Connect with us

उत्तर प्रदेश

लॉकडाउन से ना हों परेशान ,योगी सरकार घर घर पहुंचाएगी आवश्यक वस्तुएं

Published

on

सीएम योगी बोले

आवश्यक वस्तुएं घर-घर पहुंचायेंगे, बाहर न निकलें लोग

देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन को प्रदेशवासियों से सफल बनाने की अपील

लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे देश में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन घोषित होने को लेकर प्रदेशवासियों को सभी जरूरी सेवाएं सुविधाजनक तरीके से पहुंचाने का आश्वासन दिया है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश की 23 करोड़ जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि हमने पहले से ही इस बात की तैयारी कर ली है कि सब्जी, दूध, आवश्यक वस्तुएं, दवाओं आदि का पर्याप्त भंडार हमारे पास प्रदेश में मौजूद है। हम दूध, सब्जी, आवश्यक वस्तुओं को घर-घर पहुंचाना प्रारंभ करेंगे। आपसे अपील है, सब्जी लेने के लिए आप सब्जी मंडी, दूध खरीदने तथा आवश्यक सामान खरीदने के लिए आप किसी दुकान पर न जाएं। जब प्रशासन आपसे कहेगा, तब आप वहां जाएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि घरों तक सब्जी, दूध, फल, दवा की व्यवस्था अथवा अन्य सभी आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिए हमने 10,000 वाहन चिन्हित कर लिए हैं। इनमें 4,500 पुलिस की पीआरवी हैं, लगभग 4,200 के आस-पास हमारे पास 102 और 108 की एम्बुलेंस हैं। इसके अलावा प्रशासन, खाद्य और रसद विभाग के वाहनों का उपयोग करते हुए हम इस व्यवस्था को सुनिश्चित करने जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि अपने परिवार और अपने बच्चों के भविष्य के लिए लोग घर से बाहर न निकलें। अपने-अपने घरों में रहें। ‘सोशल डिस्टेंसिंग’ का ध्यान रखें। सैनिटाइजिंग की पूरी व्यवस्था करें, साफ-सफाई की पूरी व्यवस्था रखें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के प्रत्येक व्यक्ति की सुरक्षा, उनके उत्तम स्वास्थ्य और सुविधा की पूरी जिम्मेदारी हमारी है। हम इसका पूरी तरह से निर्वहन कर रहे हैं। आपके एवं देश और प्रदेश के उत्तम स्वास्थ्य के लिए यह कदम उठाए जा रहे हैं।

READ  लखनऊ में उपद्रवियों के पोस्टर लगाने पर हाईकोर्ट सख्त,पुलिस कमिश्नर और डीएम तलब

उत्तर प्रदेश

लखनऊ के 18 जमाती अभी भी दिल्ली में, पुलिस की जांच में हुआ खुलासा

Published

on

By

लखनऊ। लखनऊ से दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में जमात में शामिल होने गए 18 जमाती अभी भी दिल्ली में हीं है। जांच के बाद इस बात का खुलासा हुआ है। इन 18 लोगों में कुछ लोगों से लखनऊ पुलिस की बातचीत भी हुई है, वे सभी एक साथ दिल्ली में है।

संयुक्त पुलिस आयुक्त कानून व्यवस्था नवीन अरोड़ा ने एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि दिल्ली के निजामुद्दीन में हुई जमात में शामिल होने गए 18 जमाती में पांच जमाती अपने साथ पत्नियों को भी ले गए थे। मतलब दिल्ली गये लोगों की कुल संख्या 23 है। ये सभी एक साथ दिल्ली में ही क्वांटाइन हो रहे हैं।

यह जानकारी कुछ जमातियों के फोन पर बातचीत में लखनऊ पुलिस को हुई है। जमातियों के ज्यादातर फोन नम्बर लखनऊ में बैठे परिजन के ही थे। कुछ नम्बर ही जमातियों ने अपने दिए थे जिससे यह जानकारी निकल सकी है।गौरतलब है कि दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में जमात का आयोजन हुआ, जिसमें लखनऊ समेत पूरे देश से जमातियों का जुटना हुआ था।

READ  अर्धकुंभ से पहले लखनऊ में हो रहा है 'युवा कुंभ', CM योगी बोले-राम मंदिर हम ही बनाएंगे, दूसरा नहीं
Continue Reading

उत्तर प्रदेश

गोंडा गोलीकांड: सपा नेताओं की हत्या के मामले में थानाध्यक्ष निलंबित

Published

on

By

कार्रवाई

-मुख्य आरोपी समेत सभी आरोपी गिरफ्तार ,हत्या में इस्तेमाल हथियार बरामद

-दो पक्षों के विवाद के बाद शुक्रवार को हुई थी फायरिंग

गोण्डा। उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में समाजवादी पार्टी (सपा )के दो नेताओं की हत्या के मामले में बड़ी कार्रवाई की गई है। इस मामले में उमरी बेगमगंज के थानाध्यक्ष को निलंबित कर दिया गया है। पुलिस ने वारदात में शामिल मुख्य आरोपी अतुल सिंह समेत सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। उनकी निशानदेही पर पुलिस ने आला-ए-कत्ल बरामद किया गया है।

मामला उमरी बेगम थाना क्षेत्र के परास पट्टी मझवार गांव का है। जहां शुक्रवार की देर शाम पुरानी रंजिश को लेकर हुए विवाद में हुई फायिरंग में देवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ लाठी सिंह (55 वर्ष) पुत्र शिव बहादुर सिंह, विजय कुमार सिंह पुत्र शिव बहादुर सिंह, चन्द्र मोहन यादव पुत्र बल राम, देवेंद्र सिंह पुत्र राम बहादुर, रानू सिंह पुत्र उमेश सिंह, अतुल सिंह पुत्र कालिका, कन्हैया पुत्र जगदम्बा पाठक को गोली लगी थी। सभी को घायल अवस्था में इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया। जिला अस्पताल के चिकित्सक डॉक्टर शुऐब ने देवेंद्र प्रताप और कन्हैया को मृत घोषित कर दिया था।

पप्पू सिंह उर्फ परास ने बताया कि ग्राम के प्रधान और जिला पंचायत सदस्य के विरुद्ध में मनरेगा पैसा को लेकर शिकायत की गई थी। उसी की जांच ग्राम में आई थी। जांच की जानकारी होने पर टीम के सामने बयान देने गए थे। तभी ताबड़तोड़ कई गोली चलाई गईं। जिसमें सात लोगों को गोली लग गई। बाद में दो लोगों की मौत हो गई।

READ  अखिलेश यादव बोले, प्रदेश सरकार बांटे “समाजवादी राहत पैकेट” चाहे तो नाम बदल दे

डीआईजी राकेश सिंह ने बताया की इस घटना में मुख्य अभियुक्त अतुल सिंह समेत सभी अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इन सभी के खिलाफ रासुका लगाने की तैयारी की जा रही है। साथ ही लापरवाही बरतने पर थानाध्यक्ष उमरी बेगमगंज को निलंबित कर दिया गया है। एसओजी प्रभारी रहे अतुल चतुर्वेदी को नया थाना अध्यक्ष बनाया गया है।

गौरतलब है कि लॉक डाउन के दौरान जनपद में हुई इस घटना को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सीधे संज्ञान में लेते हुए डीएम व एसपी को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

Continue Reading

उत्तर प्रदेश

उत्तर प्रदेश में इस दिन भी खुले रहेंगे बैंक, सरकार ने रद्द की छुट्टियां

Published

on

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में 6 अप्रैल और 10 अप्रैल को बैंक खुले रहेंगे। महावीर जयंती और गुड फ्राइडे के मौके पर बैंकों में छुट्टी होती थी, लेकिन इस बार उत्तर प्रदेश में ऐसा नहीं होगा। उत्तर प्रदेश में महावीर जयंती 6 अप्रैल और गुड फ्राइडे 10 अप्रैल को सभी बैंक खुले रहेंगे। दोनों दिन बैंक में प्रतिदिन की तरह ही कामकाज होगा।

लॉकडाउन के कारण राज्य सरकार DBT  के माध्यम से किसानों और गरीबों को उनके बैंक खाते में पैसे ट्रांसफर कर रही है। यही कारण है कि राज्य के सभी बैंकों के 6 अप्रैल और 10 अप्रैल के घोषित अवकाश को निरस्त कर दिया गया हैं।

बताते चलें कि यूपी सरकार राज्य के अलग-अलग वर्ग के जरूरतमंदों को पैसे ट्रांसफर कर रही है। इसमें बुजुर्ग, महिला और गरीब वर्ग के लोग शामिल है। वित्त मंत्रालय ने ये अपील की इस बीच महिला जन-धन खाताधारकों से राहत राशि की निकासी के लिए इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) की समयसारिणी का पालन करने की अपील की है।

मंत्रालय ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए बैंकों में भीड़ लगाने से बचा जाना चाहिए। चेक करें छुट्टियों की लिस्ट वित्त सेवा सचिव देवाशीष पांडा ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘महिला जन-धन खाताधारकों से अपील की जाती है कि वे अपने खाता संख्या के आखिरी अंक को देख लें और उसके आधार पर आईबीए की समयसारिणी का अनुसरण करें। पैसों की निकासी किसी भी एटीएम से भी की जा सकती है।

एटीएम से इस निकासी पर कोई शुल्क नहीं लगेगा। आपस में दूरी का पालन करें और कोरोना वायरस से लड़ें।  कैसे मिलेगा महिलाओं को पैसा? आईबीए की तय समयसारिणी के हिसाब से जिन महिला जन-धन खाताधारकों की खाता संख्या का आखिरी अंक शून्य या एक है, उनके खाते में तीन अप्रैल को पैसे डाले जाएंगे। जिनकी खाता संख्या का आखिरी अंक दो या तीन है, उन्हें चार अप्रैल को पैसे मिलेंगे। इसी तरह चार या पांच आखिरी अंक वाले सात अप्रैल को, छह या सात अंक वाले आठ अप्रैल को तथा आठ या नौ अंक वाले नौ अप्रैल को पैसे निकाल सकेंगे। बता दें कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत घोषित तीन किस्तों की ये पहली किस्त है।

READ  सुजीत पांडे लखनऊ तो आलोक सिंह गौतमबुद्धनगर के पहले पुलिस कमिश्नर होंगे
Continue Reading

Trending