Connect with us

उत्तर प्रदेश

वसीम रिज़वी को सांस लेने में तकलीफ, अस्पताल में भर्ती

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में मुसलमानों को कोरोना के प्रति जागरुक कर रहे उप्र शिया सेंट्रल वक़्फ़ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिज़वी की तबियत बिगड़ गयी है। वसीम रिजवी को सांस लेने में तकलीफ होने पर चरक अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उनके सैम्पल लेकर जांच के लिए केजीएमयू भेजा गया है।

वसीम रिजवी की हालत बिगड़ने की सूचना मिलते ही तमाम समर्थकों का चरक अस्पताल पर पहुंचना हुआ है। जिन्हें चिकित्सकों ने वापस कर दिया है। रिजवी के पास केवल उनके परिवार के दो लोगों को ही रहने के लिए कहा गया है। वहीं रिजवी की तबियत और ज्यादा बिगड़ने पर उसे रेफर भी किया जा सकता है।

READ  पति को छोड़ की थी शादी, पति बनाने लगा पुत्री से संबंध, हत्या में तीन गिरफ्तार
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

उत्तर प्रदेश

लखनऊ के 18 जमाती अभी भी दिल्ली में, पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

Published

on

By

लखनऊ। लखनऊ से दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जमात में शामिल होने गए 18 जमाती अभी भी दिल्ली में हीं है। जांच के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। इन 18 लोगों में कुछ लोगों से लखनऊ पुलिस की बातचीत भी हुई है, वे सभी एक साथ दिल्ली में है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था नवीन अरोड़ा ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में हुई जमात में शामिल होने गए 18 जमाती में पांच जमाती अपने साथ पत्नियों को भी ले गए थे। मतलब दिल्ली गये लोगों की कुल संख्या 23 है। ये सभी एक साथ दिल्ली में ही क्वांटाइन हो रहे हैं।

यह जानकारी कुछ जमातियों के फोन पर बातचीत में लखनऊ पुलिस को हुई है। जमातियों के ज्यादातर फोन नम्बर लखनऊ में बैठे परिजन के ही थे। कुछ नम्बर ही जमातियों ने अपने दिए थे जिससे यह जानकारी निकल सकी है।गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में जमात का आयोजन हुआ, जिसमें लखनऊ समेत पूरे देश से जमातियों का जुटना हुआ था।

READ  शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी का विवादित बयान, कहा-प्रियंका गांधी बहुत खूबसूरत हैं, उनको मैं...
Continue Reading

उत्तर प्रदेश

गोंडा गोलीकांड: सपा नेताओं की हत्या के मामले में थानाध्यक्ष निलंबित

Published

on

By

कार्रवाई

-मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपी गिरफ्तार ,हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद

-दो पक्षों के विवाद के बाद शुक्रवार को हुई थी फायरिंग

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा )के दो नेताओं की हत्या के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। इस मामले में उमरी बेगमगंज के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने वारदात में शामिल मुख्य आरोपी अतुल सिंह समेत सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने आला-ए-कत्ल बरामद किया गया है।

मामला उमरी बेगम थाना क्षेत्र के परास पट्टी मझवार गांव का है। जहां शुक्रवार की देर शाम पुरानी रंजिश को लेकर हुए विवाद में हुई फायिरंग में देवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ लाठी सिंह (55 वर्ष) पुत्र शिव बहादुर सिंह, विजय कुमार सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह, चन्द्र मोहन यादव पुत्र बल राम, देवेंद्र सिंह पुत्र राम बहादुर, रानू सिंह पुत्र उमेश सिंह, अतुल सिंह पुत्र कालिका, कन्हैया पुत्र जगदम्बा पाठक को गोली लगी थी। सभी को घायल अवस्था में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर शुऐब ने देवेंद्र प्रताप और कन्हैया को मृत घोषित कर दिया था।

पप्पू सिंह उर्फ परास ने बताया कि ग्राम के प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध में मनरेगा पैसा को लेकर शिकायत की गई थी। उसी की जांच ग्राम में आई थी। जांच की जानकारी होने पर टीम के सामने बयान देने गए थे। तभी ताबड़तोड़ कई गोली चलाई गईं। जिसमें सात लोगों को गोली लग गई। बाद में दो लोगों की मौत हो गई।

READ  शिया वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी का विवादित बयान, कहा-प्रियंका गांधी बहुत खूबसूरत हैं, उनको मैं...

डीआईजी राकेश सिंह ने बताया की इस घटना में मुख्य अभियुक्त अतुल सिंह समेत सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ रासुका लगाने की तैयारी की जा रही है। साथ ही लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष उमरी बेगमगंज को निलंबित कर दिया गया है। एसओजी प्रभारी रहे अतुल चतुर्वेदी को नया थाना अध्यक्ष बनाया गया है।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के दौरान जनपद में हुई इस घटना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधे संज्ञान में लेते हुए डीएम व एसपी को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में इस दिन भी खुले रहेंगे बैंक, सरकार ने रद्द की छुट्टियां

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 6 अप्रैल और 10 अप्रैल को बैंक खुले रहेंगे। महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के मौके पर बैंकों में छुट्टी होती थी, लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं होगा। उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती 6 अप्रैल और गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को सभी बैंक खुले रहेंगे। दोनों दिन बैंक में प्रतिदिन की तरह ही कामकाज होगा।

लॉकडाउन के कारण राज्य सरकार DBT  के माध्यम से किसानों और गरीबों को उनके बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर रही है। यही कारण है कि राज्य के सभी बैंकों के 6 अप्रैल और 10 अप्रैल के घोषित अवकाश को निरस्त कर दिया गया हैं।

बताते चलें कि यूपी सरकार राज्य के अलग-अलग वर्ग के जरूरतमंदों को पैसे ट्रांसफर कर रही है। इसमें बुजुर्ग, महिला और गरीब वर्ग के लोग शामिल है। वित्त मंत्रालय ने ये अपील की इस बीच महिला जन-धन खाताधारकों से राहत राशि की निकासी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की समयसारिणी का पालन करने की अपील की है।

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बैंकों में भीड़ लगाने से बचा जाना चाहिए। चेक करें छुट्टियों की लिस्ट वित्त सेवा सचिव देवाशीष पांडा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महिला जन-धन खाताधारकों से अपील की जाती है कि वे अपने खाता संख्या के आखिरी अंक को देख लें और उसके आधार पर आईबीए की समयसारिणी का अनुसरण करें। पैसों की निकासी किसी भी एटीएम से भी की जा सकती है।

एटीएम से इस निकासी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। आपस में दूरी का पालन करें और कोरोना वायरस से लड़ें।  कैसे मिलेगा महिलाओं को पैसा? आईबीए की तय समयसारिणी के हिसाब से जिन महिला जन-धन खाताधारकों की खाता संख्या का आखिरी अंक शून्य या एक है, उनके खाते में तीन अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे। जिनकी खाता संख्या का आखिरी अंक दो या तीन है, उन्हें चार अप्रैल को पैसे मिलेंगे। इसी तरह चार या पांच आखिरी अंक वाले सात अप्रैल को, छह या सात अंक वाले आठ अप्रैल को तथा आठ या नौ अंक वाले नौ अप्रैल को पैसे निकाल सकेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित तीन किस्तों की ये पहली किस्त है।

READ  अयोध्या : प्रियंका गांधी पर अभद्र टिप्पणी के लिये शिया वक्फ़ बोर्ड के चैयरमैन वसीम रिजवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज
Continue Reading

Trending