Connect with us

उत्तर प्रदेश

मायावती और अखिलेश की तर्ज पर योगी सरकार बनवाएगी पार्क

Published

on

लखनऊ। सियासत के नाम पर हर कोई राजनीति करता है। कभी धर्म पर तो कभी जाति पर। इस मामले में भाजपा भी किसी पार्टी से पीछे नहीं है। बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की राह पर अब सूबे की भाजपा सरकार भी चल पड़ी है। सभी पार्टिया अपने-अपने महापुरुषों की यादगार में राजधानी लखनऊ में पार्कों को बनाने की पहल कर रहे हैं, लेकिन सबसे अच्छी बात यह है कि इससे राजधानी की आबोहवा सुधर रही है और लोगों को सुबह-सुबह शुद्ध प्राण-वायु मिल रही है।

इनके नाम की हो गई घोषणा

अंबेडकर पार्क, लोहिया पार्क और जनेश्वर मिश्र पार्क के बाद अब राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल पार्क निर्माण की घोषणा भाजपा ने की है। इस पार्क में पार्टी की विचारधारा से मेल खाने वाले महापुरुषों की प्रतिमाओं को लगाने के साथ ही ‘फूलों की घाटीÓ बटरफ्लाई गार्डन और फलों का बाग विकसित करने की तैयारी है।

ये बनवाए पार्क

इससे न सिर्फ शहर की आबोहवा बेहतर होगी, बल्कि राजधानी में घूमने आने वालों के लिए विकल्प और बढ़ जाएंगे। आपको बता दे कि सपा सरकार में राममनोहर लोहिया और जनेश्वर मिश्र के नाम पर खूबसूरत बनवाये गये, वहीं बसपा सरकार ने अपने कार्यकाल में दलित चिंतकों, समाज सुधारकों, दलित चेतना के नायकों को समर्पित कई स्थल विकसित किये।

इनकी प्रतिमाएं लगवाई जाएंगी

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार भारतीय जनता पार्टी की विचारधारा से मेल खाने वाले शख्सियतों को केंद्र में रखकर लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल विकसित करने जा रही है। यहां डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, पंडित दीनदयाल उपाध्याय, सरदार वल्लभ भाई पटेल और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की प्रतिमाएं लगवाई जाएंगी।

शासन को भेज दिया प्रस्ताव

साथ ही इस स्थल पर एक लाख से ज्यादा लोगों की क्षमता वाला जनसभा केंद्र भी विकसित किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, प्रेरणा स्थल के लिए वसंतकुंज योजना में प्रस्तावित ‘सिटी फॉरेस्ट’ या फिर उसकी जमीन के एक हिस्से को इस्तेमाल किया जाएगा। लखनऊ विकास प्राधिकरण ने शासन को इसका प्रस्ताव भेज दिया है। प्रेरणा स्थल के लिए सिटी फॉरेस्ट के किसी एक हिस्से का इस्तेमाल किया जाएगा या पूरी जमीन का, इसका फैसला मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करेंगे। http://kanvkanv.com

Trending