सामने आई ताजा रिपोर्ट: लखीमपुर खीरी हिंसा में आशीष मिश्रा के असलहे से हुई थी फायरिंग

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर हुआ बड़ा खुलासा हुआ है। 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य दौरे का किसानों का एक गुट विरोध कर रहा था। वहीं कुछ वाहनों ने विरोध कर रहे किसानों को कुचल दिया। जिसमें चार किसानों की मौके पर मौत हो गई। जबकि इसके बाद किसानों ने चार अन्य लोगों को पीट पीट कर मार डाला था।
 
 
लखीमपुर
सामने आई ताजा रिपोर्ट:  लखीमपुर खीरी हिंसा में आशीष मिश्रा के असलहे से हुई थी  फायरिंग
 

लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा को लेकर हुआ बड़ा खुलासा हुआ है। 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया में उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य दौरे का किसानों का एक गुट विरोध कर रहा था। वहीं कुछ वाहनों ने विरोध कर रहे किसानों को कुचल दिया। जिसमें चार किसानों की मौके पर मौत हो गई। जबकि इसके बाद किसानों ने चार अन्य लोगों को पीट पीट कर मार डाला था।
 
लखीमपुर खीरी हिंसा को लेकर पुलिस टीम लखनऊ गई और निशानदेही पर एक रिपीटर गन और एक पिस्टल बरामद किए है।  पुलिस ने अंकित दास की रिपीटर गन, पिस्टल और आशीष मिश्रा की राइफल और रिवॉल्वर को जब्त किया था और चारों असलहों की एफएसएल रिपोर्ट मांगी गई थी। राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा और उसके करीबी अंकित दास के असलहे फायरिंग  की  पुष्टि हुई है। उपद्रव के दौरान आशीष मिश्रा की राइफल व रिवॉल्वर और अंकित दास की रिपीटर गन व पिस्टल से फायरिंग की गई थी। आशीष तथा अंकित इस समय लखीमपुर खीरी जिला जेल मे बंद हैं। । एएसपी अरुण कुमार सिंह ने बताया कि मामले से जुड़े जिन साक्ष्यों को जांच के लिए लैब भेजा गया था

15 नवंबर को कोर्ट में अहम सुनवाई
लखीमपुर खीरी कांड की विवेचना तेजी से आगे बढ़ रही है। केस में 15 नवंबर को जिला जज की अदालत में मामले के मुख्य आरोपित आशीष मिश्र मोनू समेत तीन अन्य आरोपितों की जमानत अर्जी पर सुनवाई होगी। इसके साथ ही कोर्ट ने लखीमपुर खीरी कांड में दर्ज दोनों मुकदमों की संपूर्ण केस डायरी भी 15 नवंबर को तलब की है। इसको लेकर मामले की जांच कर रही एसआईटी केस डायरी बनाने में जुटी हुई है। लखीमपुर खीरी कांड में अब तक एसआईटी की ओर से 92 गवाहों के बयान भी मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराए जा चुके हैं