अवैध धर्मान्तरण केस: ईडी करेगी मौलाना कलीम के ट्रस्ट से जुड़े खातों की जांच

अवैध धर्मान्तरण केस में गिरफ्तार आरोपी 64 वर्षीय मौलाना कलीम सिद्दीकी के वलीउल्ला ट्रस्ट से जुड़े खातों की अब ईडी जांच करने वाली है।
 
Maulana Kaleem Siddiqui arrested
अवैध धर्मान्तरण केस


लखनऊ। अवैध धर्मान्तरण केस में गिरफ्तार आरोपी 64 वर्षीय मौलाना कलीम सिद्दीकी के वलीउल्ला ट्रस्ट से जुड़े खातों की अब ईडी जांच करने वाली है। बताया जा रहा है कि ईडी करोड़ों के लेनदेन की जांच करेगी, क्योंकि एटीएस की जांच में करीब 20 करोड़ रुपये के संदिग्ध लेनदेन का खुलासा हुआ था। फिलहाल, मौलाना कलीम एटीएस की रिमांड पर है।

20 करोड़ की फंडिंग की बात आई थी सामने
गौरतलब है कि मौलाना कलीम सिद्दीकी से पूछताछ की गई थी, जिसमें विदेश फंडिंग से लेकर हवाला नेटवर्क से जुड़े कई राज का पर्दाफाश हुआ था। कलीम ने जो जानकारी दी थी, उस आधार पर एटीएस ने छानबीन कर तीन और सक्रिय सहयोगियों को गिरफ्त में लिया था। उसी दौरान यह बात सामने आई थी कि कलीम की संस्था जामिया ईमाम वलीउल्ला ट्रस्ट के खाते में अब तक 20 करोड़ रुपये से ज्यादा की फंडिंग हुई थी। बाकी खातों की जांच की जिम्मेदारी अब ईडी ने ली है।
 
अभी होगी और भी गिरफ्तारियां
वहीं, एटीएस जांच में यह भी पता चला था कि एक मदरसे का संचालन अवैध मतांतरण के लिए किया जाता था. अब जांच आगे बढ़ने पर जल्दी ही कलीम के अन्य सहयोगी भी गिरफ्तार हो सकते हैं.

अब तक 14 आरोपी पकड़े गए
जानकारी के अनुसार, मौलाना कलीम के सहयोगी मुजफ्फरनगर के खतौली निवासी मु.इदरीस कुरैशी, मुजफ्फरनगर के ग्राम फुलत निवासी मु.सलीम व नासिक निवासी कुणाल अशोक चौधरी उर्फ आतिफ को गिरफ्तार कर लिया गया था. पता चला था कि तीनों अवैध मतांतरण के सिंडिकेट से जुड़े हैं, इतना ही नहीं, यह लोग विदेश से हवाला के जरिये फंडिंग भी लेते थे. बता दें, अवैध मतांतरण मामले में एटीएस मौलाना उमर गौतम और मौलाना कलीम को मिलाकर कुल 14 आरोपी गिरफ्तार किए जा चुके हैं.