बुजुर्गों के साथ योगी सरकार,राशन-पानी हो या दवाई सबाक करेगी इंतजाम

उत्तर प्रदेश के 55 लाख 77 हजार बुज़ुर्गजनों को उनकी तीन माह की वृद्धावस्था पेंशन की राशि एकमुश्त मिल गई है।
 
Yogi Sarkar with elders
योगी सरकार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के 55 लाख 77 हजार बुज़ुर्गजनों को उनकी तीन माह की वृद्धावस्था पेंशन की राशि एकमुश्त मिल गई है। गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वृद्धावस्था पेंशन के लिए पात्र इन वरिष्ठ नागरिकों के बैंक खाते में ₹836.55 करोड़ डिजिटली ट्रांसफर किए। इसमें 04 लाख 56 हजार ऐसे भी बुजुर्ग शामिल हैं, जो पहली बार पेंशन की राशि मिली। 

मुख्यमंत्री आवास पर आयोजित कार्यक्रम में सीएम योगी ने कहा कि वृद्धजन के पास अनुभवों की थाती है। यह हमारे मार्गदर्शक हैं। केंद्र और राज्य सरकार हर एक वृद्ध के जीवन और आजीविका का प्रबंध करने के लिए सेवाभाव के साथ काम कर रही है। बुजुर्गों को राशन-पानी की जरूरत हो अथवा बीमारी के समय इलाज और दवाइयों की, सब कुछ मुफ्त में मुहैया कराया जा रहा है। यही नहीं, बुजुर्गों के लिए खासतौर से एल्डर हेल्पलाइन 14567 जारी किया गया है, जहां 24×7 कोई भी वरिष्ठ नागरिक सम्पर्क कर मदद ले सकता है। वर्चुअल माध्यम से विभिन्न जिलों के वृद्धावस्था पेंशन लाभार्थियों से बात करते हुए सीएम ने सभी की सेहत का हालचाल भी पूछा और जिलाधिकारियों को हर जरूरतमंद को आयुष्मान भारत अथवा मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ मुहैया कराने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारों में बुज़ुर्गजन उपेक्षित थे। कोई उनकी ओर ध्यान नहीं देता था लेकिन आज वृद्धजनों के सुखमय जीवन के लिए अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना के बीच जीवन के साथ-साथ लोगों की आजीविका सुरक्षित रखने के प्रयास भी हुए। आज हर गरीब परिवार के हर सदस्य को प्रतिमाह 05 किलोग्राम राशन मुफ्त मिल रहा है। उन्होंने कहा कि बीते चार साल में 30 लाख नए बुजुर्ग वृद्धावस्था पेंशन योजना से जुड़ सके हैं। सीएम ने कहा कि सरकार की कल्याणकारी योजना का लाभ हर एक गरीब को, हर एक किसान को, हर एक बुजुर्ग को, हर एक निराश्रित महिला को प्राप्त हो यही सरकार की मंशा है। और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसी अभियान के क्रम में इन सभी योजनाओं के लिए मुक्त हस्त से सही लोगों के लिए समय समय पर लाभ की इन योजनाओं को जारी भी किया है। यह सब सरकार की प्रतिबद्धता का प्रमाण है।

इससे पहले, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री ने विभागीय गतिविधियों का संक्षिप्त ब्यौरा पेश किया, जबकि कार्यक्रम में आभार ज्ञापन विभागीय राज्य मंत्री डॉ. जीएस धर्मेश ने किया। 

"अब हाथ पसारे के जरूरत नाहीं"
वृद्धावस्था पेंशन की तीन माह की क़िस्त एक साथ पाने वाले बुजुर्गजनों ने अपनी टूटी-फूटी हिंदी और देशज भाषा में सीएम का आभार भी जताया। महराजगंज के प्रह्लाद ने बताया कि इस बार पहला मौका है कि जब उन्हें पेंशन मिल रहा है, तो हाथरस की शान्ति देवी से जब सीएम ने पूछा कि पैसों का क्या करेंगी तो शांति ने सन्तोषभाव के साथ कहा कि अब पैसा मिल गया है तो किसी के आगे हाथ नहीं फैलाना पड़ेगा। सोनभद्र की बसंती ने दवाई-सुई के बंदोबस्त के लिए सीएम का आभार जताया तो सुल्तानपुर के मनीराम ने मुफ्त राशन और पेंशन के लिए धन्यवाद दिया।