2 जनवरी को पीएम मोदी यूपी को देंगे मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की सौगात

नए साल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश को बड़ी सौगात देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 जनवरी को मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखेंगे। दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में खेलों को बढ़ावा देने के लिए यूनिवर्सिटी की स्थापना की घोषणा की थी।
 
Ganga Expressway - Prime Minister Narendra Modi
मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी-पीएम मोदी

लखनऊ। नए साल पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश को बड़ी सौगात देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 जनवरी को मेरठ में मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी की आधारशिला रखेंगे। दरअसल मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में खेलों को बढ़ावा देने के लिए यूनिवर्सिटी की स्थापना की घोषणा की थी। 
सरकार के प्रवक्ता के अनुसार, “मेजर ध्यानचंद स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी युवाओं को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर उत्कृष्ट प्रदर्शन देने में मददगार साबित होगी। यहां सभी तरह के खेलों का प्रशिक्षण दिया जाएगा साथ ही राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में प्रदर्शन के आधार पर डिग्री भी दी जाएगी।”

“यूनिवर्सिटी खेल पाठ्यक्रमों में बीए और डिप्लोमा, प्रमाणपत्र, स्नातकोत्तर, एम.फिल और पीएचडी डिग्री प्रदान करेगा। इसमें सिर्फ 540 पुरुष और 540 महिला उम्मीदवार ही भर्ती हो सकेंगे।” यूनिवर्सिटी लगभग 91 एकड़ के क्षेत्र में बनेगी। इसमें एक इनडोर स्टेडियम, स्केटिंग रिंक, सिंथेटिक हॉकी मैदान, ओलंपिक मानकों का एक स्विमिंग पूल, फुटबॉल मैदान, वॉलीबॉल कोर्ट, बास्केटबॉल कोर्ट, हैंडबॉल, कबड्डी मैदान, टेनिस कोर्ट, व्यायामशाला के लिए हॉल होगा।

प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने गृह विभाग से खिलाड़ियों को पुलिस में नौकरी देने की नीति बनाने को कहा है। खिलाड़ियों के लिए आहार राशि भी 250 रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 375 रुपये कर दी गई है। विभिन्न खेलों के लिए 50 अंतर्राष्ट्रीय स्तर के प्रशिक्षकों की नियुक्ति के निर्देश जारी किए गए हैं, ताकि खेल विभाग में 266 रिक्त पदों पर जल्द से जल्द नियुक्ति की जाए।

प्रवक्ता ने कहा, “सरकार राज्य के ग्रामीण इलाकों में खेलों को बढ़ावा देने के लिए ग्रामीण स्टेडियम और ओपन जिम का भी निर्माण करेगी। निजी संस्थानों की मदद से खेल अकादमियों को विकसित करने की नीति भी लागू की गई है ताकि खिलाड़ियों को बेहतर प्रशिक्षण प्रदान किया जा सके।”