Connect with us

उत्तर प्रदेश

सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी : रैगिंग के दोषी छात्रों को बचाने में लगा कॉलेज प्रशासन 

Published

on

इटावा। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के गांव सैफई में स्थित मेडिकल यूनिवर्सिटी में रैगिंग के दोषी छात्रों को बचाने में कॉलेज प्रशासन लगा है क्योंकि अब तक यूनिवर्सिटी की तरफ से थाना पुलिस को किसी तरह की कोई तहरीर नहीं दी गयी है।
यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. राजकुमार ने एमसीआई और शासन के दवाब के बाद रैगिंग में दोषी पाए गए सात छात्रों के खिलाफ एंटी रैगिंग एक्ट के तहत कानूनी कार्यवाही के लिए मुकदमा दर्ज करवाने की बात कही थी।उक्त मामले में यूनिवर्सिटी के डीन डॉ. पी.के. जैन ने तीन दिन पूर्व प्रेसवार्ता करके दोषी छात्रों को तीन महीने के लिए निलम्बित करने, उनसे अर्थदंड वसूलने और सैफई थाना में मुकदमा लिखवाये जाने की बात कही थी लेकिन आज तक दोषी छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने के लिये थाना पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी गयी है। इस मामले में सीओ सैफई मस्सा सिंह ने बताया कि यूनिवर्सिटी में रैगिंग की घटना में दोषी पाए गए छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए पुलिस को अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है।
सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में सीनियर छात्रों द्वारा जूनियर छात्रों की रैगिंग करने का मामला सामने आया था।पहले तो यूनिवर्सिटी प्रशासन ने जांच में इस तरह की कोई घटना घटने से इनकार किया था लेकिन मेडिकल काउन्सिल ऑफ इण्डिया ने जब यूनिवर्सिटी को नोटिस भेजकर कठोर कार्यवाही करने की चेतवानी दी तब यूनिवर्सिटी ने आनन-फानन में प्रेसवार्ता में रैगिंग की बात को स्वीकारते हुए जांच में सात सीनियर छात्रों को दोषी बताया था। https://kanvkanv.com

Trending