सांसद वरूण गांधी ने योगी सरकार पर बोला हमला, रात में कर्फ्यू लगाना और दिन में रैलियों में लाखों लोगों को बुलाना...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरूण लगातार अपनी ही केन्द्र और राज्य सरकार पर हमला बोल रहे हैं। अब वरूण गांधी ने यूपी में लगाए गए नाइट कर्फ्यू पर सवाल उठाते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है। भाजपा सांसद वरुण गांधी ने सोमवार को लखनऊ में दिन में भीड़भाड़ वाली रैली करने और रात में कर्फ्यू लगाने के लिए यूपी सरकार की खिंचाई की।  उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मांमलो के बीच इस तरह की रैलियां कर यूपी सरकार ओमिक्रॉन को रोकने के बजाय चुनाव को प्राथमिकता दे रही है।

 
UP
सांसद वरूण गांधी ने योगी सरकार पर बोला हमला, रात में कर्फ्यू लगाना और दिन में रैलियों में लाखों लोगों को बुलाना...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरूण लगातार अपनी ही केन्द्र और राज्य सरकार पर हमला बोल रहे हैं। अब वरूण गांधी ने यूपी में लगाए गए नाइट कर्फ्यू पर सवाल उठाते हुए योगी सरकार पर निशाना साधा है। भाजपा सांसद वरुण गांधी ने सोमवार को लखनऊ में दिन में भीड़भाड़ वाली रैली करने और रात में कर्फ्यू लगाने के लिए यूपी सरकार की खिंचाई की।  उन्होंने कहा कि ओमिक्रॉन के बढ़ते मांमलो के बीच इस तरह की रैलियां कर यूपी सरकार ओमिक्रॉन को रोकने के बजाय चुनाव को प्राथमिकता दे रही है।

बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने ट्वीट कर लिखा, रात में कर्फ्यू लगाना और दिन में रैलियों में लाखों लोगों को बुलाना – यह सामान्य जनमानस की समझ से परे है। उत्तर प्रदेश की सीमित स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के मद्देनजर हमें इमानदारी से यह तय करना पड़ेगा कि हमारी प्राथमिकता भयावह ओमीक्रोन के प्रसार को रोकना है अथवा चुनावी शक्ति प्रदर्शन।

बता दें, कोरोना के नए वैरिएंट बेहद तेजी से फैल रहा है। जिससे कोरोना के तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। ऐसे में कोरोना के हालातों से निपटने के लिए कई राज्यों में नाईट कर्फ्यू लगाया गया है। इसी कड़ी में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी यूपी में नाइट कर्फ्यू की घोषणा करते हुए कोविड नियमों पर पाबंदी बढ़ा दी है। 

हालांकि, यूपी चुनाव के कारण राजनेता दिन में हर रोज हजारों लाखों लोगों को बुलाकर रैलियां कर रहे हैं। इस भीड़ में कोरोना प्रोटोकॉल की धज्जियां उड़ रही हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कोई नजर नहीं आता। वहीं, जनता तो जनता नेता भी मास्क में नजर नहीं आ रहे हैं।