Connect with us

उत्तर प्रदेश

उप्र में कोरोना के चार और नए मरीज मिले, संख्या बढ़कर 42 पहुंची

Published

on

लखनऊ। कोरोना वायरस के मद्देनजर लॉकडाउन को लेकर जहां जनता से लगातार इसका पालन करने की अपील की जा रही है और सरकार आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई सुनिश्चत करने में लगी है। वहीं इसके मरीजों की संख्या में भी इजाफा हो रहा है।

प्रदेश में गुरुवार को चार नये लोगों में इस वायरस की पुष्टि हुई। इनमें तीन नोएडा से जबकि एक बागपत जनपद का है। इसके साथ ही राज्य में कोरोना वायरस से ग्रसित मरीजों की संख्या 48 पहुंच गई है।

राजधानी में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के आइसोलेशन वार्ड के प्रभारी डॉ. सुधीर सिंह ने बताया कि नोएडा में एक 21 वर्षीय युवती और दूसरी 33 वर्षीय महिला कोरोना वायरस पॉजिटिव पाई गई है, साथ ही एक 39 वर्षीय पुरुष भी मिला है। सभी नोएडा अस्पताल में भर्ती है। बागपत में भर्ती युवक दुबई से आया था, जिसकी उम्र 32 वर्ष है।

इससे पहले बुधवार को भी एक युवक में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई थी। पीलीभीत जनपद में अमरिया ब्लॉक स्थित हररायपुर गांव निवासी 45 वर्षीय महिला सऊदी अरब से उमरा कर 20 मार्च को लौटी थी। स्क्रीनिंग में महिला को संदिग्ध पाते हुए पीलीभीत के जिला अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था, जिसके बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। बुधवार को महिला के 33 वर्षीय बेटे की रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई थी।

वहीं प्रमुख सचिव स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण अमित मोहन प्रसाद के मुताबिक 11 लोग विसंक्रमित होकर घर जा चुके हैं। शेष अन्य लोगों की हालत स्थिर है। किसी के साथ कोई समस्या नहीं आई है। तीन-चार मरीजों के फाइनल टेस्ट होने वाले हैं। हो सकता है कि उन्हें जल्द ही डिस्चार्ज कर दिया जाए।

READ  युवती से दरिंदगी : युवक करता रहा बलात्कार, साथी बनाता रहा वीडियो, चार हिरासत में

राज्य संक्रामक रोग निदेशालय के संयुक्त निदेशक डॉ. विकासेंदु अग्रवाल के मुताबिक बुधवार को कोरोना वायरस के संदिग्ध लक्षणों वाले 73 लोगों को विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया। कुल 1830 नमूने जांच के लिए विभिन्न लैब में भेजे गए हैं। इनमें से 1707 की रिपोर्ट निगेटिव आई है, 85 नमूनों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। नेपाल-भारत सीमा पर भी 15.46 लाख से अधिक लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। नोवेल कोरोना वायरस से प्रभावित चीन से आए लगभग 28406 लोग डब्लूएचओ और जिलों की टीम की निगरानी में हैं। चीन यात्रा से आने वाले 24336 यात्रियों ने अपना 28 दिन का क्ववारंटीन का समय पूरा कर लिया है।

उत्तर प्रदेश

लखनऊ के 18 जमाती अभी भी दिल्ली में, पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

Published

on

By

लखनऊ। लखनऊ से दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जमात में शामिल होने गए 18 जमाती अभी भी दिल्ली में हीं है। जांच के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। इन 18 लोगों में कुछ लोगों से लखनऊ पुलिस की बातचीत भी हुई है, वे सभी एक साथ दिल्ली में है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था नवीन अरोड़ा ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में हुई जमात में शामिल होने गए 18 जमाती में पांच जमाती अपने साथ पत्नियों को भी ले गए थे। मतलब दिल्ली गये लोगों की कुल संख्या 23 है। ये सभी एक साथ दिल्ली में ही क्वांटाइन हो रहे हैं।

यह जानकारी कुछ जमातियों के फोन पर बातचीत में लखनऊ पुलिस को हुई है। जमातियों के ज्यादातर फोन नम्बर लखनऊ में बैठे परिजन के ही थे। कुछ नम्बर ही जमातियों ने अपने दिए थे जिससे यह जानकारी निकल सकी है।गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में जमात का आयोजन हुआ, जिसमें लखनऊ समेत पूरे देश से जमातियों का जुटना हुआ था।

READ  आईजी से भिड़े योगी के विधायक, खबर में देखें एेसे हुई गरमा-गरमी
Continue Reading

उत्तर प्रदेश

गोंडा गोलीकांड: सपा नेताओं की हत्या के मामले में थानाध्यक्ष निलंबित

Published

on

By

कार्रवाई

-मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपी गिरफ्तार ,हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद

-दो पक्षों के विवाद के बाद शुक्रवार को हुई थी फायरिंग

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा )के दो नेताओं की हत्या के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। इस मामले में उमरी बेगमगंज के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने वारदात में शामिल मुख्य आरोपी अतुल सिंह समेत सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने आला-ए-कत्ल बरामद किया गया है।

मामला उमरी बेगम थाना क्षेत्र के परास पट्टी मझवार गांव का है। जहां शुक्रवार की देर शाम पुरानी रंजिश को लेकर हुए विवाद में हुई फायिरंग में देवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ लाठी सिंह (55 वर्ष) पुत्र शिव बहादुर सिंह, विजय कुमार सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह, चन्द्र मोहन यादव पुत्र बल राम, देवेंद्र सिंह पुत्र राम बहादुर, रानू सिंह पुत्र उमेश सिंह, अतुल सिंह पुत्र कालिका, कन्हैया पुत्र जगदम्बा पाठक को गोली लगी थी। सभी को घायल अवस्था में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर शुऐब ने देवेंद्र प्रताप और कन्हैया को मृत घोषित कर दिया था।

पप्पू सिंह उर्फ परास ने बताया कि ग्राम के प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध में मनरेगा पैसा को लेकर शिकायत की गई थी। उसी की जांच ग्राम में आई थी। जांच की जानकारी होने पर टीम के सामने बयान देने गए थे। तभी ताबड़तोड़ कई गोली चलाई गईं। जिसमें सात लोगों को गोली लग गई। बाद में दो लोगों की मौत हो गई।

READ  कश्मीर में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच भीषण मुठभेड़, एक जवान शहीद, चार आतंकी ढेर

डीआईजी राकेश सिंह ने बताया की इस घटना में मुख्य अभियुक्त अतुल सिंह समेत सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ रासुका लगाने की तैयारी की जा रही है। साथ ही लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष उमरी बेगमगंज को निलंबित कर दिया गया है। एसओजी प्रभारी रहे अतुल चतुर्वेदी को नया थाना अध्यक्ष बनाया गया है।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के दौरान जनपद में हुई इस घटना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधे संज्ञान में लेते हुए डीएम व एसपी को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में इस दिन भी खुले रहेंगे बैंक, सरकार ने रद्द की छुट्टियां

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 6 अप्रैल और 10 अप्रैल को बैंक खुले रहेंगे। महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के मौके पर बैंकों में छुट्टी होती थी, लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं होगा। उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती 6 अप्रैल और गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को सभी बैंक खुले रहेंगे। दोनों दिन बैंक में प्रतिदिन की तरह ही कामकाज होगा।

लॉकडाउन के कारण राज्य सरकार DBT  के माध्यम से किसानों और गरीबों को उनके बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर रही है। यही कारण है कि राज्य के सभी बैंकों के 6 अप्रैल और 10 अप्रैल के घोषित अवकाश को निरस्त कर दिया गया हैं।

बताते चलें कि यूपी सरकार राज्य के अलग-अलग वर्ग के जरूरतमंदों को पैसे ट्रांसफर कर रही है। इसमें बुजुर्ग, महिला और गरीब वर्ग के लोग शामिल है। वित्त मंत्रालय ने ये अपील की इस बीच महिला जन-धन खाताधारकों से राहत राशि की निकासी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की समयसारिणी का पालन करने की अपील की है।

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बैंकों में भीड़ लगाने से बचा जाना चाहिए। चेक करें छुट्टियों की लिस्ट वित्त सेवा सचिव देवाशीष पांडा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महिला जन-धन खाताधारकों से अपील की जाती है कि वे अपने खाता संख्या के आखिरी अंक को देख लें और उसके आधार पर आईबीए की समयसारिणी का अनुसरण करें। पैसों की निकासी किसी भी एटीएम से भी की जा सकती है।

एटीएम से इस निकासी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। आपस में दूरी का पालन करें और कोरोना वायरस से लड़ें।  कैसे मिलेगा महिलाओं को पैसा? आईबीए की तय समयसारिणी के हिसाब से जिन महिला जन-धन खाताधारकों की खाता संख्या का आखिरी अंक शून्य या एक है, उनके खाते में तीन अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे। जिनकी खाता संख्या का आखिरी अंक दो या तीन है, उन्हें चार अप्रैल को पैसे मिलेंगे। इसी तरह चार या पांच आखिरी अंक वाले सात अप्रैल को, छह या सात अंक वाले आठ अप्रैल को तथा आठ या नौ अंक वाले नौ अप्रैल को पैसे निकाल सकेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित तीन किस्तों की ये पहली किस्त है।

READ  पुष्पेन्द्र यादव एनकाउंटर : शिवपाल और अखिलेश की आपसी विवाद का नतीजा है राजनीतिकरण
Continue Reading

Trending