बरेली: कोरोना काल में तैयार किया एक अनोखा आधुनिक झूलता हुआ गार्डन, 2 सालों में 50 लाख का कारोबार

बरेली. कोरोना काल मे पिछले 2 सालों में बहुत कुछ देखने को मिला, तमाम लोगों की नौकरियां चली गई तो तमाम लोग इस दुनिया से चल बसे। लेकिन बरेली के आर बी सिंह ने कोरोना काल में एक अनोखा आधुनिक झूलता हुआ गार्डन तैयार किया है। जिसमे ऑर्गेनिक खेती के जरिये हर तरह की सब्जियां होती है। 250 गज के घर मे 15 हजार पौधों के जरिये शुद्ध पेस्टीसाइड मुक्त सब्जियां इस घर मे लगी हुई हैं। जब लोगो के रोजगार जा रहे थे तब आरबी सिंह ने इस ऑर्गेनिक खेती के जरिये पिछले 2 सालों में 50 लाख कारोबार अपने घर और खेती में होनी वाली ऑर्गेनिक चीजो के जरिये कमाया। तो आइये जानते है क्या है ये अनोखा तरीका जिससे कम जगह में भी आप अच्छा रोजगार कर सकते है। 

 
bbb
बरेली: कोरोना काल में तैयार किया एक अनोखा आधुनिक झूलता हुआ गार्डन, 2 सालों में 50 लाख का कारोबार

बरेली. कोरोना काल मे पिछले 2 सालों में बहुत कुछ देखने को मिला, तमाम लोगों की नौकरियां चली गई तो तमाम लोग इस दुनिया से चल बसे। लेकिन बरेली के आर बी सिंह ने कोरोना काल में एक अनोखा आधुनिक झूलता हुआ गार्डन तैयार किया है। जिसमे ऑर्गेनिक खेती के जरिये हर तरह की सब्जियां होती है। 250 गज के घर मे 15 हजार पौधों के जरिये शुद्ध पेस्टीसाइड मुक्त सब्जियां इस घर मे लगी हुई हैं। जब लोगो के रोजगार जा रहे थे तब आरबी सिंह ने इस ऑर्गेनिक खेती के जरिये पिछले 2 सालों में 50 लाख कारोबार अपने घर और खेती में होनी वाली ऑर्गेनिक चीजो के जरिये कमाया। तो आइये जानते है क्या है ये अनोखा तरीका जिससे कम जगह में भी आप अच्छा रोजगार कर सकते है। 

ये है बेबी लॉन के झूलते हुए बगीचों की वो नजारा जो तस्वीरों, खंडहरों और इतिहास के अतीत के पन्नों में सिमटकर रह गया है। हांलाकि बेबी लॉन के झूलते हुए बगीचों की आज भी दुनिया के सात  पुराने अजूबों में गिनती होती है। विज्ञान के इस युग में आप बेबी लॉन के झूलते हुए बगीचों जैसे नजारे दुनिया के कई मुल्कों में देख सकते हैं। दूर मत जाइये आप यूपी के बरेली के इस घर को ही ले लीजिए जिसे बेबी लॉन के झूलते हुए बगीचों की तर्ज पर ही डवलप किया गया है।

आर बी सिंह पिछले 2 सालों से इस काम मे लगे हुए है अपनी बहुमंजिला इमारत पर आर बी सिंह फल,फूल और सब्जियां उगा रहे है। आर बी सिंह इस तरह की फार्मिंग कर ज़हरीले पेस्टीसाइज मुक्त सब्जी तो खा रहे हैं साथ ही सब्जी और फलों की सेल कर मुनाफा भी कमा रहे हैं। सवाल उठता है आखिर इस तरह की फार्मिंग को क्या कहा जाता है और इस तरह की फार्मिंग करने के फायदे क्या हैं और ये फार्मिंग कैसे की जाती है आपके मन में ये सवाल भी उठ रहे होंगे। आपके हर सवाल का जवाब मिलेगा आप शुरू से आखीर तक इस खबर को देखते रहिए। दोस्तों इस तह की फार्मिंग को हाइड्रोपोनिक फारमिंग कहा जाता है। हाइड्रोपोनिक ग्रीक शब्द है , जिसका मतलब है बिना मिट्टी के सिर्फ पानी के जरिए खेती। यह एक आधुनिक खेती है, जिसमें पानी का इस्तेमाल करते हुए जलवायु को नियंत्रित करके खेती की जाती है।