। राशन की कालाबाजारी की शिकायत नहीं आनी चाहिए। इसमें लिप्त लोगों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। हर जरूरतमंद तक राशन पहुंचना चाहिए।

Continue Reading

उत्तराखंड

उत्तराखंड में नहीं थम रहा कोरोना का कहर, 60 नए केस, मरीजों की तादाद 1145 पहुंची

Published

on

By

देहरादून। उत्तराखंड में कोरोना का कहर थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी हेल्थ बुलटेन के मुताबिक गुरुवार दोपहर तक राज्य में कोरोना के 60 नए मामले सामने आए हैं। इसी साथ ही प्रदेशभर में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या 1145 हो गई है।

देहरादून में मिले 35 केस

सबसे ज्यादा 35 मरीज राजधानी देहरादून में मिले हैं। जबकि, टिहरी और नैनीताल जिले में 10-10 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है। पौड़ी जिले में चार और उत्तरकाशी जिले में एक मरीज में कोरोना वायरस मिला है।

जिलेवार कोरोना के केस

देहरादून -258
नैनीताल -308
टिहरी -101
उधमसिंह नगर -83
हरिद्वार -86
पौड़ी -42
अल्मोड़ा -63
पिथौरागढ़ -28
चमोली -25
उत्तरकाशी -22
बागेश्वर -21
चंपावत- 33
रुद्रप्रयाग -08
प्राइवेट लैब- 67
कुल –    1145

Continue Reading

उत्तराखंड

उत्तराखंड: दिल्ली,लखनऊ समेत देश के 75 शहरों से आने पर 21 दिन क्वारंटाइन

Published

on

By

देहरादून। दिल्ली, मुंबई और लखनऊ जैसे 75 कोरोना संवेदनशील शहरों से उत्तराखंड आने वाले यात्रियों को अब सात दिन सरकारी क्वारंटाइन और 14 दिन होम क्वारंटाइन पर अनिवार्य रहना पड़ेगा। राज्य सरकार ने कोविड-19 पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी है।

मुख्य सचिव उत्पल कुमार ने सचिवालय मीडिया सेंटर में पत्रकारों से बातचीत में ये जानकारी दी। मुख्य सचिव ने बताया कि इन देश के हाई लोड वाले 75 शहरों से आने वालों को लेकर सरकार ने ये अहम निर्णय लिया। किसी भी तरह से प्रदेश में आने वाले ऐसे लोगों के लिए ये व्यवस्था होगी। जिसके तहत उन्हें सरकारी या पेड क्वारंटाइन का विकल्प मिलेगा। यानी कोई पैसे देकर होटल में भी सात दिन रह सकता है। नहीं तो सरकार की ओर से बनाये गए मुफ्त क्वारंटाइन में रह सकता है। इस दौरान यदि कोई लक्षण नहीं मिलते तो फिर 14 दिन होम क्वारंटाइन में भेज दिया जाएगा।

सैंपल वाले 10 दिन रहेंगे

मुख्य सचिव के अनुसार इन शहरों से आने वालों में से जिसके सैंपल लिए जाएंगे उसे 10 दिन तक इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन में रखा जाएगा। अगर रिपोर्ट आ गयी तो उसी के आधार पर घर या अस्पताल भेजा जाएगा। अगर रिपोर्ट 10 दिन तक नहीं आई और कोई लक्षण नहीं दिखे तो उनको 14 दिन होम क्वारंटाइन किया जाएगा।

सभी को रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य

मुख्य सचिव उत्पल ने बताया कि किसी भी राज्य से आने वाले को रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। प्रदेश में भी एक जिले से दूसरे जिले में जाने वालों के लिए रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है, जबकि रेड जोन से जाने वालों को पास लेना होगा।

इन शहरों से आने वालों के लिए होगा नियम

लखनऊ, चेन्नई, हैदराबाद, तिरुवल्लुर, कोलकाता, इंदौर, चेंगलपट्टु, साउथ ईस्ट दिल्ली, मध्य दिल्ली, उत्तरी दिल्ली, दक्षिणी दिल्ली, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली, पश्चिम दिल्ली, शाहदरा, पूर्वी दिल्ली, नई दिल्ली, उत्तर पश्चिम दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा, आनंद, बनासकांठा, पंचमहल, भावनग, गांधीनगर, अरावली, मुंबई, पुणे, ठाणे, नासिक, पालघर, नागपुर, सोलापुर, यवतमाल, औरंगाबाद, सतारा, धुले, अकोला, जलगांव, मुंबई उपनगर, आगरा, सहारनपुर, कानपुर नगर, मुरादाबाद, फिरोजाबाद, गौतम बुद्ध नगर (नोएडा और ग्रेटर नोएडा), बुलंदशहर, मेरठ, रायबरेली, वाराणसी (बनारस), बिजनौर, अमरोहा, संत कबीर नगर, अलीगढ़, मुजफ्फरनगर, रामपुर, मथुरा, बरेली, अजमेर, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, चित्तौड़गढ़, डूंगरपुर, जयपुर, जालोर, जोधपुर, कोटा, नागौर, पाली, राजसमंद सवाई माधोपुर, सीकर, सिरोही और उदयपुर।

Continue Reading

Trending