Uttarakhand Election 2022: चुनाव से ठीक पहले कृषि कानून वापसी का ऐलान, इन सीटों पर किसान कर सकते हैं बड़ा उलटफेर

उत्तराखंड आगमी विधान चुनाव से पहले तीनों कृषि कानून को केंद्र सरकार ने वापस लेने का ऐलान कर दिया है.जिससे किसान संगठन बेहद खुश हैं। आपको बता दे उत्तराखंड में भी कुछ सीटें ऐसी हैं, जहां पर मतदाता के रूप में किसान बड़ा उलटफेर कर सकते हैं। हरिद्वार जिले की बात करें तो यहां की नौ विधानसभा सीटों को किसान सीधे तौर पर प्रभावित करते हैं। 

 
uk
Uttarakhand Election 2022: चुनाव से ठीक पहले कृषि कानून वापसी का ऐलान, इन सीटों पर किसान कर सकते हैं बड़ा उलटफेर

उत्तराखंड आगमी विधान चुनाव से पहले तीनों कृषि कानून को केंद्र सरकार ने वापस लेने का ऐलान कर दिया है.जिससे किसान संगठन बेहद खुश हैं। आपको बता दे उत्तराखंड में भी कुछ सीटें ऐसी हैं, जहां पर मतदाता के रूप में किसान बड़ा उलटफेर कर सकते हैं। हरिद्वार जिले की बात करें तो यहां की नौ विधानसभा सीटों को किसान सीधे तौर पर प्रभावित करते हैं। 

कृषि कानूनों को लेकर इन क्षेत्रों में सबसे ज्यादा धरना-प्रदर्शन देखने को मिला है। मंगलौर और कलियर विधानसभा से जुड़े किसान तो दिल्ली के आंदोलन में भी सक्रिय भूमिका निभाते रहे हैं। हरिद्वार जिले में 94 हजार हेक्टेयर भूमि पर खेती होती है। यहां एक लाख 28 हजार किसान खेती करते हैं। जिले में मुख्य रूप से गन्ना, गेहूं, धान सब्जियां और बागवानी की खेती होती है। 16 हजार खेतिहर मजदूर भी हैं, जो कि किसानों से जुड़े हुए हैं। विधानसभा के हिसाब से देखा जाए तो मंगलौर, झबरेड़ा, भगवानपुर, कलियर, ज्वालापुर, खानपुर, लक्सर, रानीपुर और हरिद्वार ग्रामीण में किसान वोट बैंक ठीक संख्या में है।